08 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में मंगलवार 08 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को कैबिनेट की बैठक हुई है। इस बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए हैं। बैठक संपन्न होने के बाद गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इसमें हुए फैसलों के बारे में जानकारी दी है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने बड़ा फैसला किया है। अब फीवर क्लिनिक में फ्री में कोरोना टेस्ट होगा।
कैबिनेट के बारे में जानकारी देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के सभी टेस्ट अब पूरी तरह से निशुल्क और फीवर क्लिनक पर होंगे। इसके लिए जरूरत पड़ने पर फीवर क्लिनिक की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। कोरोना मरीजों के इलाज के प्रदेश में आईसीयू और ऑक्सीजन के बेड की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। कोरोना से निपटने के लिए 30 हजार जनरल बेड पहले से तैयार हैं।
शिवराज कैबिनेट ने कोरोना को लेकर एक और महत्वपूर्ण फैसला लिया है। अब गरीबों को 10 रुपये में भरपेट पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने के लिए कैबिनेट ने 44 दीनदयाल रसोई खोलने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही प्रदेश में दीनदयाल रसोई की संख्या बढ़ कर अब 100 हो जाएगी।
वहीं, गृह मंत्री ने कहा कि अनलॉक में लोग सावधानी नहीं बरते रहे हैं, इसलिए कोरोना तेजी से फैल रहा है। नगरीय प्रशासन और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग प्रचार-प्रसार के लिए जागरूकता अभियान चलाएगा। बसों में सफर करने वाले सभी यात्री अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर बैठें। मीटिंग मे सरकार ने ऑक्सीजन के इंतजाम के लिए विकल्प तलाशने के निर्देश भी दिए. मीटिंग में कहा गया कि महाराष्ट्र से ऑक्सीजन नहीं मिलने पर वहां की सरकार से बात की जाएगी। जरूरत पड़ने पर एमपी सरकार कोर्ट भी जाएगी।
—–
मध्यप्रदेश में तेज बारिश के बाद लगातार बीते कई दिनों से लोगों को उमस और गर्मी परेशान कर रही है। बीते एक सप्ताह से लगातार हो रही तेज धूप ने लोगों को बेहाल कर दिया है। मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में मध्यप्रदेश में कोई मानसूनी सिस्टम सिस्टम सक्रिय न होने से बारिश पर ब्रेक लगा हुआ है। बारिश रुकने के कारण तापमान बढ़ोत्तरी भी हुई है।
मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले 24 घंटों में ग्वालियर संभाग, चंबल संभाग, जबलपुर, शहडोल, रीवा, सागर, भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, शाजापुर, सतना, रतलाम में गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है। वहीं 10 सितंबर को बंगाल की खाड़ी में एक निम्न दबाव का क्षेत्र बन सकता है, जिससे मानसून की गतिविधियां मध्य प्रदेश में बढ़ सकती हैं। सप्ताह के अंत में या अगले सप्ताह की शुरुआत में पश्चिमी राजस्थान से मानसून की वापसी शुरू हो सकती है। यानि मध्य प्रदेश में कहीं-कहीं हल्की बौछारें पड़ सकती हैं।
—–
—–
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि मध्यप्रदेश की ओपन बुक परीक्षा प्रणाली की सभी ओर सराहना हो रही है। देश के अन्य राज्यों में भी इस परीक्षा प्रणाली को अपनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों द्वारा ओपन बुक परीक्षा के लिये घोषित समय-सारणी के अनुसार समस्त पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं 30 सितम्बर तक पूर्ण कर ली जायेंगी। परीक्षा परिणाम 30 अक्टूबर तक घोषित किये जायेंगे।
उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम आंतरिक मूल्यांकन का 50 प्रतिशत तथा विगत सत्र अथवा सेमेस्टर के प्राप्तांकों का 50 प्रतिशत जोड़कर घोषित किया जायेगा। इसी तरह स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के लिये ओपन बुक परीक्षा के प्राप्तांक का 50 प्रतिशत तथा पूर्व वर्षों के प्राप्तांक का 50 प्रतिशत जोड़कर परीक्षा परिणाम घोषित किया जायेगा।
—–
