इन 6 तरीकों से अपने घर को बनाएं एक शानदार वर्कस्पेस

देश के कई शहरों में लॉकडाउन में ढील दी जा रही है। लेकिन साथ-साथ कोरोना वायरस महामारी से लड़ाई भी जारी है। कई जगहों पर दुकानें खोल दी गई हैं। लेकिन अब भी ज्यादातर कंपनियां वर्क फ्रॉम होम ही अपना रही हैं। आने वाले समय में कई लोगों के लिए ये सामान्य हो जाएगा।

वर्क फ्रॉम होम आपके लिए सुविधाजनक होगा क्योंकि आप घर से ऑफिस आने-जाने का समय और खर्च दोनों बचाएंगे। लेकिन घर पर ऑफिस की तरह प्रोडक्टिव काम करने के वातावरण की कमी आपको परेशान कर सकती है।

लेकिन इसमें परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि आप कुछ सामान्य तरीके अपनाकर अपने वर्क फ्रॉम होम के समय को ज्यादा प्रोडक्टिव और प्रभावशाली बना सकते हैं। इसकी शुरुआत होती है अपने घर को एक आरामदायक, शांत और ऊर्जा भरने वाले वर्किंग स्पेस में बदलने से।

1. एक प्रोडक्टिव होम-ऑफिस स्पेस बनाएं
सबसे पहले अपने घर पर एक ऐसी जगह चुनें जो वर्क फ्रॉम होम के लिए हर तरीके से सबसे सही हो। आदर्श जगह वो होगी जहां आपका मन न भटके। फिर आपको सही फर्नीचर की जरूरत होगी। यानी एक डेस्क, एक कुर्सी जो आरामदायक हो, जरूरत के अनुसार एडजस्ट किया जा सके और आपकी पीठ को उचित सपोर्ट दे सके।

अगर आपको काम के लिए किसी तरह के नोट्स लिखने की जरूरत पड़ती है, तो एक व्हाइटबोर्ड, मार्कर, डायरी और पेन भी आसपास अपनी पहुंच में रखें। अपने डेस्क को साफ रखें। वर्क स्पेस में अच्छी रोशनी हो, क्योंकि इसका आपके मूड पर सकारात्मक असर होता है।

2. एक रूटीन बनाएं और उसे फॉलो करें
लोगों के बीच या टीवी के सामने बैठकर काम करना अच्छा जरूर लग सकता है, लेकिन इसका न सिर्फ आपकी प्रोडक्टिविटी पर असर पड़ेगा बल्कि स्वास्थ्य भी खराब होगा। इसलिए एक रूटीन बनाएं और उसे रोजाना फॉलो करने की पूरी कोशिश करें।

ऑफिस के काम, घर के काम और अपने ‘मी टाइम’ के घंटे अलग-अलग रखें। रोज एक निश्चित समय पर उठें। नहाएं और तैयार हों। नाश्ते, लंच, चाय के लिए निश्चित समय अंतराल पर ब्रेक लेना सुनिश्चित करें। ऐसा रूटीन न बनाएं जो आपको दबाव में डाल दे या आपकी रचनात्मकता खत्म कर दे। बल्कि रूटीन ऐसा हो जो आपको व्यवस्थित और प्रेरित बने रहने में मदद करे।

3. ठंडा और आरामदायक वातावरण
गर्म तापमान आपको मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से सुस्त बना सकता है। जबकि ठंडा और आरामदायक वातावरण आपको फ्रेश महसूस कराएगा और मन को सकारात्मक रखने में मदद करेगा। एक एयर कंडीशनर या एयर कूलर इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

अगर आपके पास एसी या एयर कूलर नहीं है और आपके घर में लगा पंखा कमरे को ठंडा नहीं कर पा रहा है, तो एक एसी या कूलर खरीद लें।

4. ब्रेक लें और एक्टिव रहें
घर में लंबे समय तक काम करते रहने और एक ही स्थिति में बैठे रहने की आदत अच्छी नहीं है। इससे आपका शरीर सुस्त और मन बोझिल हो जाएगा। आपको पीठ, गले और कंधे में दर्द की शिकायत हो सकती है। इसलिए काम के बीच हर घंटे छोटे ब्रेक जरूर लें और आसान स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें। कुर्सी पर बैठे-बैठे भी कुछ एक्सरसाइज किए जा सकते हैं। काम के बीच अगर कॉल आए, तो कोशिश करें एक ही जगह बैठे रहने के बजाय टहलते हुए बातें करें।

5. अच्छा लैपटॉप
अगर आपका लैपटॉप हैंग करता रहता है, वाई-फाई कनेक्शन कमजोर है, तो इससे काफी चिढ़ होती है। काम से मन हटने लगता है। इसलिए वर्क फ्रॉम होम के दौरान आपका मन शांत रहे, इसलिए एक अच्छा लैपटॉप और तेज व स्टेबल इंटरनेट कनेक्शन का होना बेहद जरूरी है। अगर आपको अपना लैपटॉप अपग्रेड करना है, तो ये सबसे सही समय है।

6. वर्क कम्युनिकेशन आसान करने के लिए ऐप्स और टूल्स
इफेक्टिव कम्युनिकेशन.. ये एक ऐसी चीज है जिसपर ज्यादातर सफल टीमें फलती-फूलती हैं। अगर आप घर से काम कर रहे हैं तो समय पर आपस में कम्युनिकेशन होना बेहद जरूरी है। हाल के महीनों में लंबे चौड़े ईमेल्स की जगह कम्युनिकेशन टूल्स ने ले ली है। ये टूल्स आधुनिक वर्कप्लेस का हिस्सा हैं।

कई सारे ऐप्स और टूल्स अलग-अलग जगहों पर होकर भी एक समय पर एक साथ मिलकर काम करना आसान बना रहे हैं। इनके जरिए घर बैठे हम आसानी से एक दूसरे के साथ प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, फाइल शेयरिंग, ऑडियो-वीडियो कॉल्स जैसी कई जरूरी चीजें कर पा रहे हैं। अपने काम और जरूरत के अनुसार ऐसे बेस्ट ऐप्स चुनें और अपने टास्क को आसान बनाएं।

घर पर ऐसा एक मददगार वर्किंग स्पेस बनाकर आप खुद को लंबे वर्क फ्रॉम होम के लिए मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से तैयार कर सकते हैं।