अवसाद का शिकार न हों, खुले दिल से दें परीक्षा

 

पुलिस अधीक्षक ने बढ़ाया विद्यार्थियों का मनोबल

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सोमवार से बोर्ड की परीक्षाएं आरंभ हो रही हैं। ऐसे में विद्यार्थियों और अभिभावकों का चिंतिंत होना स्वाभाविक है। पुलिस के मुखिया कुमार प्रतीक ने विद्यार्थियों को शांत मन से परीक्षा देने का आग्रह किया है।

जिला पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक का कहना है कि विद्यार्थी, परीक्षा को किसी डर की तरह न लें। खुले मन से तैयारी कर परीक्षा दें। किसी भी दशा में विद्यार्थी अवसाद का शिकार न हों। परीक्षा का हौव्वा न बनायें। यह सिर्फ अंकों का खेल है जीवन नहीं है। पूरी तैयारी के बाद भी यदि पेपर बिगड़ जाता है तो विद्यार्थी कोई ऐसा कदम न उठायें जिससे उनके परिजनों को किसी तरह की परेशानी हो।

विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाते हुए जिला पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने कहा कि जीवन बहुत बड़ा है और उसमें कई अवसर बार – बार आयेंगे। कुछ में सफलताएं मिलेंगी तो कुछ में असफलता भी, लेकिन सफलता या असफलता से जूझने का नाम ही जीवन है।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को किसी भी दशा में निराश नहीं होना है। यदि एक पेपर बिगड़ भी जाये तो उसकी चिंता छोड़ दूसरे की तैयारी करें। किसी भी दशा में विद्यार्थी अपना मनोबल बनाये रखें। पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने अभिभावकों से भी अपील की है कि वे विद्यार्थियों के व्यवहार पर नज़र रखें और उन पर अच्छे अंकों का दबाव न बनायें। बच्चे अपनी ओर से पूरी कोशिश करते हैं, अभिभावक उनका मनोबल बढ़ाने का प्रयास करें।