शिक्षकों की शराब कबाब पार्टी की हो रहीं जमकर चर्चाएं!

 

गणतंत्र दिवस पर हुई थी पार्टी, दिये गये जाँच के निर्देश!

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। केवलारी विकास खण्ड के बनाथर ग्राम के सरकारी स्कूल में गणतंत्र दिवस जैसे राष्ट्रीय पर्व पर शराब और मुर्गा पार्टी के वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहे हैं। अनेक समाचार चैनल्स में यह खबर प्रमुखता से दिखायी जा रही है।

जिलाधिकारी कार्यालय के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इस मामले की शिकायत जिलाधिकारी प्रवीण सिंह के पास भी पहुँची हैं। उनके द्वारा इस मामले की जाँच के आदेश जिला शिक्षा अधिकारी गोपाल सिंह बघेल को दे दिये हैं। जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा इसकी जाँच के लिये दो सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया गया है।

जिला शिक्षा अधिकारी जी.एस. बघेल ने बताया कि शासकीय प्राथमिक व माध्यमिक शाला बनाथर के परिसर में गणतंत्र दिवस पर्व पर शिक्षकों द्वारा शराब एवं मुर्गा पार्टी का आयोजन किये जाने के संबंध में कलेक्टर को ग्रामीणों व पालक शिक्षक संघ द्वारा लिखित शिकायत की गयी। शिकायत प्राप्त होने पर कलेक्टर के द्वारा यह प्रकरण समय सीमा में निराकरण के लिये बैठक में लाया गया, जिस पर जाँच कराने के निर्देश दिये गये हैं।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों से प्राप्त शिकायत के अनुसार एक सहायक शिक्षक, दो महिला रसोइया एवं एक पुरूष रसोइया ने राष्ट्रीय पर्व में शाला भवन के अंदर शराब का सेवन किया था। इसके उपरांत शाला में कुछ बच्चों को मध्यान्ह भोजन परोसा गया, कुछ बच्चे इससे भी वंचित हो गये। ग्रामीणों का कहना है कि आये दिन बच्चे बताते हैं कि शाला में भर पेट भोजन नहीं परोसा जाता, रसोइये डिब्बे में भोजन रखकर अपने – अपने घर ले जाते हैं। पालक शिक्षक संघ द्वारा इस संबंध में जानकारी लेने पर रसोइये दुर्व्यवहार करते हैं।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने पालक शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र पंचेश्वर को एक लिखित पत्र सौंपा था, तब पंचेश्वर ने इस संबंध में प्रभारी प्रधान पाठक ज्ञानीराम सैयाम को भी इस संबंध में जानकारी दी थी। इनके द्वारा गंभीरता नहीं दिखाये जाने पर ग्रामीणों ने कलेक्टर के समक्ष उपस्थित होकर उक्त शिकायती पत्र सौंपा।

जाँच करने जायेगी कमेटी : उन्होंने बताया कि समय सीमा बैठक का पत्र प्राप्त होने पर दो सदस्यीय जाँच कमेटी बनायी गयी है। इसमें सिवनी बीईओ पी.एन. वारेश्वा एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रूमाल के शिक्षक राजेश बिसेन को जाँच करने के लिये निर्देशित किया गया है।

उन्होंने कहा कि प्रकरण कलेक्टर द्वारा समय सीमा की श्रेणी में रखा गया है। इसलिये आवेदन में उल्लेखित तथ्यों की सूक्ष्मता से जाँच शिकायत कर्त्ताओं की उपस्थिति में की जाकर जाँच प्रतिवेदन 03 दिवस में प्रस्तुत किया जायेगा। इस कार्य को सर्वाेच्च प्राथमिकता से करने को कहा गया है, क्योंकि प्रकरण समय सीमा की सूची में लंबित है।