मध्य प्रदेश में बड़ा फेरबदल, वर्तमान डीजीपी वीके सिंह को हटाया

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। 1984 बैच के आईपीएस अफसर विवेक जौहरी को मध्यप्रदेश का नया डीजीपी बना दिया गया है, इस समय बीएसएफ के डीजी हैं। वर्तमान में प्रदेश के डीजीपी वीके सिंह को हटाने की चर्चा कुछ माह से चल रही थी।

मध्यप्रदेश में आईपीएस विवेक जौहरी नए डीजीपी बनाए गए हैं। वर्तमान डीजीपी वीके सिंह को खेल एवं युवक कल्याण का डायरेक्टर बनाया गया। जौहरी के पदभार ग्रहण करने तक पुलिस महानिदेशक सायबर सेल के डीजी राजेंद्र कुमार यह कार्यभार संभालेंगे।

कई दिनों से चर्चा थी कि कमलनाथ सरकार वीके सिंह को हटाना चाहती है। वीके सिंह ने जनवरी 2019 में पद संभाला था। बताया जा रहा है कि राजगढ़ मामले में आईपीएस और आईपीएस में टकराव के बाद उनकी छवि खराब हुई थी। ब्यावरा में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में एक रैली निकाली गई थी, जिससे जिलाधिकारी निधि निवेदिता ने कथित तौर पर एक सहायक सब इंस्पेक्टर तो थप्पड़ मारा था।

आईएएस अफसरों की लाबी ने कलेक्टर का समर्थन किया, लेकिन डीजीपी सिंह ने डीएसपी से जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज करने को कहा था। इसके बाद कलेक्टर को दोषी पाया था और रिपोर्ट गृह विभाग को दे दी थी। इससे आइएएस अफसर और नाराज हो गए थे। तभी से डीजीपी की उलटी गिनती शुरू होना माना जा रहा था।

मैनिट से की थी इंजीनियरिंग : विवेक जौहरी बीएसएफ के 25वें प्रमुख बने हैं। जौहरी भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के विशेष सचिव के पद पर भी रह चुके हैं। जौहरी भोपाल के मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी (मैनिट) से इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं। मध्य प्रदेश के कई अहम ओहदों पर रह चुके हैं, वे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के ओएसडी भी रह चुके हैं। सीबीआई में भी सेवाएं दे चुके हैं। वे भोपाल के मॉडल स्कूल के पूर्व छात्र हैं।