बुधवार 16 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बुधवार 16 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
—–
प्यारे मियां की फर्जी सोसाइटी के मामले में फिल्म कलाकार रजा मुराद भोपाल स्थित श्यामला हिल्स थाने पहुंचे। जहां उनसे प्यारे मियां की सोसाइटी में उनका नाम होने को लेकर पूछताछ की गई है। पुलिस ने उनके बयान दर्ज किए हैं। इस मौके पर रजा मुराद ने कहा कि मेरी प्यारे मियां साहब से कभी मुलाकात नहीं हुई है और न उनसे मेरा कोई संबंध रहा है। उन्होंने अपनी सोसाइटी में जो रजा नाम लिखा था, वो अधूरा सिग्नेचर है। मेरी पहचान रजा से नहीं रजा मुराद से है।
पूछताछ के बाद रजा मुराद ने कहा, मैं सिर्फ लेक व्यू एन्क्लेव वेलफेयर हाउसिंग सोसाइटी का मेंबर हूं, जिसे मैं हर साल सब्सक्रिप्शन देता हूं। जो सोसाइटी के ड्यूज होते हैं। अगर मैं प्यारे मियां की सोसाइटी का मेंबर होता तो ड्यू मैं वहां नहीं देता, मैं उन्हीं को देता। प्यारे मियां से मेरा कोई लेना देना नहीं है। मैंने अभी अपने सिग्नेचर्स देखे, जो उर्दू में किए गए हैं। थोड़ी बहुत मुझे भी अंग्रेजी आती है और वो जो दस्तखत किए गए हैं, उसमें केवल रजा लिखा हुआ है। अधूरा सिग्नेचर है।
रजा मुराद ने आगे कहा कि रजा से हो सकता है लोग मुझे न पहचाने, लेकिन जो मुझे जानते हैं वो मुझे रजा मुराद के नाम से जानते हैं। इसलिए अगर मैं सिग्नेचर करुंगा तो रजा मुराद के ही सिग्नेचर करुंगा। रजा लिखने का कोई मतलब नहीं है। उनसे मेरा कोई लेना देना नहीं है।
—–
जबलपुर के रानी ताल श्मशान घाट में दाह संस्कार के लिए प्लेटफार्म नहीं मिला तो परिजनों ने शव को जमीन पर चिता बनाकर अंतिम संस्कार कर दिया। प्रशासन का कहना है कि चार श्मशानों में अब हर दिन औसत से तीन गुना शव आ रहे हैं। इनमें सामान्य मौतें और कोविड संक्रमित भी शामिल हैं। जमीन पर शव के अंतिम संस्कार का वीडियो हुआ वायरल हो गया है। शहर के मुक्तिधामों में जगह कम पड़ने लगी है। इसलिए अंतिम संस्कार के लिए प्लेटफार्म नहीं मिलने पर जमीन पर अंतिम संस्कार कराना पड़ रहा है। जबलपुर में हर रोज चार श्मशान घाटों में 20 अंतिम संस्कार हो रहे हैं। कोरोना मरीजों की वजह से अस्पताल फुल हैं और कोरोना के अलावा दूसरी बीमारी वाले लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है।
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार रोटी, कपड़ा और मकान की बुनियादी सुविधाओं के साथ लिखाई, पढ़ाई और दवाई के समुचित प्रबंध के लिये प्रतिबद्ध है। समाज के गरीब तबके की थाली कभी खाली नहीं रहेगी। इसी उद्देश्य से मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के साथ प्रधानमंत्री गरीब अन्न योजना को समाहित कर जरूरतमंद वर्ग को प्रतिमाह खाद्यान्न देने की व्यवस्था की गयी। प्रदेश के सभी जिलों में नवीन हितग्राहियों को पात्रता पर्ची और राशन के पैकेट का वितरण आज किया जा रहा है। अन्न हर व्यक्ति की आवश्यकता है। प्रदेश में 37 लाख ऐसे लोगों को यह अधिकार दिया जा रहा है जिनके पास पात्रता पर्ची न होने से उन्हें राशन से वंचित होना पड़ रहा था।
—–
राजधानी भोपाल में लगातार मौसम बदल रहा है। बात मंगलवार की करें तो यहां पर दिनभर तपिश और उमस से लोगों को गर्मी का सामना करना पड़ा । मौसम विभाग का कहना है कि जब तक मानसून सक्रिय रहेगा तब तक उमस ऐसे ही परेशान करती रहेगी। वजह यह है कि बारिश होने से नमी ज्यादा रहेगी। दिन में धूप निकलने से तापमान भी बढ़ जाता है। जब तापमान और नमी ज्यादा होती है तब उमस ज्यादा पड़ती है। अभी बंगाल की खाड़ी में बना गहरा कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ गया है।
मानसून द्रोणिका गुना से होकर गुजर रही है। इसके अतिरिक्त एक द्रोणिका दक्षिणी गुजरात पर बने ऊपरी हवा के चक्रवात से होकर महाराष्ट्र तक बनी हुई है। इन तीन मानसूनी सिस्टम के असर से प्रदेश में गरज-चमक के साथ बारिश हो रही है। इस बारिश का सिलसिला रुक-रुककर 2-3 दिन तक चलता रहेगा।
—–
मध्यप्रदेश के किराएदारों और मकान मालिकों के लिए ये जरुरी खबर है। बता दें कि मध्यप्रदेश सहित राजधानी भोपाल में जल्द ही केंद्र का आदर्श किराएदारी अधिनियम-2020 (एमटीए) लागू हो सकता है। इस अधिनियम के तहत मकान मालिकों और किराएदारों के बीच लिखित अनुबंध के साथ ही किराया तय होने से लेकर हर बड़ी से छोटी जिम्मेदारी तक तय होगी। जिन्हें दोनों ही पार्टियों को पूरा करना होगा। केंद्र की मंशा इसे अक्टूबर में ही लागू करने की है।
