मंगलवार 29 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में मंगलवार 29 सितंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
—–
प्रदेश में उपचुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है। दिल्ली में मंगलवार को बुलाई गई बैठक में यह फैसला ले लिया गया। चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश में 3 नवंबर को मतदान का दिन तय किया है। जबकि 10 नवंबर को रिजल्ट भी घोषित हो जाएंगे। चुनाव की तारीखों की घोषणा होते ही अब मध्यप्रदेश में उपचुनाव वाले क्षेत्रों के लिए आचार संहिता लग गई है।
इससे पहले मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस में बिहार चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था। लेकिन, मध्यप्रदेश की चुनाव की तारीखों का ऐलान मंगलवार के लिए टाल दिया गया था। इससे पहले चुनाव आयोग ने कहा था कि बिहार चुनाव के साथ या 29 नवंबर से पहले मध्यप्रदेश के भी चुनाव करा लिए जाएंगे।
मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहा है। यह देश में अब तक का सबसे बड़ा उपचुनाव माना जा रहा है।यह उपचुनाव पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार को गिराने के बाद हो रहे हैं। उस समय ज्योतिरादित्य सिंधिया के बगावत करने के बाद उनके साथ 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे। इसके साथ ही तीन विधायकों के निधन और तीन विधायक बाद में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए थे। तभी से मध्यप्रदेश में भाजपा और कांग्रेस चुनाव की तारीखों का ऐलान कर रहे थे।
—–
चुनाव आयोग द्वारा मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श आचरण संहिता भी प्रभावी हो गई है। आचरण संहिता के दायरे में कुल 19 जिले आएंगे लेकिन 12 जिलों में पूरी तरह आचरण संहिता प्रभावी होगी। जबकि, सात जिलों में यह आंशिक तौर पर लागू होगी। दरअसल, चुनाव आयोग ने उपचुनाव की वजह से काम प्रभावित न हों इसलिए नगर निगम वाले जिलों में संबंधित विधानसभा क्षेत्र में ही आदर्श आचरण संहिता प्रभावी करने का प्रविधान लागू किया है। इसके तहत पहली बार मध्यप्रदेश में चुनाव हो रहे हैं।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि इंदौर, ग्वालियर, मुरैना, सागर, खंडवा, बुरहानपुर और देवास जिले ऐसे हैं, जहां नगर निगम भी है। यहां सिर्फ संबंधित विधानसभा क्षेत्र में ही आदर्श आचरण संहिता का प्रभाव रहेगा। वहीं, रायसेन, अनूपपुर, मंदसौर, धार, राजगढ़, अशोकनगर, गुना, शिवपुरी, दतिया, छतरपुर, भिंड और आगर मालवा जिले में नगर निगम नहीं हैं। यहां पूरे जिले में आदर्श आचरण संहिता लागू रहेगी।
—–
अगर आपकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो आपको अपनी और अपने परिवार की जिम्मेदारी और सुरक्षा आपको ही करनी होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि जैसे-जैसे कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। प्रशासनिक लापरवाही भी बढ़ती जा रही है। नियमों के अनुसार पॉजिटिव आने वाले मरीज का घर सैनिटाइज कर इनके परिवार के सदस्यों के भी सैंपल लिए जाने चाहिए ताकि उनमें कोरोना के लक्षण विकसित होने से पहले ही पहचान हो जाए। इसके बावजूद इस नियम का पालन नहीं किया जा रहा है।
एक अखबार की रिपोर्ट के अनुसार राजधानी में पॉजिटिव आने वाले मरीजों के घर को ना तो सैनिटाइज किया जा रहा है और ना ही उनके परिवार के लोगों का सैंपल लेने टीम घर पहुंच रही है। यही कारण है कि घर का एक सदस्य कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में तो भर्ती हो जा रहा है, लेकिन उस घर के अन्य सदस्य बाजार में घूम रहे हैं और कोरोना का संक्रमण फैला रहे हैं। इतना ही नहीं प्रशासन ने पॉजिटिव मरीजों का बढ़ता हुआ आंकड़ा देखकर सैंपलिंग करना भी कम कर दिया है।
—–
