खुद को बताता था रेलवे अफसर करता था चोरी

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)।  झारखण्ड के जमशेदपुर में रहने वाला एक शातिर चोर जबलपुर आया। उसने खुद को रेलवे का अफसर बताया और जयप्रकाश नगर में एक मकान किराए से ले लिया। रात में वह घर से ड्यूटी के बहाने निकलता और प्लेटफॉर्म और ट्रेनों में चोरी करता था। उक्त शातिर चोर को शुक्रवार को जीआरपी ने दबोच लिया। आरोपी के पास से दो लाख रुपए का माल बरामद किया गया है।

जीआरपी थाना प्रभारी मंजीत सिंह ने बताया कि होली के चलते स्टेशन में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। टीम द्वारा गश्त की जा रही थी, इस दौरान संदिग्ध अवस्था में एक युवक मिला। पूछताछ में उसने अपना नाम मूलत: झारखण्ड जमशेदपुर थाना बिरसा नगर निवासी संतोष सोलंकी बताया। टीम ने जब उसकी जांच की, तो उसके पास मोबाइल फोन मिले। जिनके संबंध में वह सही जवाब नहीं दे पाया। कड़ी पूछताछ में उसने उक्त फोन स्टेशन और ट्रेन से चोरी करने की बात स्वीकारी। आरोपी ने यह भी कबूला कि उसने कई पर्स और बैग चोरी किए है। आरोपी की निशानदेही पर टीम ने उसके जय प्रकाश नगर स्थित किराए के मकान से छह मोबाइल फोन, सोने की एक अंगूठी, एक जोड़ी कान की बाली, दो मंगलसूत्र व अन्य जेवरात जब्त किए। मकान मालिक ने पूछताछ में बताया कि संतोष ने खुद को रेलवे का अफसर बताकर घर किराए पर लिया था। जांच में पता चला कि आरोपी के खिलाफ कटनी, जबलपुर जीआरपी समेत सिविल लाइंस थाने में चोरी के 14 प्रकरण दर्ज हैं।