इस अधिनियम के तहत कई मानकों पर चीजें तय की जएंगी। जिसमें मकान या फ्लैट की पुताई कौन करवाएगा तो नल की टोटी से लेकर वॉश बेसिन और पंखे या खराब स्विच कौन बदलवाएगा ये सब होगा। साथ ही साथ मकान मालिक और किराएदार के बीच किसी भी तरह का विवाद होने पर किराया प्राधिकरण और किराया न्यायालय सुनवाई करेगा।
—–
अब 21 सितंबर से स्कूल-कॉलेज खोले जा रहे हैं, लेकिन यह सिर्फ और सिर्फ उन छात्र-छात्राओ के लिए ज्यादा मददगार होगी जिन्हें ऑनलाइन एजुकेशन में कुछ समझने में दिक्कत आ रही थी। ऐसे में विद्यार्थी केवल अपनी समस्या समाधान के लिए ही स्कूल जाएंगे। शासन ने इस बार विद्यार्थियों की उपस्थिति की अनिवार्यता के नियम को शिथिल कर दिया है। यानी अब उपस्थिति कम होने पर किसी छात्र-छात्रा को परीक्षा से वंचित नही होना होगा।
शासन की नई गाइडलाइन के तहत 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं अब 21 सितंबर से खुल जाएंगे। लेकिन पहली से 8वीं तक की कक्षाएं फिलहाल पूर्ववत बंद रहेंगी। कक्षा नौ से 12 तक के विद्यार्थियों के लिए भी स्कूल आने की अनुमति उनके अभिभावक देंगे। अगर कोई अभिभावक अपने बच्चे को स्कूल नहीं भेजना चाहता तो स्कूल प्रशासन उसके साथ जोर जबरदस्ती नहीं कर सकेगा। छात्रों को छूट रहेगी कि वो जब चाहें स्कूल आएं।
21 सितंबर से खुल रहे स्कूलों के लिए जारी गाइडलाइन के अनुसार ही हर स्कूल प्रबंधन को सारे इंतजाम करने होंगे। टीचर्स व अन्य स्टॉफ को इन दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन करना अनिवार्य होगा। हर स्कूल प्रशासन को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।
स्कूलों के लिए गाइडलाइन तय की गई हैं, इसके अनुसार स्कूल पहुंचने वाले सभी विद्यार्थियों के साथ ही शिक्षकों और कर्मचारियों को फेस कवर करना अनिवार्य होगा। स्कूल में मास्क पहनना जरूरी होगा। क्लास में शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। एक बैंच के बीच में करीब 6 फीट की दूरी रखना अनिवार्य होगी। स्कूल छोड़ते समय और खाली समय में विद्यार्थियों को एक साथ ग्रुप में खड़े होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। कोई भी छात्र, शिक्षक या कर्मचारी बीमार है तो उन्हें स्कूल आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जगह-जगह पर स्कूलों में सैनिटाइजर रखना होगा। स्कूल के खुलने से पहले और बंद होने के बाद सभी कक्षाओं, लाइब्रेरी, लैब, लॉकर, पार्किंग, रेलिंग, दरवाजे, कुर्सियां, लिफ्ट के बटन, वॉशरूम को सैनिटाइज करना जरूरी होगा। कंटेनमेंट जोन के विद्यार्थी, शिक्षक और कर्मचारियों के स्कूल आने पर पाबंदी रहेगी।
—–
खरगोन में हिताची के एटीएम से 100-100 रुपये के 4 नकली नोट निकले हैं। एटीएम धारक ने 20 हजार रुपये कैश निकाले थे। नकली नोट निकलने के बाद जिले में हड़कंप मच गया है। पुलिस की चलानी कार्रवाई के दौरान पता चला है कि नकली नोट है। युवक 100 रुपये का 3 नकली नोट चला चुका है।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
दमोह में आकाशीय बिजली गिरने से 7 लोगों की मौत हो गई है। जिले में 4-4 अलग-अलग घटनामों में सभी की मौत हुई है। जबकि एक व्यक्ति इस हादसे में गंभीर रूप से घायल है। घायल व्यक्ति को दमोह जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर लिया है।
—–
राज्य स्तरीय वन्य प्राणी सप्ताह एक से सात अक्टूबर के दौरान वन विहार राष्ट्रीय उद्यान, भोपाल में वन्य प्राणियों पर केंद्रित फोटो प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इसका विषय वन्य प्राणी इनके रहवास में रखा गया है। सर्वश्रेष्ठ तीन फोटो के लिए प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा। प्रतिभागियों को अपनी प्रविष्टि वन विहार कार्यालय में 28 सितंबर से पहले जमा कराना होगी।
वन विहार के संचालक ने बताया कि प्रतियोगिता में सभी उम्र के प्रतिभागी हिस्सा ले सकेंगे। फोटो में मध्यप्रदेश के वन्य प्राणी का ही प्रतिनिधित्व होना चाहिए। एक प्रतिभागी अधिकतम 5 प्रविष्टियां भेज सकता है।
—–
कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 50 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 50 लाख 41 हजार 681 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 29 लाख 63 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 09 लाख 97 हजार 715 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 39 लाख 60 हजार 965 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 82 हजार 286 है। अब तक देश में कुल 05 करोड़ 94 लाख 29 हजार 115 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। वहीं, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा 93 हजार को पार कर गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 47 हजार 993 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 93 हजार 53 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 21 हजार 620, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 69 हजार 613 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 1 हजार 820 है। प्रदेश में अब तक 17 लाख 20 हजार से ज्यादा लोगों का कोविड टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद एक हजार से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 17 हजार 547 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 05 हजार 298 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 467 है, भोपाल में 13 हजार 646 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 1 हजार 738, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 334, ग्वालियर में 08 हजार 29 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 02 हजार 148 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 89, जबलपुर में कुल 06 हजार 643 में से एक्टिव मरीजों की संख्या 01 हजार 235 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 114, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 2 हजार 525 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 564 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 34, मुरैना में 02 हजार 311 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 145 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 18, उज्जैन में कुल मरीजों की संख्या 02 हजार 310 एक्टिव मरीजों की तादाद 453 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 84, शिवपुरी में कुल मरीजों की संख्या 01 हजार 701 में से एक्टिव मरीज 470 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 15, सागर में कुल 01 हजार 691 में से एक्टिव केसेज 470 एवं 75 लोग काल कलवित हुए हैं। नीचम में कुल एक हजार 585 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 383 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 27, रतलाम में एक हजार 544 मरीजों में से एक्टिव की तादाद 289 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 31, बड़वानी में कुल एक हजार 474 मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 219 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 16, धार में कुल 01 हजार 497 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 484 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 20, विदिशा में कुल 01 हजार 303 मरीजों में से एक्टिव मरीज 272 एवं जिनका निधन हुआ उनकी तादाद 27, नरसिंहपुर में कुल एक हजार 344 में से सक्रिय की तादाद 514 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 07, खण्डवा में कुल 01 हजार 222 मरीजों में से 211 एक्टिव मरीज और जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 28, मंदसौर में कुल 1 हजार 197 मरीजों में से एक्टिव मरीज 212 व जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 14, बैतूल में कुल 01 हजार 228 मरीजों में से एक्टिव मरीज 421 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 27, रीवा में कुल 01 हजार 210 मरीजों में एक्टिव मरीजों की संख्या 410 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 18, सीहोर में एक हजार 136 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 415 एवं 24 लोगों ने अब तक दम तोड़ा है। दमोह में कुल एक हजार 114 मरीजों में 385 एक्टिव मरीज एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 20, राजगढ़ में एक हजार 58 में से सक्रिय की संख्या 172 एवं 15 लोग कालकलवित हुए हैं। झाबुआ में कुल 01 हजार 27 मरीजों में से एक्टिव की तादाद 216 व 16 लोगों ने दम तोडा है। इसके साथ ही प्रदेश के सभी जिलों में मरीजों की तादाद दो सौ से ज्यादा पहुंच चुकी है। अब एक हजार से ज्यादा मरीजों वाले जिलों की सूची में दतिया व देवास का भी शुमार हो गया है। दतिया में कुल 01 हजार 09 मरीजों में से सक्रिय मरीज 178 व कुल 11 लोग काल कलवित हुए हैं, वहीं देवास में कुल मरीजों की तादाद 01 हजार में से एक्टिव मरीजों की संख्या 196 व 19 लोगों का निधन हुआ है।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बुधवार 16 सितंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। ब्रहस्पतिवार 17 सितंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———