सोमवार 07 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में सोमवार 07 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
—–
प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव दिसंबर तक होंगे, राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव के लिए तैयारियां पूरी कर ली हैं। विधानसभा उपचुनाव की अधिसूचना और कोरोना संक्रमण में मतदान प्रक्रिया व व्यवस्थाओं को देखने के बाद राज्य निर्वाचन आयोग उसी पैटर्न पर स्थानीय चुनावों की अधिसूचना जारी करेगा।
निकाय और पंचायत की वार्ड परिसीमन की अधिसूचना जारी होने के बाद आयोग मतदाता सूची में फेरबदल करेगा। इसमें वार्डों के अनुसार, मतदाताओं का विभाजन करेगा। उपचुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद इन जिलों के कलेक्टर सहित अन्य मैदानी अधिकारी चुनाव कराने में जुट जाएंगे।
बताया जाता है कि निकाय चुनाव पिछले वर्ष नवंबर में ही होने थे, लेकिन परिसीमन और नगर निगमों के विस्तार को लेकर चुनाव नहीं हो पाए थे। यह चुनाव इस साल नवंबर तक होना मुश्किल है क्योंकि अक्टूबर-नवंबर में उपचुनाव होने की संभावना है।
आयुक्त मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग बसंत प्रताप सिंह के अनुसार, स्थानीय चुनाव दिसंबर तक कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। विधानसभा उपचुनाव को देखने के बाद उसी पैटर्न पर कोरोना काल के बीच निकाय और पंचायतों में चुनाव कराए जाएंगे। कोरोना के चलते चुनाव पिछड़ा है।
—–
कमलनाथ सरकार के एक और निर्णय की फाइल को मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बंद कर दिया है। मध्यप्रदेश में अब कलेक्टरों के पदनाम में बदलाव नहीं किया जाएगा। कमलनाथ सरकार के समय हुए प्रयासों की फाइल को शिवराज सरकार ने बंद कर दिया है। उस आदेश को भी निरस्त कर दिया गया है जिसके तहत मध्यप्रदेश में कलेक्टरों का पदनाम बदलने की कवायद शुरू की गई थी। बता दें कि 2018 में सीएम बनने के बाद कमलनाथ ने कलेक्टर का पदनाम बदलने की घोषणा की थी।
कलेक्टरों का पदनाम बदलने के लिए 5 आइएएस अफसरों की एक कमेटी बनाई गई थी। नाम को लेकर मंथन चलता रहा और डेढ़ साल तक सत्ता में रहने के बाद भी सरकार निष्कर्ष तक नहीं पहुंच पाई थी। उसके बाद मार्च 2020 में कमलनाथ की सरकार गिर गई। अब शिवराज सरकार ने उस आदेश और कमेटी को निरस्त कर दिया है जो कलेक्टरों का पदनाम बदलने के लिए बनाई गई थी।
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों में प्रापर्टी की खरीदी बिक्री पर स्टाम्प ड्यूटी में कमी करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने मंत्रालय में जानकारी दी कि कोविड-19 की वजह से व्यापक पैमाने पर आर्थिक गतिविधियाँ प्रभावित हुई हैं। रियल स्टेट सेक्टर पर भी इसका बड़ा प्रभाव पड़ा जिसके फलस्वरूप प्रापर्टी खरीदने, बेचने के इच्छुक नागरिक भी विपरीत स्थितियों का सामना कर रहे हैं। राज्य सरकार ने प्रापर्टी की खरीदी बिक्री पर स्टाम्प ड्यूटी पर 3 प्रतिशत के स्थान पर 1 प्रतिशत सेस देने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर व्यक्ति का, परिवार का एक सपना होता है कि उसका अपना एक घर हो, जहां वो अपने परिवार के साथ सुख से रह सके।
कोरोना काल में आर्थिक गतिविधियां लॉकडाउन के वजह से लगभग समाप्त हो गई थीं। रियल स्टेट व्यवसाय पर भी इससे विपरीत प्रभाव पड़ा था। लोगों की वित्तीय क्षमताएं सीमित हो जाने के कारण संपत्तियों का क्रय-विक्रय भी प्रभावित हुआ है। अब यह आवश्यक हो गया है कि आर्थिक गतिविधियाँ बढ़े और रियल स्टेट क्षेत्र में भी कैसे बूम आए, इसकी चिंता करनी होगी। इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे।
—–
आम लोगों में यह धारणा बन गई है कि कोरोना सिर्फ उन्हीं के लिए खतरनाक होता है, जिन्हें डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, कैंसर जैसी कोई बीमारी है। हकीकत में ऐसा नहीं है। मध्य प्रदेश में कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों में 41 फीसद ऐसे थे, जिन्हें कोरोना के अलावा और कोई बीमारी नहीं थी। जबकि, 59 फीसद मृतकों में कोरोना के अलावा दूसरी बीमारियां भी थीं। अप्रैल से लेकर 27 अगस्त तक प्रदेश में कोरोना से 1282 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने इन मौतों की वजह व उम्र के लिहाज से विश्लेषण किया तो यह जानकारी सामने आई है। यह भी पता चला है कि कोरोना से जितने मरीजों की मौत हुई है, उनमें 58 फीसद की उम्र 65 साल से ऊपर थी। 31 फीसद मरीज 45 से 64 साल वाले थे।
