किसानों से नहीं ली जाएगी तुलाई और हम्माली की राशि

कृषि मंत्री कमल पटेल ने दिए निर्देश

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। उपार्जन केंद्रों पर अनाज की तुलाई और हम्माली की राशि किसानों से नहीं वसूली जाएगी। कृषि मंत्री कमल पटेल का यह बयान रायसेन के खरगावली उपार्जन केंद्र की घटना के बाद आया है। इस केंद्र पर तुलाई और हम्माली की राशि किसानों से वसूली जा रही थी।

इसे लेकर किसान और हम्मालों में गत दिवस को धक्का-मुक्की हुई है। पटेल ने यह भी कहा है कि वर्तमान में अलग-अलग मंडियों में हम्माली और तुलाई की अलग-अलग दरें तय हैं। उन्हें समान करने पर सरकार विचार कर रही है। पटेल ने कहा है कि किसान इस सीजन में मंडी में सौदा पत्रक के माध्यम से सीधे व्यापारियों को उपज बेच सकते हैं।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने भरोसा दिलाया कि सरकार किसानों को बीमित राशि का 100 फीसदी भुगतान कराएगी। उन्होंने पिछले साल बीमा क्लेम न मिल पाने का कारण बताया कि पिछली सरकार ने वर्ष 2018 में रबी और खरीफ फसलों की बीमा राशि के राज्यांश का भुगतान नहीं किया था। उन्होंने बताया कि अब खरीफ का राज्यांश 1695 करोड़ रुपये और रबी का राज्यांश 486 करोड़ रुपये जमा कर दिया है।

मंत्री ने बताया कि सरकार जल्द ही सूरजधारा और अन्नपूर्णा योजना के तहत किसानों को उन्नत बीज उपलब्ध कराने के लिए तात्कालिक तौर पर 25-25 करोड़ रुपये का प्रावधान करेगी। उन्होंने बताया कि योजना के बजट में की गई कटौती की पूर्ति पर विचार किया जा रहा है। वहीं उन्नत बीज की उपलब्धता में किसानों को हुई परेशानी और बीज उत्पादक समितियों को हुए नुकसान की भरपाई करने पर सरकार विचार कर रही है।

197 thoughts on “किसानों से नहीं ली जाएगी तुलाई और हम्माली की राशि

  1. Pingback: viagra dosage
  2. Pingback: buy viagra online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *