एसी स्पेशल ट्रेनों से कोरोना संक्रमण का खतरा?

केरल ने रेलवे से स्लीपर कोच चलाने की मांग की

(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। लॉकडाउन के दौरान देश के तमाम शहरों में फंसे हुए प्रवासी मजदूरों, छात्रों, पर्यटकों, श्रद्धालुओं को उनके गृह राज्य ले जाने के लिए रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला रहा है जिनमें सिर्फ स्लीपर कोच हैं।

लेकिन 12 मई से 15 एसी स्पेशल ट्रेनें भी शुरू की गई हैं जिनकी ऑनलाइन टिकट बुकिंग हो रही है। ये सभी एसी स्पेशल ट्रेनें लंबी दूरी की हैं। अब इनमें सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा पर सवाल उठ रहा है। कुछ हेल्थ एक्सपर्ट और राज्य सरकारों ने इस पर यह कहते हुए सवाल उठाया है कि इससे यात्रियों के कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाएगा।

एसी ट्रेन सुरक्षित नहीं

कुछ हेल्थ एक्सपर्ट, यात्री और राज्य सरकारों ने पूरी तरह एसी ट्रेन चलाए जाने को लेकर चिंता जाहिर की है। उनका कहना है कि इन एसी ट्रेनों में बड़ी संख्या में लोग सफर कर रहे हैं जिससे यात्रियों में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने का खतरा बढ़ गया है।

केरल की रेलवे से मांग, सिर्फ स्लीपर ट्रेन चलाएं

केरल सरकार ने रेल मंत्रालय को खत लिखकर गुजारिश की है कि सिर्फ स्लीपर डिब्बों का ही इस्तेमाल किया जाए। मुख्यमंत्री पी. विजयन का कहना है, ‘एयर कंडिशंड कोचेज में कोरोना के फैलने का खतरा बहुत ज्यादा है। देश में इस तरह के कई उदाहरण पहले भी देखे जा चुके हैं। इसलिए हमने अनुरोध किया है कि एसी कंपार्टमेंट्स से बचना चाहिए।

पंजाब में एसी बसों में सफर से संक्रमित हुए 1,217′

विजयन ने पंजाब का हवा दिया है। उन्होंने कहा कि पंजाब में 4,198 लोगों को एसी बसों से लाया गया। इनमें से 1,217 लोग कोरोना से संक्रमित हो गए। यह संक्रमण यात्रा के दौरान ही हुआ यानी यात्रा से पहले ज्यादातर यात्री पूरी तरह स्वस्थ थे। विजयन ने कहा कि यही वजह है कि एसी कोचेज में सफर से बचा जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *