अब तक आए सभी टेस्ट निगेटिव!

टेस्ट के लिए भेजे 41 नमूने, 40 निगेटिव, एक की रिपोर्ट आना शेष!

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। कोरोना कोविड 19 से निपटने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह चाक चौबंद नजर आ रहा है। अब तक कोरोना कोविड 19 के संक्रमित मरीज सिवनी में नहीं मिलना इसी बात का घोतक है कि जिला प्रशासन के द्वारा जो प्रबंध किए गए हैं, वे अप टू द मार्क ही हैं।

प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.सी. मेश्राम से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा बार बार यह जानकारी चाही गई कि अब तक कितने मरीजों के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं, इसके जवाब में सीएमएचओ डॉ. मेश्राम के द्वारा हर बार एक ही जवाब दिया जाकर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली जाती है कि जिलाधिकारी के द्वारा इसकी जानकारी देने से मना किया हुआ है। यह आलम तब है जबकि राज्य स्तर पर जनसंपर्क विभाग की वेब साईट के द्वारा एवं अन्य जिलों में इसकी जानकारी मीडिया के जरिए आम जनता तक पहुंचाई जा रही है।

इस संबंध में जब सीएमएचओ कार्यालय के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा जांच के लिए भेजे गए नमूनों की अद्यतन रिपोर्ट के संबंध में पूछा गया तो सूत्रों ने बताया कि अब तक कुल 41 नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है, जिसमें से एक नमूने की जांच आना बाकी है, शेष सभी 40 नमूने कोरोना कोविड 19 के संक्रमण से पूरी तरह मुक्त ही (निगेटिव) पाए गए हैं।

इधर, जिला प्रशासन के सूत्रों ने इस बात के संकेत भी दिए हैं कि पूर्व विधायक नरेश दिवाकर के द्वारा जिला प्रशासन को सुझाव दिया गया है कि रेण्डमली नमूनों की जांच के लिए नमूने भेजे जाएं! प्रशासन ने इस सुझाव को शायद मान लिया है, चूंकि यह नोटिफाईड डिसीज है इसलिए अब रेण्डम आधार पर नमूने लिए जाने का काम भी आरंभ किया जा सकता है।

जिला प्रशासन से अपील है कि जितने नमूने रोज भेजे जा रहे हैं, कितने लोगों को रोज कोरंटाईन किया जा रहा है! कितने लोगों पर टोटल लॉक डाउन के उल्लंघन की कार्यवाही की जा रही है! कितने लोगों को हिदायत देकर छोड़ा गया है! आदि की जानकारी मीडिया के जरिए आम जनों तक पहुंचाने का प्रबंध किया जाए ताकि लोगों के बीच चल रही चर्चाओं पर विराम लगाया जा सके।