24 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में सोमवार 24 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा सवा 31 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 31 लाख 21 हजार 73 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 16 लाख 50 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 07 लाख 11 हजार 577 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 23 लाख 61 हजार 952 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 57 हजार 988 है। अब तक देश में कुल 03 करोड़ 59 लाख 02 हजार 137 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। इधर, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा 53 हजार को पार कर गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 28 हजार 880 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 53 हजार 129 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 11 हजार 510, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 40 हजार 390 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 1 हजार 229 है। प्रदेश में अब तक 11 लाख 80 हजार से ज्यादा लोगों का टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में उमरिया को छोड़कर शेष 51 जिलों में मरीजों की तादाद 100 से अधिक है। प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद एक हजार से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 11 हजार 161 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 03 हजार 145 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 360 है, भोपाल में 09 हजार 284 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 1 हजार 477, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 262, ग्वालियर में 04 हजार 117 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 956 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 34, मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 1 हजार 975 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 109 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 11, उज्जैन में एक हजार 554 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 214 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 76, जबलपुर में कुल 03 हजार 96 संक्रमित मरीजों में से 740 एक्टिव एवं 66 लोग काल कलवित हुए हैं, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 293, एक्टिव मरीजों की तादाद 223 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 25, बड़वानी में कुल एक हजार 37 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 111 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 13, नीमच में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 49 में से एक्टिव मरीज 181 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 13 है। प्रदेश में एक भी जिले में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य नहीं है।
—–
शाजापुर में स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा है कि प्रदेश में स्कूल खोलने की तिथि कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति पर निर्भर है। उन्होंने सितंबर माह में स्कूल खुलने की संभावना से इनकार किया है। मंत्री ने शाजापुर में कहा कि प्रदेशभर में कोरोना नियंत्रण की स्थिति के आधार पर ही स्कूल खोले जाने का निर्णय लिया जाएगा। फिलहाल प्रदेश में संक्रमण फैल रहा है। इसलिए सितम्बर महीने में स्कूल खोले जाने की संभावना नहीं है।
स्कूल शिक्षा मंत्री श्री परमार ने यह भी कहा कि खराब परिणाम देने वाले स्कूलों के लिए वहां के शिक्षक के साथ ही जिले के वरिष्ठ अधिकारी डीपीसी और एपीसी व संकुल स्तर के जिम्मेदारों पर भी कार्रवाई की जाएगी। लंबे समय से स्कूलों में जमे शिक्षकों को लेकर उनका कहना है कि सरकार शिक्षकों के ट्रांसफर पर जोर देने के बजाय जिन स्कूलों में शिक्षक नहीं हैं, वहां शिक्षकों की नियुक्ति का प्रयास कर रही है।
—–
बालिग लड़कियों के शोषण और प्राइवेट पार्टीज में अर्धनग्न डांस करवाने के आरोप में गिरफ्तार हुए एक अखबार के मालिक प्यारे नियां के खिलाफ अब भोपाल के बाद अब इंदौर में भी 3 मामले दर्ज होंगे। इन्वेस्टिगेशन के बाद पुलिस ने ये दावा किया है कि, इंदौर में आयोजित प्राइवेट पार्टियों में भी प्यारे मियां ने 18 साल से कम उम्र की लड़कियां सप्लाई की थीं।
—–
मध्य प्रदेश विधानसभा के 21 सितंबर से शुरू होने वाले सत्र में सरकार आर्थिक सर्वेक्षण प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी। इसके माध्यम से प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय, औद्योगिक व कृषि विकास दर के आंकड़े सामने रखे जाएंगे। इसके साथ ही वर्ष 2020-21 के लिए बजट अध्यादेश के स्थान पर वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा विनियोग विधेयक प्रस्तुत करेंगे। सरकार नगरीय निकाय चुनाव व्यवस्था में परिवर्तन के लिए संशोधन विधेयक लाएगी। इसके माध्यम से प्रदेश में एक बार फिर मतदाता ही सीधे महापौर और अध्यक्ष का चुनाव करेंगे।
प्रदेश में कोरोना संकट और सत्ता परिवर्तन से जुड़ी गतिविधियों के कारण विधानसभा का बजट सत्र नहीं हो पाया था। इसकी वजह से शिवराज सरकार को एक लाख 66 करोड़ रुपये से अधिक का लेखानुदान अध्यादेश के माध्यम से लाना पड़ा था। उम्मीद थी कि मानसून सत्र तक स्थितियां सामान्य हो जाएंगी और विधिवत बजट प्रस्तुत होगा लेकिन कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए सर्वसम्मति से सत्र को स्थगित रखने का निर्णय लिया गया। अब, 21 से 23 सितंबर तक चलने वाले विधानसभा सत्र में सभी जरूरी शासकीय कार्य संपादित किए जाएंगे। वित्त विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इसमें बजट अध्यादेश के स्थान पर विधेयक लाया जाएगा।
—–
ग्वालियर में श्रमोदय कोविड सेंटर में कोरोना मरीजों ने रविवार की रात करीब 8 बजे बिगड़ी व्यवस्थाओं को लेकर जमकर हंगामा किया। मरीजों का आरोप था कि उन्हें बदबूदार खाना दिया गया है। जिस स्थान पर उन्हें भर्ती किया गया, वहां पर गंदगी पसरी है। जिन कमरों में मरीज भर्ती हैं वहां पर कभी सैनिटाइजेशन नहीं किया जाता न ही मरीजों के बीच शारीरिक दूरी का पालन हो पा रहा है। झाडू भी दिन में एक बार लगाई जाती है। बदबूदार भोजन, गंदगी और बिना दवाओं के कोरोना को कैसे हराएंगे, बल्कि यहां से अन्य बीमारियों को अपने साथ घर लेकर जाएंगे। कुछ मरीजों ने तो यहां तक आरोप लगाए कि उन्हें बिना जांच के ही कोरोना पॉजिटिव बताकर भर्ती कर दिया है।
—–
टीकमगढ़ जिले के खरगापुर में एक ही परिवार के पांच सदस्यों द्वारा की गई आत्महत्या के सनसनीखेज मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। परिवार के पांच सदस्यों की सामूहिक आत्महत्या के मामले में पुलिस ने कुछ रिश्तेदारों और हाल ही में उनकी जमीन खरीदने वाले सराफा व्यवसायी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस मामले में दो परिवारों के नौ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। आरोपी और मृतक आपस में रिश्तेदार हैं।
प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक, आरोपियों ने पहले तो अपने पड़ोसी परिवार को प्रताड़ित किया। फिर उनकी जमीन बिकवा दी। इसमें उन्हें करीब 16 लाख रुपए का नुकसान हुआ। सुसाइड नोट धर्मदास और दूसरे बेटे मनोहर ने लिखा था। इसमें आरोपितों के नाम का उल्लेख कर लिखा गया था कि श्मशान घाट से सटी उनकी बेशकीमत जमीन को बेचने के लिए परिवार को मजबूर किया गया। इसमें परिवार को करीब 16 लाख रुपए का नुकसान हुआ। इसी वजह से सभी ने मानसिक रूप से प्रताड़ित होने पर परिवार सहित आत्महत्या कर ली।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
इंग्लैण्ड के द लैंसेट माइक्रोब में प्रकाशित कोरोनावायरस स्टडी में पता चला है कि वायरस के कारण मरने वाले मरीजों में फेफड़ों और किडनियों पर चोट के निशान थे। इंग्लैंड में कोविड 19 मरीजों पर हुई पोस्टमार्टम एग्जामिनेशन को इंपीरियल कॉलेज लंदन और इंपीरियल कॉलेज हेल्थकेयर एनएचएस ट्रस्ट ने किया था। स्टडी में जांच किए गए मरीजों की संख्या कम थी, लेकिन इसे इंग्लैंड में अब तक कोविड 19 मरीजों के हुए पोस्टमार्टम एग्जामिनेशन की सबसे बड़ी स्टडी कहा जा रहा है। स्टडी में 10 एग्जामिनेशन किए गए थे।
स्टडी में 10 जांचें की गईं थीं, जिनमें से 9 मरीजों के कम से कम एक बड़े अंग (दिल, फेफड़े और किडनी) में थ्रोम्बोसिस (खून का थक्का) मिले। हालांकि टीम 10वें मरीज में थ्रोम्बोसिस की जांच नहीं कर सकी। शोधकर्ताओं का मानना है कि इस स्टडी से क्लिनीशियन्स को मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।
स्टडी के सह लेखक और इंपीरियल कॉलेज लंदन में ऑनरेरी क्लिनीकल सीनियर लेक्चरर, इंपीरियल कॉलेज हेल्थकेयर एनएचएस ट्रस्ट में कंसल्टेंट पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर माइकल ऑस्बर्न ने कहा, कोविड 19 नई बीमारी है और हमारे पास ऑटॉप्सी में टिश्यू को एनलाइज करने के लिए सीमित मौके थे, ताकि हम मरीज की बीमारी के कारण को रिसर्च के लिए बेहतर तरीके से समझ सकें।
उन्होंने कहा, यह अपनी तरह की देश की पहली स्टडी है जो डॉक्टर्स और शोधकर्ताओं की पहले से चल रही उन थ्योरीस का समर्थन करती है, जिनमें कहा जा रहा था कि फेफड़ों की चोट, थ्रोम्बोसिस और इम्यून सेल का कम होना कोविड 19 के गंभीर मामलों की सबसे बड़ी खासियत है। डॉक्टर ऑस्बर्न ने कहा, जांच किए जा रहे मरीजों में हमने किडनी की चोट और आंतों की सूजन भी देखी। ये और रिसर्च की दूसरी प्राप्तियां क्लिनीशियन्स की मरीजों को संभालने के लिए नई रणनीति बनाने में मदद करेंगी।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में सोमवार 24 अगस्त का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 25 अगस्त को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।