—–
इस बार शक्ति की उपासना के लिए उपासकों को श्राद्ध पक्ष के बाद 29 दिन इंतजार करना होगा। हर साल श्राद्ध पक्ष के समाप्त होने के अगले दिन शारदीय नवरात्रि की प्रतिपदा तिथि पर घट स्थापना होती है लेकिन इस बार तीन साल में एक बार आने वाले अधिकमास की वजह से ऐसा नहीं होगा। इसके चलते शारदीय नवरात्रि एक माह आगे खिसक गई है।
इस बार चातुर्मास के चार के बजाय पांच माह और दो अश्विन मास आने से नवरात्रि भी एक माह विलंब से मनाई जाएगी। ज्योतिर्विदों के अनुसार 17 सितंबर को सर्वपितृमोक्ष अमावस्या पर श्राद्ध पक्ष समाप्त होगा। इस दिन ज्ञात-अज्ञात दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिए तर्पण किया जाएगा। हर वर्ष इसके अगले दिन से माता के नौ स्वरूप की आराधना के पर्व शारदीय नवरात्रि की शुरुआत होती है लेकिन इस बार 18 सितंबर से 29 दिनी अधिकमास लग जाएगा। यह 16 अक्टूबर तक रहेगा। इसलिए 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि की शुरुआत होगी।
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इसके बाद 25 अक्टूबर को दशहरा, 14 नवंबर को दीपावली, 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी के साथ चातुर्मास समाप्त होगा। इसके बाद शुभ कार्य जैसे शादी, मुंडन, गृह प्रवेश आदि की शुरुआत होगी। आचार्य शिवप्रसाद तिवारी ने बताया कि शास्त्रों में बताया गया है कि हर तीन साल में आने वाले अधिकमास में पूजा-पाठ और धर्म-ध्यान का 100 गुना फल मिलता है।
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गौण खनिज खदानों के लीज धारकों को 75 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के मूल निवासियों को देना होगा। दागी अधिकारियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, भ्रष्ट अधिकारियों को तत्काल सेवा से पृथक किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खनिज से संबंधित समस्त प्रक्रियाओं को पारदर्शी बनाते हुए ऑनलाइन व्यवस्था सुदृढ़ की जाए। प्रदेश में उपलब्ध मुख्य खनिज तथा गौण खनिज, रायल्टी का बड़ा स्रोत है। उत्खनित खनिज की शत-प्रतिशत रायल्टी राज्य को प्राप्त हो, इसके लिए हमें हरसंभव प्रयास करना होंगे। राज्य शासन खनिज संसाधनों की सुरक्षा व प्रबंधन के लिए पृथक बल बनाने पर भी विचार कर सकती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में गौण खनिज नियम तथा जिला खनिज प्रतिष्ठान नियम में प्रस्तावित संशोधनों पर विचार-विमर्श कर रहे थे।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
सोशल मीडिया के जरिए अपराध को बढ़ावा देने और रेट तय कर अपराध करने वाले हिस्ट्रीशीटर दुर्लभ कश्यप की देर रात हत्या कर दी गई। उज्जैन के हमालवाड़ी क्षेत्र में गैंगवार के बाद दुर्लभ गैंग के सरगना को चाकू से गोद दिया गया। वहीं, दूसरे पक्ष के बदमाश शाहनवाज को गोली लगी है, जिसकी हालात नाजुक होने पर रात में इंदौर रैफर कर दिया गया। पुलिस की मानें तो दुर्लभ पर हत्या का प्रयास, लूट, चोरी समेत कई केस दर्ज हैं। कई बार जेल भी जा चुका था। वह कम उम्र के लड़कों को अपनी गैंग में शामिल करके वारदात को अंजाम देता था।
एएसपी रूपेश द्विवेदी ने बताया कि जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में हमालवाड़ी स्थित चाय की दुकान के सामने की घटना है। करीब डेढ़ बजे दुर्लभ कश्यप अपने दोस्तों के साथ वहां पहुंचा था। यहां पर शहनवाज, उसका भाई और उसके कुछ साथी भी पहुंचे। किसी बात को लेकर उनके बीच विवाद हुआ, जिसके बाद दुर्लभ ने शहनवाज पर फायर किया, जिससे वह घायल हो गया। इसके बाद शहनवाज के साथियों ने दुर्लभ को चाकू से गोद दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बाद में शहनवाज को अस्पताल लेकर गए, जहां से उसे इंदौर रैफर कर दिया गया। मामले में कुछ आरोपी और कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। दुर्लभ पर करीब 8 से 9 गंभीर अपराध दर्ज थे। वहीं, शहनवाज, उसके भाई और साथियों पर भी कई गंभीर अपराध दर्ज हैं।
—–
कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 42 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 42 लाख 15 हजार 585 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 23 लाख 71 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 08 लाख 86 हजार 36 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 32 लाख 57 हजार 152 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 71 हजार 774 है। अब तक देश में कुल 04 करोड़ 95 लाख 51 हजार 507 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। वहीं, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा साढ़े 73 हजार से ज्यादा हो गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 39 हजार 772 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 73 हजार 574 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 16 हजार 115, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 55 हजार 887 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 1 हजार 572 है। प्रदेश में अब तक 15 लाख 20 हजार से ज्यादा लोगों का कोविड टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद एक हजार से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 14 हजार 591 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 04 हजार 34 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 418 है, भोपाल में 11 हजार 634 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 1 हजार 667, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 306, ग्वालियर में 06 हजार 348 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 01 हजार 745 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 69, जबलपुर में कुल 04 हजार 934 में से एक्टिव मरीजों की संख्या 01 हजार 139 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 96, मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 2 हजार 158 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 137 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 15, उज्जैन में एक हजार 950 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 326 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 80, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 881 एक्टिव मरीजों की तादाद 401 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 30, नीमच में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 337 में से एक्टिव मरीज 251 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 18, बड़वानी में कुल 01 हजार 258 में से एक्टिव केसेज 174 एवं 16 लोग काल कलवित हुए हैं। सागर में कुल एक हजार 256 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 174 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 16, शिवपुरी में एक हजार 232 मरीजों में से एक्टिव की तादाद 456 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 08, रतलाम में कुल एक हजार 225 मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 321 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 23, धार में कुल 01 हजार 69 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 267 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 17, विदिशा में कुल 01 हजार 64 मरीजों में से एक्टिव मरीज 234 एवं जिनका निधन हुआ उनकी तादाद 23, तथा खण्डवा में कुल 01 हजार 27 मरीजों में से 122 एक्टिव मरीज और जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 24 है। प्रदेश में एक भी जिले में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य नहीं है, इसके साथ ही सिर्फ उमरिया में ही मरीजों की तादाद 200 से कम है, शेष सभी जिलों में मरीजों की तादाद 200 से ज्यादा पहुंच गया है।

—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में सोमवार 07 सितंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 08 सितंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———