आकाशमंडल में 9 व 10 सितंबर को दुर्लभ संयोग बनने जा रहा है। इस दौरान 9 में से 8 ग्रह उच्च व अपनी राशि में रहेंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार 9 व 10 सितंबर को पैदा हुए बालक बेहद भाग्यशाली होंगे। इस समय में जन्में बालक धनवान, भाग्यशाली, सर्वगुण सम्पन्न व महान व्यक्ति होंगे, क्योंकि जब 2 या 3 ग्रह कुंडली में उच्च व स्वराशि में होते हैं तब जातक भाग्यशाली माना जाता है, लेकिन इन दो दिनों में 9 में से 8 ग्रह अपनी राशि व उच्च राशि में होंगे।
9 व 10 सितंबर को मंगल अपनी राशि मेष में होंगे जो रूचक योग बनाएंगे। चंद्रमा अपनी उच्च राशि वृषभ में रहेंगे, जिससे जातक सुंदर व धनवान होगा। राहु अपनी उच्च राशि मिथुन व केतु धनु राशि में होंगे। बुध अपनी राशि कन्या में रहेंगे। वहीं गुरु धनु राशि में, जो उनकी अपनी राशि है।
वहीं शनि मकर स्वयं की राशि में होंगे। इससे ऐसे योग में जन्मे बालकों का स्वयं का मकान होगा व उच्च पद प्राप्त करेगा। ऐसे जातक भाग्यशाली, राजाओं के समान विचार एवं भाग्य का निर्माण करने वाले होंगे। इनकी आर्थिक स्थिति भी बहुत अच्छी रहेगी।
पंचागीय गणना के अनुसार मकर राशि में वक्रीय चल रहे शनि 12 सितंबर को शाम 7.40 पर मार्गीय होंगे। शनिदेव के मार्गीय होते ही देश की अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा। कारखानों में उत्पादन बढ़ेगा, मंदी का दौर खत्म होने से नौकरियों का संकट समाप्त होगा। मार्गीय शनि विभिन्न राशि के जातकों को राहत प्रदान करेंगे। कोरोना संक्रमण में भी स्थिरता आने की संभावना जताई जा रही है।
ज्योतिष के जानकारों ने बताया 11 मई से मकर राशि में वक्रीय चल रहे शनि 12 सितंबर को शाम 7.40 बजे मार्गीय हो रहे हैं। शनि के मार्गीय होते ही धीरे-धीरे सुधार की स्थिति निर्मित होगी। जनजीवन में अनुकूलता का अनुभव होगा। रोजगार के अवसरों में गति आएगी। निजी कंपनियों में भी नौकरियों का संकट खत्म हो जाएगा। मार्गीय शनि का प्रभाव कोरोना महामारी में भी स्थिरता के रूप में देखने को मिलेगा। हालांकि अक्टूबर माह में इसके सकारात्मक परिणाम अधिक दिखाई देंगे। क्योंकि जब भी कोई ग्रह मार्गीय होता है, तो उसके शुभ प्रभाव 27 से 40 दिन में ही नजर आते हैं।
जानकारों ने बताया मार्गीय होते ही शनि अपनी तीसरी दृष्टि से मीन राशि, सातवीं दृष्टि से कर्क राशि तथा दसवीं दृष्टि से तुला राशि को देखेंगे। शनि की तीसरी दृष्टि मित्रगत है, जिससे भारत के अन्य देशों से मित्र संबंध बनेंगे। सातवीं दृष्टि से अनुसंधान के क्षेत्र में प्रगति तथा उन्नति होगी। दसवीं दृष्टि से व्यापार व्यवसाय में भारत के आत्मनिर्भरता वाले पक्ष को गति मिलेगी।
स्वतंत्र भारत की कुंडली वृषभ लग्न की है। इस लग्न का कारक शनि तथा भाग्येश व कर्मेश भी शनि है। लग्न का स्वामी शुक्र है। शनि व शुक्र मित्र ग्रह माने गए हैं। इस दृष्टि से शनि के मार्गीय होते ही देश की समस्याओं के निराकरण के लिए केंद्र सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को आशातीत सफलता मिलेगी।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी के बाद अब कांग्रेस के एक और वरिष्ठ नेता एनपी प्रजापति भी अस्पताल में भर्ती हो गए हैं। बताया जाता है कि उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उन्होंने अपने संपर्क में आने वालों को तत्काल कोरोना टेस्ट कराने का अनुरोध किया है। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनके जल्दी ठीक होने की कामना की है।
मध्यप्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति अभी तक लगातार पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं के संपर्क में रहे। उन्होंने पीसीसी में कुछ प्रेस कांफ्रेंस भी की हैं। अंतिम पत्रकारवार्ता 29 अगस्त को की थी। इसमें उन्होंने किसानों के मुद्दे को लेकर सरकार को घेरा था। इससे पहले पचौरी कोरोना के लक्षण आने के बाद अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं।
राज्य की कमलनाथ सरकार में वित्त मंत्री रहे तरुण भनोत भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुके हैं। सबसे पहले कुणाल चौधरी कोरोना संक्रमित हुए थे। प्रदेश में अब तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी, तुलसीराम सिलावट, स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और कांग्रेस नेता पीसी शर्मा समेत कई राजनेता कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं।
