26 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में बुधवार 26 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा साढ़े 32 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 32 लाख 50 हजार 250 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 17 लाख 13 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 07 लाख 13 हजार 203 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 24 लाख 76 हजार 710 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 59 हजार 769 है। अब तक देश में कुल 03 करोड़ 76 लाख 51 हजार 512 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। इधर, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा 55 हजार को पार कर गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 30 हजार 85 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 55 हजार 800 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 12 हजार 225, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 42 हजार 310 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 1 हजार 265 है। प्रदेश में अब तक 12 लाख 30 से ज्यादा लोगों का टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में सभी 52 जिलों में मरीजों की तादाद 100 से अधिक है। प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद एक हजार से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 11 हजार 673 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 03 हजार 217 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 368 है, भोपाल में 09 हजार 541 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 1 हजार 545, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 264 ग्वालियर में 04 हजार 348 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 01 हजार 53 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 36, जबलपुर में कुल 3 हजार 339 में से एक्टिव मरीजों की संख्या 805 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 67, मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 1 हजार 997 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 111 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 12, उज्जैन में एक हजार 603 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 226 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 78, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 341, एक्टिव मरीजों की तादाद 202 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 25, नीमच में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 111 में से एक्टिव मरीज 217 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 13, बड़वानी में कुल एक हजार 61 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 107 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 14 एवं सागर में एक हजार 15 कुल मरीजों में से 170 एक्टिव एवं मरने वालों की तादाद 46 है। प्रदेश में एक भी जिले में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य नहीं है।
—–
कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने भोपाल जिले में बारिश और कीट से फसलों को हुए नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रभावित फसलों का तत्काल सर्वे प्रारंभ कर किसानों को नियमानुसार हरसंभव मुआवजा दिलाया जाए। मंत्री श्री पटेल ने बैरसिया विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम परवलिया सड़क और रातीबढ़ में फसलों का निरीक्षण किया।
—–
ईसा पूर्व पहली शताब्दी में गुजरात स्थित भरूच बंदरगाह से उज्जैन के व्यापारी अंतर्राष्ट्रीय व्यापार करते थे। इस क्षेत्र का सामान महिष्मति (आज का महेश्वर) के रास्ते भरूच (तत्कालीन नाम बेरीगाजा) के बंदरगाह पर ले जाकर विदेश भेजा जाता था। यह जानकारी आज श्अंडर वाटर ऑर्कियोलॉजी इन इण्डियाश् की वेब सीरीज की चौथी व्याख्यान-माला में मेरीन ऑर्कियोलॉजी के मुख्य तकनीकी अधिकारी डॉ. ए.एस. गौर ने दी। हजारों साल पहले बेहतरीन समुद्र तट होने के कारण विश्व के प्रमुख व्यापारी भारत की ओर सर्वाधिक आकर्षित होते रहे हैं।
—–
पूरे मध्यप्रदेश में बारिश का दौर जारी है। वहीं राजधानी भोपाल में एक बार फिर से मौसम बदलने लगा है। मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले 24 घंटों में मध्य प्रदेश के सभी जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश होने का अलर्ट जारी किया है। वहीं राजधानी भोपाल में 28 अगस्त को 24 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने और बारिश होने का अनुमान है।
मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी से एक नया सिस्टम बन रहा है। यदि पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ा तो भोपाल पहुंच जाएगा। यहां कम से कम 2 दिन तेज आंधी और बारिश होने की संभावना है। 27 अगस्त से एक बार फिर से तेज बारिश का दौर शुरू होने की उम्मीद है।
मौसम विभाग नें आने वाले 24 घंटों में उमरिया, कटनी, जबलपुर, पन्ना, दमोह और सागर जिलों में तेज बारिश की संबावना जताई है। यहां पर मौसम विभाग ने येलो अलर्ट भी जारी किया है। साथ ही साथ रीवा संभाग, अनूपपुर, डिंडोरी, शहडोल, सिवनी, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, मंडला, बालाघाट, छतरपुर और टीकमगढ़ जिलों में भारी बारिश के साथ बिजली गिरने की संभावना भी जताई है।
—–
इंदौर की पलासिया थाने की पुलिस ने तीन युवतियों की शिकायत पर प्यारे मियां सहित कुल 6 आरोपियों पर प्रकरण दर्ज किया है। इन युवतियों ने आरोप लगाया है कि प्यारे मियां अपने इंदौर स्थित अड्डों पर भी उनसे अश्लील कृत्य करवाता था। उन्हें सबके सामने ग्लास पार्टी और न्यूड डांस के लिए मजबूर किया जाता था।
पीड़िताओं ने बताया कि प्यारे मियां उन्हें लालाराम नगर स्थित बंगले पर लाता था, यहां इंदौर के बड़े गुंडे-बदमाश, व्यापारी, प्रापर्टी कारोबारी, एडवोकेट मित्र शराबखोरी करते थे। फिर उनके सामने न्यूड डांस कराया जाता था। कुछ लोग नशा करने के बाद उनका शोषण भी करते थे।
नाबालिग लड़कियों से यौन शोषण के मामले में आरोपी प्यारे मियां के जेल जाने के बाद मंगलवार को भोपाल पुलिस का एक दल इंदौर आया था। प्यारे मियां का शिकार बनी पांच नाबालिग लड़कियों को टीम अपने साथ लेकर आई थी। पांचों नाबालिगों ने इंदौर स्थित प्यारे मिया के अड्डों की सूचना दी थी। इनमें पलासिया इलाके के लालाराम नगर स्थित मकान में ग्लास पार्टी, न्यूड डांस और अश्लील कृत्य करवाए जाने की बातें उन्होंने पुलिस को बताई हैं।
तीन युवतियों के बयान के आधार पर पलासिया पुलिस ने प्यारे मियां और अन्य पर यौन शोषण व अन्य धाराओं में तीन केस दर्ज किए हैं। हालांकि इसमें ज्यादातर आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं और अलग-अलग जिलों की जेलों में बंद हैं। इन्हें इंदौर पुलिस प्रोटेक्शन वारंट पर इंदौर लाकर पूछताछ करेगी ।
—–
मध्य प्रदेश के रायसेन के ओबेदुलागंज ब्लॉक में स्वाथ्य विभाग को शायद इंसानों और पशुओं में कोई अंतर नहीं दिखता। तभी तो लापरवाही की हद पार करते हुए विभाग ने पशुओं और इंसानों को एक साथ होम क्वारंटाइन कर दिया।
दरअसल, 17 अगस्त को खसरोद ग्राम में एक युवक कोरोना संक्रमित पाया गया। स्वास्थ्य विभाग ने उसे तो कोविड सेंटर भेज दिया, लेकिन उसके परिजनों को एक टपरिया में पशुओं (गाय-भैसों) के साथ होम क्वारंटाइन कर दिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को नहीं दी। ग्रामीणों के सौतेले व्यवहार के चलते परिजनों को खाने-पीने के लाले पड़ रहे हैं। न खाने को राशन है और न पीने को पानी। ये लोग बारिश का पानी पीने को मजबूर हैं।
पीड़ित परिजनों ने बताया कि जब से उन्हें कवारेंटीन किया गया, न स्वाथ्य विभाग के अधिकारी उनकी सुध लेने आये हैं और न ही कोई प्रशासनिक अधिकारी। यहां तक कि खुद उनके द्वारा स्वास्थ्य विभाग, तहसीलदार और वरिष्ठ अधिकारियों को कोरोना पॉजिटिव आने की सूचना दी गई थी, उसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग एक दिन बाद गाड़ी भेजकर उनके बेटे को भोपाल कोविड सेंटर ले गया। बता दें कि कोरोना संक्रमित मरीज की मां आंगनबाड़ी सहायिका के रूप में कार्यरत हैं। इस विषय पर जब प्रशासनिक अधिकारियों से बात की गई तो उन्होंने जवाब दिया कि उनके संज्ञान में यह मामला नहीं है।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
प्रदेश की सहकारी संस्थाओं में अब सांसद और विधायक भी अध्यक्ष बन सकेंगे। शिवराज सरकार ने इसके आड़े आ रहे प्रावधान को हटा दिया है। इसके लिए मसहकारिता विभाग ने मध्यप्रदेश सहकारी सोसायटी अधिनियम में संशोधन के लिए अध्यादेश जारी किया है।
इसके तहत अब कोई भी संसद या विधानसभा के सदस्य के रूप में निर्वाचित होने वाला व्यक्ति भी अध्यक्ष बन सकेगा। इसके साथ ही किसी शीर्ष या केंद्रीय संस्था में अध्यक्ष नहीं होने की सूरत में पदस्थ प्रशासक को सलाह देने के लिए एक समिति बनाई जाएगी। इसमें पांच सदस्य होंगे।
इनमें तीन ऐसे सदस्य रहेंगे, जो संचालक मंडल के सदस्य चुने जाने की पात्रता रखते होंगे। इसके अलावा पंजीयक सहकारिता और वित्त विभाग का एक प्रतिनिधि भी समिति में रहेगा। इसके साथ ही सरकार ने यह भी तय किया है कि सहकारी समितियों में अब शासन की अंशपूंजी 25 फीसद अधिक रखी जा सकेगी।
—–
पितरों के तर्पण करने का पितृपक्ष अथवा कनागत का शुभारंभ 1 सितंबर से हो रहा है। पितृपक्ष का यह पर्व सर्वपितृ अमावस्या 17 सितम्बर तक चलेगा। इस बार पितृपक्ष में पुष्य नक्षत्र का योग रहेगा, जिससे इन दिनों में भी आमजन खरीदारी कर सकेंगे।
इस बार पितृपक्ष में सात सर्वार्थ सिद्धि योग, पांच सिद्धि योग, सात अमृत योग, एक अमृत सिद्धि योग, एक त्रिपुष्कर योग के साथ 13 सितंबर को रवि पुष्य नक्षत्र भी आएगा जो कि सोमवार की दोपहर तक रहेगा। पुष्य नक्षत्र व अन्य शुभ योगों के कारण इस बार पितृपक्ष में पितरों की कृपा बरसेगी और लोग ज्वेलरी, वाहन, इलेक्ट्रोनिक्स उपकरण, गृह उपयोगी वस्तुओं की खरीदारी कर सकेंगे।
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार भारतीय धर्म ग्रंथों में मनुष्य को तीन प्रकार के ऋणों से मुक्त होना आवश्यक बताया गया है इनमें सर्वप्रथम देवऋण, ऋषि ऋण और पितृ ऋण बताए गए हैं। इन ऋणों से मुक्ति के लिए अच्छे कर्म व दान पुण्य का सर्वाधिक महत्व बताया गया है। भाद्रपक्ष शुक्ल्पक्ष पूर्णिमा से अश्वनी कृष्ण पक्ष अमावस्या के बीच जो भी दान धर्म किया जाता है वह सीधा पितरों को प्राप्त होने की मान्यता है। पितरों को भोजन ब्राह्मण और पक्षियों के माध्यम से पहुंचता है।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में बुधवार 26 अगस्त का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। ब्रहस्पतिवार 27 अगस्त को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।