तेज हवाओं से बदला मौसम, रात को चली आंधी!

पहली बार मई माह में ठण्डी शुरूआत, बूंदाबांदी की बनी संभावनाएं

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। 2020 में गर्मी का मौसम आगे बढ़ जाने के बावजूद विक्षोभ आने का सिलसिला रुका नहीं है। इसके अलावा देश में कई सिस्टम बने हुए हैं। प्रदेश में बंगाल की खाड़ी से लगातार नम हवाएं आ रही हैं, जिसके चलते कई स्थानों पर गरज-चमक की स्थिति बन रही है।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जानकार इस तरह की गतिविधियों को मानसून के पहले होने वाली प्री मानसूनी गतिविधियां बता रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले समय में निश्चित तौर पर तापमान बढ़ेगा और गर्मी जल्द ही अपने तेवर दिखाएगी।

बुधवार को देर रात चली लगभग 30 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाओं के कारण रात के तापमान में गिरावट आई, तो बादलों और हवाओं के असर से अधिकतम तापमान भी गिरा।

सूत्रों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी से निरंतर नमी आ रही है वहीं ऊपरी वायुमंडलीय परिस्थितियां अनुकूल होने के कारण पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में पश्चिमी हवाओं एवं नमी भरी पूर्वी हवाओं का संगम हो रहा है। कई कारकों के चलते प्रदेश में मौसम बिगड़ रहा है। प्रदेश के कई हिस्सों में प्री-मानसूनी गतिविधियां चल रही हैं। अगले दो-तीन दिनों में प्रदेश के कुछ हिस्सों में गरज-चमक की स्थिति बनेगी।

कई जिलों में होगी बारिश

इससे पहले मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर कहा था कि 9 मई से 11 मई के बीच कई जिलों में बारिश होगी। साथ ही कुछ इलाकों में ओलावृष्टि भी हो सकती है। कई इलाकों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने या तेज हवा के साथ बारिश चलने के भी संभावना व्यक्त की गई है। इस कारण प्रदेश के तापमान में एक बार फिर गिरावट आएगी जबकि बाकी जिलों में तापमान अधिक रहेगा।

पिछले पांच साल की तुलना में इस बार अप्रैल माह ठंडा बीता है। उधर मई माह की शुरुआत में अभी तक शहर में अपेक्षाकृत गर्मी नहीं पड़ी है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक लगातार बन रहे वेदर सिस्टम के कारण प्रदेश में रुक-रुक कर बरसात हो रही है।

इससे दिन के अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो पा रही है। इसी क्रम में मंगलवार को दिन का अधिकतम तापमान 38.9 दर्ज किया गया,जो कि सामान्य से 2 डिग्री कम रहा। मौसम विज्ञानियों ने गुरुवार को फिर बूंदाबांदी होने के आसार जताए हैं।

दो सिस्टम सक्रिय

सूत्रों के मुताबिक वर्तमान में पूर्वी मप्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त बिहार से पूर्वी मप्र से होकर तमिलनाडू तक एक ट्रफ बना हुआ है। इन दो सिस्टम के कारण वातावरण में नमी आ रही है। इससे प्रदेश में पिछले दो दिन से कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ रही हैं।

इस वजह से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर दिन के तापमान में कमी आई है। सूत्रों के अनुसार बुधवार को शहर में दिन के तापमान में बढ़ोतरी भले ही हो लेकिन गुरुवार को फिर बादल छाने लगेंगे। साथ ही बूंदाबांदी भी हो सकती है।

3 thoughts on “तेज हवाओं से बदला मौसम, रात को चली आंधी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *