बुधवारी तालाब की सुध लेने वाला कोई नही

कैसे बनेगा गदंगी के बीच कोरोना मुक्त सिवनी

(ब्‍यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। नगर के मध्य स्थित बुधवारी तालाब के बाजू में लगने वाली थोक सब्जी मंडी को जिला प्रशासन ने इस उद्देश्य से खाली कराकर नागपुर रोड स्थित कृषि महाविद्यालय के बाजू में पहुंचाया था कि इसके कारण बुधवारी तालाब दुर्दशा का शिकार हो रहा है। उसका जीर्णोद्धार किया जायेगा।

हालात यह है कि इस तालाब के बाजू में लगी हुई झोपड़ पट्टी में रहने वाले लोग यहां पर अपना दिन-पानी तक करते है। और इस तालाब को गंदा करते है। लेकिन तालाब को स्वच्छ रखने के प्रयास सिर्फ कागजों तक सीमित होकर रह गये है।

ज्ञातव्य है कि इसी स्थान पर प्रसिद्ध मज्हार भी है,और शंकर जी का मंदिर भी लेकिन विडम्बना है कि इन दोनों ही पवित्र स्थानों के बावजूद यहां पर सुअरों का जमावड़ा देखा जा सकता है। कुछ माह पूर्व तक सिवनी को नम्बर-1 बनाने के लिए नगरपालिका परिषद एवं जिला प्रशासन ने ऐंड़ी चोटी का जोर लगाया था। लेकिन वर्तमान में कोरोना वायरस के चलते सारे मामले ठंडे बस्ते में है।

स्वास्थ्य विभाग से जुड़े लोगों का कहना है कि वर्तमान में गर्मी का मौसम चल रहा है। और गदंगी के कारण अनेक बीमारी उत्पन्न होती है। और इन्ही बीमारियों के बढऩे पर कोरोना वायरस का रूप धारण कर लेती है। बेहतर होता कि इस तालाब की सुध लेते हुए संबंधितजन उचित कार्यवाही करते तो जनहित में होता।

2 thoughts on “बुधवारी तालाब की सुध लेने वाला कोई नही

  1. Pingback: Sex chemical

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *