मंगलवार 01 सितंबर का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में मंगलवार 01 सितंबर का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन, अब आप शरद खरे से समाचार सुनिए.
—–
पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का मंगलवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। राजकीय सम्मान के साथ लोधी श्मशान घाट पर प्रणब दा पंचतत्व में विलीन हो गए। इससे पहले उनके पार्थिव शरीर को आर्मी हॉस्पिटल (आरएंडआर) से दस, राजाजी मार्ग स्थित उनके सरकारी आवास में लाया गया। उनके बेटे और कांग्रेस नेता अभिजीत मुखर्जी ने उन्हें मुखाग्नि दी। कोरोना काल की वजह से श्मशान घाट पर पूर्व राष्ट्रपति का परिवार और रिश्तेदार पीपीई किट में उपस्थित रहे। प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी का इस मौके पर दर्द छलक गया। उन्होंने बताया कि वे पिता को बंगाल ले जाना चाहते थे लेकिन उनकी ये इच्छा अधूरी ही रह गई।
अभिजीत मुखर्जी ने कहा कि उनकी उपस्थिति हमारे परिवार के लिए बड़ी थी, हम उसे याद करेंगे। उनका कहना है कि कोरोना उनकी मौत का मुख्य कारण नहीं था, बल्कि उनकी ब्रेन सर्जरी से उनकी सेहत पर गहरा असर पड़ा। उन्होंने कहा कि हम उन्हें पश्चिम बंगाल ले जाना चाहते थे लेकिन कोरोना वायरस के चलते प्रतिबंधों के कारण हम ऐसा नहीं कर पाए, जिसका हमें मलाल रहेगा।
अभिजीत ने कहा कि उनकी योजना पश्चिम बंगाल के जंगीपुर में अपने घर की एक मंजिल को पिता की याद में म्यूजियम और लाइब्रेरी में बदलने की है। उन्होंने कहा कि वह चाहेंगे कि सरकार उनके पिता के सम्मान में डाक टिकट जारी करे। अभिजीत मुखर्जी ने कहा कि उनके पिता ने उनसे कहा था कि राजनीति में किसी से बदला लेने से बचना चाहिए। उनका संदेश स्पष्ट था और मैं इसे हमेशा याद रखूंगा।
—–
देश के गृह मंत्री अमित शाह ने एम्स से डिस्चाार्ज होने के बाद पहली बार अपनी तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली है। अमित शाह को कोराना हो गया था तब वे मेदांता अस्पताल में भर्ती हुए थे। वहां से डिस्चार्ज होने के बाद उन्हें फिर कुछ समस्या हुई थी जिसके चलते कोविड के बाद की देखभाल के लिए वह एम्स् में भर्ती हुए थे। एम्स से उन्हें् 31 अगस्त को डिस्चार्ज किया गया।
01 सितंबर की सुबह वह वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कैबिनेट की बैठक में शामिल हुए। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में, दिवंगत पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी गई। अमित शाह ने भी मौन रहकर श्रद्धांजलि देती हुई अपनी तस्वीर, ट्विटर पर पोस्टट की। अमित शाह को 18 अगस्तं को एम्सस में भर्ती किया गया था। बताया जाता है कि वे, वहां से भी काम किया करते थे। सुबह के वक्त वे फाइलें निपटाया करते थे।
—–
अनलॉक-4 में जहां 7 सितंबर से मेट्रो की शुरुआत होने जा रही है तो रेलवे ने भी ट्रेन की संख्या बढ़ाने का फैसला किया है। रेल मंत्रालय ने कहा है कि और अधिक स्पेशल ट्रेन पर विचार किया जा रहा है और इसके लिए राज्य सरकारों से सलाह-मशविरा जारी है। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से मार्च अंत से ही समस्त यात्री रेल का परिचालन बंद है। अभी रेलवे, केवल 230 स्पेशल ट्रेन चला रहा है, जिनमें 30 राजधानी हैं।
गौरतलब है कि आने वाले महीनों में दशहरा, दीपावली, छठ पूजा जैसे कई त्योहार आने वाले हैं, जिनमें यात्रियों की संख्या काफी बढ़ जाती है। इस बार ट्रेन की संख्या बेहद सीमित होने की वजह से लोगों को आवाजाही में दिक्कत हो सकती है। इसको ध्यान में रखते हुए रेलवे ने कुछ और स्पेशल ट्रेन के परिचालन का फैसला किया है।
—–
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन की व्यवस्था खत्म कर दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि उत्तर प्रदेश में अब बाजार सुबह 09 बजे से रात्रि 09 बजे तक खोले जाएं। इसके अलावा प्रदेश के बाजारों की साप्ताहिक बन्दी, रविवार को निर्धारित की जाए। ऐसे में अब शनिवार को भी बाजार खुलेंगे और एक तरह से वीकेंड लॉकडाउन समाप्त हो गया है।
—–
भोपाल में रेल से यात्रा करने वाले लोगों के लिए एक राहत भरी खबर है। अब भोपाल और दिल्ली के बीच, सफर का समय 45 मिनट तक कम होने जा रहा है। अक्टूबर में नए स्पीड प्रोटोकॉल लागू होने के बाद तीसरी रेल लाइन पर रेलों का संचालन होने से यह परिवर्तन होगा। कमिश्नर रेलवे सेफ्टी ने नए स्पीड प्रोटोकॉल को प्रारंभिक मंजूरी दे दी है। तीसरी रेलवे लाइन पर भोपाल से लेकर बीना तक और उससे आगे, ग्वालियर तक रेलों के संचालन की तैयारी है।
भोपाल एक्सप्रेस लगभग आधा घंटा और शताब्दी एक्सप्रेस 45 मिनिट पहले गंतव्य पर पहुंच सकेगी। लॉकडाउन के समय विभिन्न रेल मंडलों ने अपने-अपने क्षेत्र के रेलवे ट्रैक को बदलने से लेकर उनमें सुधार तक के काम निपटाए हैं। जिनसे अब स्पीड बढ़ाने में मदद मिल सकेगी।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस मामले की सुनवाई कर रही विशेष सीबीआई अदालत में सभी पक्षों की दलीलें, गवाही, जिरह सुनने के बाद मंगलवार को मामले की सुनवाई पूरी कर ली गयी। मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश, बुधवार 02 सितंबर से अपना फैसला लिखना आरंभ करेंगे।
इससे पहले वरिष्ठ वकील मृदल राकेश, आईबी सिंह और महिपाल अहलूवालिया ने आरोपियों की तरफ से मौखिक दलीलें पेश कीं। इसके बाद सीबीआई के वकील ललित सिंह, आरके यादव और पी. चक्रवर्ती ने भी मौखिक दलीलें दीं।
दोनों पक्षों की दलीलें पेश होने के बाद विशेष न्यायधीश एस.के. यादव ने कहा कि वे बुधवार से फैसला लिखवाना आरंभ करेंगे। दशकों पुराने इस मामले में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, साक्षी महाराज, साध्वी रितंभरा, विश्व हिंदू परिषद नेता चंपत राय सहित 32 आरोपी हैं।
—–
हिमाचल प्रदेश सरकार ने अनलॉक-4 के तहत धार्मिक स्थल खोलने का सोमवार को फैसला किया, मगर सरकारी बसों की अंर्तराज्यीय आवाजाही की अनुमति नहीं होगी। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मार्च में धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया गया था। राष्ट्रीय कार्यकारी समिति के 29 अगस्त के निर्देश के तहत, कोविड-19 प्रकोप को फैलने से रोकने के लिए लागू की गई पाबंदियां 30 सितंबर तक जारी रहेंगी।
—–
जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर सेक्टर में सीआरपीएफ की कमान पहली बार महिला पुलिस अफसर को सौंपी गई है। चारु सिन्हा को यहां इंस्पेक्टर जनरल (आईजी) की पोस्ट पर तैनात किया गया है। अभी वे इसी पद पर जम्मू सीआरपीएफ में तैनात थीं।
चारु सिन्हा 1996 बैच की तेलंगाना कैडर की आईपीएस अधिकारी हैं। यह पहला मौका नहीं है जब उन्हें एक कठिन काम सौंपा गया है। इससे पहले वे बिहार सेक्टर में सीआरपीएफ आईजी रही हैं। उन्होंने यह जिम्मेदारी अप्रैल 2018 में सम्हाली थी। वहां उन्हें नक्सलियों के खिलाफ मुहिम की अगुआई करने भेजा गया था।
—–
बच्चों की नाक और गले में कई हफ्तों तक कोरोना वायरस रह सकता है। इस दौरान ऐसा भी हो सकता है कि उनमें इसके कोई लक्षण न दिखें। यह दावा वाशिंगटन के चिल्ड्रन नेशनल हॉस्पिटल की रिसर्च में सामने आया है। रिसर्चर्स का कहना है कि अध्ययन बताता है कि कैसे कोरोनावायरस गुपचुप तरीके से अपना संक्रमण फैला सकता है।
कनाडा के रिसर्चर्स ने यह अध्ययन साउथ कोरिया में किया है। उनका कहना है कि यह देखा गया है कि बच्चों में कोरोना का संक्रमण गुपचुप तरीके से फैल रहा है। रिसर्च में सामने आया कि 85 संक्रमित बच्चे टेस्टिंग से सिर्फ इसलिए दूर हो गए, क्योंकि उनमें लक्षण नहीं दिख रहे थे। कोविड-19 की जांच भी उनकी की गई जिनमें लक्षण दिखे। ऐसा आगे भी हुआ तो कम्युनिटी में एसिम्प्टोमैटिक बच्चों का दायरा बढ़ सकता है।
इस रिसर्च के नतीजे उस समय सामने आए हैं, जब अमेरिका की सबसे बड़ी स्वास्थ्य संस्था, सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) का विरोध हो रहा है। सीडीसी ने हाल ही में एक गाइडलाइन जारी की थी जिसके मुताबिक, एसिम्प्टोमैटिक मरीजों की जांच कराने की आवश्यकता नहीं है। यह तब तक करने की आवश्यकता नहीं है, जब तक वे किसी कोरोना के मरीज के संपर्क में न आये हों।
———
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद 37 लाख 02 हजार 860 पहुंच गई है। इसमें से सक्रिय मरीजों की तादाद 07 लाख 89 हजार 353 और रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 28 लाख 47 हजार 364 है। इस बीमारी से हुईं मृत्यु का आंकड़ा 65 हजार 555 हो गया है। कोरोना संक्रमितों के एक्टिव मरीजों की तादाद जिन राज्यों में दस हजार से अधिक हो गयी है उनमें महाराष्ट्र में सबसे अधिक 01 लाख 94 हजार 56 एक्टिव मरीज वर्तमान में हैं।

इसके बाद आंध्र प्रदेश में 01 लाख 276 एक्टिव मरीज, कर्नाटक में 87 हजार 235 एक्टिव मरीज, उत्तर प्रदेश में 55 हजार 538, तमिलनाडु में 52 हजार 578, तेलंगाना में 31 हजार 699, उड़ीसा में 28 हजार 719, पश्चिम बंगाल में 25 हजार 280, केरल में 23 हजार 488, असम में 23 हजार 273, बिहार में 16 हजार 70, गुजरात में 15 हजार 533, पंजाब में 15 हजार 512, दिल्ली में 14 हजार 626, राजस्थान में 14 हजार 372, छत्तीसगढ़ में 14 हजार 237, झारखण्ड में 14 हजार 96, मध्य प्रदेश में 13 हजार 914 और हरयाणा में 11 हजार 371 एक्टिव मामले हैं।
————
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में मंगलवार 01 सितंबर का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन। बुधवार 02 सितंबर को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)