—–
कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 43 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 43 लाख 13 हजार 87 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 24 लाख 65 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 08 लाख 87 हजार 226 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 33 लाख 52 हजार 160 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 72 हजार 105 है। अब तक देश में कुल 05 करोड़ 06 लाख 50 हजार 128 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। वहीं, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा साढ़े 75 हजार से ज्यादा हो गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 39 हजार 948 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 75 हजार 459 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 16 हजार 961, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 56 हजार 909 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 1 हजार 589 है। प्रदेश में अब तक 15 लाख 40 हजार से ज्यादा लोगों का कोविड टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद एक हजार से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 14 हजार 870 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 04 हजार 218 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 421 है, भोपाल में 11 हजार 821 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 1 हजार 751, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 307, ग्वालियर में 06 हजार 534 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 01 हजार 808 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 71, जबलपुर में कुल 05 हजार 147 में से एक्टिव मरीजों की संख्या 01 हजार 351 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 97, मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 2 हजार 179 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 144 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 15, उज्जैन में एक हजार 981 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 340 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 80, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 951 एक्टिव मरीजों की तादाद 438 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 30, नीमच में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 358 में से एक्टिव मरीज 267 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 19 शिवपुरी में कुल 01 हजार 299 में से एक्टिव केसेज 468 एवं 08 लोग काल कलवित हुए हैं। बड़वानी में कुल एक हजार 288 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 190 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 16, सागर में एक हजार 286 मरीजों में से एक्टिव की तादाद 222 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 63, रतलाम में कुल एक हजार 261 मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 336 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 24, धार में कुल 01 हजार 104 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 299 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 17, विदिशा में कुल 01 हजार 92 मरीजों में से एक्टिव मरीज 232 एवं जिनका निधन हुआ उनकी तादाद 23 एवं खण्डवा में कुल 01 हजार 45 मरीजों में से 139 एक्टिव मरीज और जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 25 एवं है। प्रदेश में एक भी जिले में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य नहीं है, इसके साथ ही सिर्फ उमरिया में ही मरीजों की तादाद 200 से कम है, शेष सभी जिलों में मरीजों की तादाद 200 से ज्यादा पहुंच गया है।

—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में मंगलवार 08 सितंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। बुधवार 09 सितंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———