04 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में मंगलवार 04 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद जिस तेजी से बढ़ रही है वह चिंताजनक माना जा सकता है। संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पौने 19 लाख के करीब पहुंच गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 18 लाख 64 हजार 561 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 06 लाख 46 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 05 लाख 89 हजार 202 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 12 लाख 35 हजार 857 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 39 हजार 57 है। अब तक देश में कुल 02 करोड़ 08 लाख 64 हजार 750 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। इधर, मध्य प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 14 हजार 813 ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 34 हजार 285 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 09 हजार 286, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 24हजार 99 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 900 है। प्रदेश में अब तक 8 लाख 10 हजार से ज्यादा लोगों का टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद पांच सौ से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 07 हजार 646 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 02 हजार 94 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 317 है, भोपाल में 06 हजार 793 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 2 हजार 380, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 190, ग्वालियर में 02 हजार 507 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 622 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 13, मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 1 हजार 643 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 139 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 9, उज्जैन में एक हजार 218 कुल एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 158 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 74, जबलपुर में कुल 01 हजार 446 संक्रमित मरीजों में से 512 एक्टिव एवं 30 लोग कालकलवित हुए हैं, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 806, एक्टिव मरीजों की तादाद 191 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 18, सागर में कुल 700 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 112 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 33, नीमच में कुल मरीजों की संख्या 775 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 165 व जिनका निधन हुआ उनकी तादाद 09, खण्डवा में 668 कुल एवं एक्टिव 94 व जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 19 एवं बड़वानी में 764 कुल मरीजों में से संक्रमित मरीज 372 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 07 है। प्रदेश में एक भी जिले में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य नहीं है।
—–
इंदौर में रहने वाले प्रदीप सिंह ने यूपीएससी की परीक्षा में 26वां स्थान हासिल किया है। 2018 में भी उन्होंने यूपीएससी क्वालिफाई किया था। उस साल उन्हें इंडियन रेवन्यू सर्विस मिला था। प्रदीप अभी इनकम टैक्स में असिस्टेंट कमिश्नर के तौर पर कार्यरत है। यहां तक पहुंचने के लिए प्रदीप ने काफी संघर्ष किया है। प्रदीप सिंह को इस मुकाम तक पहुंचाने के लिए उनके पिता सब कुछ कुर्बान कर दिया था।
दरअसल, प्रदीप सिंह शुरू से ही आईएएस ही बनना चाहते थे। 2018 की परीक्षा में उनका रैंक 93 था। प्रदीप ने बताया कि पिछले साल 92 रैंक वालों को आईएएस मिला था। मैं बस एक रैंक से पिछे रह गया था। इस बार मुझे काफी मेहनत करनी पड़ी है। लेकिन इस सफलता से काफी खुश हूं। मैंने फिर से रैंक ठीक करने के लिए परीक्षा दिया था। मेरा टारगेट 70-80 में जगह बनाना था।
मुरैना के कैलारस की रहने वाली निधि बंसल ने यूपीएससी में 23वीं रैंक हासिल की है। निधि बंसल का सपना आईएएस बनने का था और उन्होंने अपने कठिन परिश्रम और लगन से इस सपने को पूरा किया है। निधि चार साल पहले भी यूपीएससी की परीक्षा पास कर चुकीं हैं और अभी हैदराबाद के पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र में आईपीएस की ट्रेनिंग कर रही हैं।
कैलारस की रहने वाली निधि बंसल ने साल 2016 में भी यूपीएससी की परीक्षा पास की थी और आईपीएस के लिए उनका चयन हुआ था। चार साल पहले निधि को यूपीएससी परीक्षा में 219वीं रैंक मिली थी और वो इस वक्त हैदराबाद के पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र में आईपीएस की ट्रेनिंग कर रही हैं। निधि कैलारस के रहने वाले व्यापारी गिर्राज बंसल की बेटी हैं जो बीते कुछ समय से ग्वालियर में रहते हैं। निधि ने आईआईटी चेन्नई से कंप्यूटर साइंस से बीटेक भी किया है। निधि पहले एक्साइज इंस्पेक्टर के लिए भी चयनित हो चुकी हैं।
—–
जबलपुर में हाथीताल शेट्टी नगर में 1320 वर्गफीट प्लॉट दम्पती और बेटे ने दो बैंकों में बंधक रखकर लोन ले लिया। एक बैंक ने खाता एनपीए होने पर सम्पत्ति अपने कब्जे में ले लिया। दूसरे बैंक का भी खाता एनपीए हो गया। दस्तावेज फर्जी मिले। मामला जिला कोर्ट पहुंचा। वहां से ईओडब्ल्यू (आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ) को जांच के निर्देश दिए गए। ईओडब्ल्यू ने मामले में धारा 420, 467, 468, 471, 120 बी भादवि का प्रकरण दर्ज जांच में लिया।
जानकारी के अनुसार रुचि कलेक्शन पार्टनरशिप फर्म के पार्टनर धनपत अरोरा, पत्नी शीला अरोरा, बेटा हिमांशु अरोरा ने हाथीताल शेट्टी नगर स्थित 1320 वर्गफीट के प्लॉट को बंधक रखकर बैंक ऑफ महाराष्ट्र की रसल चौक शाखा से 19 जून को 25 लाख रुपए का क्रेडिट लोन ओर दो अगस्त 2014 को पांच लाख का शार्ट टर्म लोन लिया था। बैंक की तरफ से इसके मालिकाना हक की जांच भी कराई गई थी। प्लॉट की कीमत पैनल अधिवक्ताओं ने 41 लाख रुपए दर्शायी थी। लोन की राशि जमा नहीं करने पर बैंक ने प्लॉट कब्जे में लेने की प्रक्रिया शुरू करनी चाही, तो पता चला कि उक्त प्लाट पहले ही पंजाब नेशनल बैंक केंट सदर अपने कब्जे में ले चुका है। इसी प्लॉट को बंधक रखकर धनपत अरोरा, पत्नी शीला अरोरा, बेटा हिमांशु अरोरा और बेटी रुचि अरोरा ने लोन लिया था। खाता एनपीए होने के बाद बैंक ने 29 जून 2015 को उक्त सम्पत्ति कब्जे में ले लिया था। इस जानकारी के आधार पर बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने अपने यहां बंधक रखे गए दस्तावेज और प्लॉट की रजिस्ट्री चौक कराई, तो पता चला कि वह कूटरचित दस्तावेज है। इसके बाद मामला ईओडब्ल्यू के पास पहुंचा। प्राथमिक जांच के बाद ईओडब्ल्यू भोपाल में 16 जून को एफआईआर दर्ज कर जबलपुर को विवेचना सौंपी है।
—–
किशोरियों से दुष्कर्म के मामले में रिमांड पर चल रहे प्यारे मियां के नये-नये कारनामे सामने आ रहे हैं। एयरटेल कंपनी से प्यारे ने 60 लाख नहीं बल्कि सवा करोड़ रुपए हड़पे थे। उसने पहले अभिनेता रजा मुराद जैसे गणमान्य लोगों को शामिल कर सोसायटी बनाई थी। बाद में सभी का नाम हटाकर अपने परिवार के लोगों के नाम से फर्जी सोसायटी बना ली थी। उसके आधार पर वह एयरटेल कंपनी से रुपये वसूल रहा था।
भोपाल के श्याम लाहिल्स थाना पुलिस के मुताबिक आरोपित प्यारे मियां ने अंसल अपार्टमेंट के ई-ब्लॉक में अपनी पत्नियों और बेटे के नाम से तीन फ्लैट लिए थे। इसी ब्लॉक में भारती एयरटेल कंपनी का भी एक फ्लैट था। बिल्डिंग की छत पर कंपनी का एक मोबाइल टावर भी लगा हुआ था, जिसका संचालन एयरटेल कंपनी कर रही थी। 10 साल पहले प्यारे मियां ने वकील के माध्यम से कंपनी को नोटिस भेजकर टावर हटाने की बात कही। इसके साथ ही वह कंपनी के कर्मचारियों को विभिन्न तरीकों से परेशान करने लगा। कंपनी ने जब प्यारे मियां से बात की तो उसने टावर के किराए का पैसा मांगा। इस तरह कंपनी से करीब सवा करोड़ रुपये ऐंठ लिए।
—–
जमीन से संबंधित खसरा, बी-वन, नक्शा, नकल आदि राजस्व अभिलेखों की प्रमाणित प्रतिलिपि अब कहीं से भी ऑनलाइन हासिल की जा सकेगी। शासन के निर्देशानुसार इंदौर जिले में यह सुविधा 4 अगस्त से शुरू होने जा रही है। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। मध्यप्रदेश भू-राजस्व संहिता नियम-2020 के नियम 94 और 105 के तहत इलेक्ट्रॉनिक स्वरूप में उपलब्ध अभिलेखों की प्रमाणित प्रतिलिपियों को प्राधिकृत वेब पोर्टल और प्राधिकृत सेवा प्रदाता के जरिए 4 अगस्त से जारी किया जाना है। इसमें नए अभिलेख वे होंगे जिन्हें रिकॉर्ड रूप से स्कैन कर भू-अभिलेख पोर्टल पर अपलोड किया जा चुका है। साथ ही इसमें आरसीएमएस पोर्टल पर उपलब्ध राजस्व प्रकरणों में पारित आदेश की प्रति होगी।
—–
उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग मंदिर में श्रावण पूर्णिमा को रक्षा बंधन पर भस्मारती के बाद सबसे पहले राखी बांधी गई। इसके साथ पुजारियों ने बाबा महाकाल को 11 हजार लड्डुओं का भोग लगाया। परंपरा के अनुसार उज्जैन में सभी त्योहार सबसे पहले महाकाल मंदिर में मनाए जाते हैं।
ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में सोमवार को सबसे पहले रक्षाबंधन पर्व मनाया गया। भस्मारती में पुजारी परिवार की महिलाओं ने राजाधिराज को राखी बांधी। भगवान को लड्डुओं का महाभोग लगाया गया। यह पहला मौका है जब भक्त राजा के आंगन में मनाए जाने वाले राखी उत्सव में शामिल नहीं हुए। बता दें कोरोना संक्रमण के कारण भस्मारती में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगी हुई है।तड़के चार बजे मंदिर के पट खुले। इसके बाद पुजारियों ने भगवान महाकाल का पंचामृत अभिषेक-पूजन कर भगवान को नवीन वस्त्र व आभूषण धारण कराकर श्रृंगार किया। इसके बाद पुजारी परिवार की महिलाओं ने अवंतिकानाथ को राखी बांधी। भगवान को 11 हजार लड्डुओं का महाभोग लगाकर आरती की गई। सुबह 7.30 बजे होने वाली बालभोग आरती में भी भगवान को राखी बांधी गई।
—–
राज्य शासन ने आबकारी मामलों के लिये मंत्रि-परिषद समिति का गठन किया है। समिति में वाणिज्यिक कर एवं वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, आदिम जाति- अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह और पशुपालन एवं सामाजिक न्याय मंत्री प्रेमसिंह पटेल को सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर समिति के सचिव होंगे।
इसके साथ ही राज्य शासन ने रोजगार मामलों के लिये मंत्रि-परिषद् समिति का गठन किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस समिति के अध्यक्ष होंगे। वन मंत्री विजय शाह, खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, खनिज साधन, श्रम विभाग मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह, पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह सिसोदिया, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग मंत्री ओम प्रकाश सकलेचा, पर्यटन, संस्कृति, आध्यात्म विभाग मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, उच्च शिक्षा विभाग मंत्री डॉ. मोहन यादव, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग मंत्री राजवर्धन सिंह प्रेम सिंह दत्तीगाँव, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़, जनजाति कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओ.पी.एस. भदौरिया समिति के सदस्य होंगे।
वहीं, राज्य शासन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों के लिये मंत्रि-परिषद् समिति का गठन किया है।
समिति में गृह, जेल, संसदीय कार्य, विधि एवं विधायी कार्य विभाग मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग मंत्री गोपाल भार्गव, जल-संसाधन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास विभाग मंत्री तुलसीराम सिलावट, वाणिज्यिक कर, वित्त, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग मंत्री जगदीश देवड़ा, खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, आदिम-जाति कल्याण, अनुसूचित-जाति कल्याण विभाग मंत्री कु. मीना सिंह माण्डवे, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग मंत्री एंदल सिंह कंषाना तथा लोक निर्माण विभाग राज्य मंत्री सुरेश धाकड़ समिति के सदस्य होंगे।
—–
आत्मनिर्भर योजना के तहत डेयरी, मांस प्रसंस्करण और पशु आहार संयंत्र स्थापित करने के लिये बैंक ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। न्यूनतम 10 से 25 प्रतिशत मार्जिन मनी हितग्राही को देनी होगी। शेष 90 से 75 प्रतिशत बैंक ऋण होगा। हितग्राही को 3 प्रतिशत ब्याज सबवेंशन मिलेगा। किसान उत्पादक संगठन, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग, निजी कम्पनियाँ और व्यक्तिगत उद्यमी आदि योजना का लाभ उठा सकते हैं। इच्छुक व्यक्ति सिडबी के पोर्टल उद्यमी मित्र पर आवेदन दे सकते हैं। केन्द्रीय पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय द्वारा एनीमल हसबेण्डरी इन्फ्रास्ट्रक्चर डेव्हलपमेंट फण्ड के तहत राज्यों को दिशा-निर्देश जारी कर दिये गये हैं।
अपर मुख्य सचिव पशुपालन जे.एन.कंसोटिया ने बताया कि योजना का मुख्य उद्देश्य डेयरी प्रसंस्करण और मांस प्रसंस्करण की सुविधा उपलब्ध कराना है। इससे घरेलू बाजार में गुणवत्तापूर्ण दूध और मांस की उपलब्धता के साथ उत्पादकों को अच्छा बाजार मिलने से आय में वृद्धि होगी। योजना में पशुपालकों को पशुओं के लिये उच्चगुणवत्ता वाला पशु आहार भी उचित दामों पर उपलब्ध कराया जायेगा।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में मंगलवार 04 अगस्त का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। बुधवार 05 अगस्त को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।