ग्वालियर हाई कोर्ट की युगल पीठ ने मंगलवार को राजनीतिक कार्यक्रमों में भीड़ पर प्रतिबंध लगाने को लेकर दायर जनहित याचिका की सुनवाई की। न्यायमित्र व याचिकाकर्ता ने कोर्ट में जो फोटो पेश किए, उन्हें देखकर कोर्ट ने कहा कि कार्यक्रमों में भारी भीड़ हो रही हैं। फोटो में हजार लोग दिख रहे हैं। कोर्ट ने 30 सितंबर को ग्वालियर, भिंड, दतिया, शिवपुरी व मुरैना के कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को तलब किया है। सुबह 9ः30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कोर्ट में उपस्थित दर्ज करानी होगी। 9ः30 बजे से 10ः30 बजे के बीच में इस केस को सुना जाएगा। अब कलेक्टर व एसपी से ही पूछा जाएगा कि उन्हें इस भीड़ को रोकने में क्या परेशानी आ रही है।
अधिवक्ता आशीष प्रताप सिंह ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। याचिकाकर्ता ने तर्क दिया कि 24 सितंबर से 28 सितंबर के बीच जो राजनीतिक कार्यक्रम हुए हैं, उनकी स्थिति आपने देख ही ली है। कार्यक्रमों में भारी भीड़ हो रही है, न मास्क लगा रहे हैं न सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन किया जा रहा है। सभा में बच्चों को भी बुलाया जा रहा है। राजनीतिक कार्यक्रम में एक एसडीएम भी संक्रमित हुए थे। एसडीएम की संक्रमण के कारण मौत भी हो चुकी है, फिर भी राजनेता सबक नहीं ले रहे हैं। गाइड लाइन का उल्लंघन कर रहे हैं। आम आदमी के जीवन को खतरे में डाल दिया है। अतिरिक्त महाधिवक्ता अंकुर मोदी ने तर्क दिया कि न्यायमित्र की रिपोर्ट में ऐसा कोई तथ्य नहीं है, जिसमें कहीं भी 100 से ज्यादा लोग बताए हैं।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा के पत्नी के साथ मारपीट करते वायरल वीडियो का मामला अभी ठंडा नहीं हुआ कि एक और सरकारी अफसर दंपति का घरेलू विवाद चर्चा में आ गया है। सीहोर के जिला जनसंपर्क कार्यालय में पदस्थ सहायक संचालक ने अपने पति और ननद के खिलाफ दहेज प्रताड़ना की शिकायत दर्ज कराई है। पीड़ित महिला के पति भी जनसंपर्क विभाग में सहायक संचालक हैं और फिलहाल मंडला में पदस्थ हैं। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने पति और ननद को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया और मामले की जांच कर रही है।
कोतवाली थाना प्रभारी नलिन बुधोलिया ने बताया कि सहायक संचालक ने अपने पति और उनकी बहन के खिलाफ दहेज प्रताड़ना की शिकायत कोतवाली थाना में दर्ज कराई थी। उनकी शादी जनवरी 2020 में हुई थी। दहेज प्रताड़ना का प्रकरण पंजीबद्ध करने के बाद उनके पति और ननद को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। मामले की विवेचना जारी है।
—–
पन्ना जिले स्थित एक गांव में बाघिन घुस गई है। इसके बाद ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। बाघिन पन्ना टाइगर रिजर्व के अमानगंज बफर स्थित विक्रमपुर गांव में है। गांव करीब के नाले में वह छिप कर बैठी है। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम भी लगातार वहां कैंप कर रही है। इसके साथ ही बाघिन को भगाने के लिए लोग लगातार प्रयास कर रहे हैं।
वन विभाग की टीम के साथ सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण लाठी-डंडे से लैस होकर बाघिन को भगाने की जुगत में लगे हैं। बाघिन को भगाने के लिए वन विभाग की टीम ने पटाखे भी छोड़े हैं। लेकिन बाघिन अभी तक इस क्षेत्र से नहीं निकली है। ऐसे में ग्रामीण डर के साए में जी रहे हैं।
बताया जा रहा है कि बाघिन ने 2 पालतू जानवरों का शिकार भी किया है। वहीं, पन्ना टाइगर रिजर्व पन्ना मामले की गंभीरता को देखते हुए रात से ही विक्रमपुर ग्राम में डेरा डाले हुए है। वहीं क्षेत्र के लोगों में दहशत का माहौल देखने को मिल रहा है। उस इलाके में ग्रामीण निकलने से भी डर रहे हैं।
—–
कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकड़ा साढ़े 61 लाख के करीब पहुंच रहा है। वर्तमान में यह आंकड़ा 61 लाख 46 हजार 722 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 41 लाख 73 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 09 लाख 39 हजार 810 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 51 लाख 09 हजार 584 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 96 हजार 468 है। अब तक देश में कुल 07 करोड़ 31 लाख 10 हजार 41 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। वहीं, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा 01 लाख 24 हजार को पार कर गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 78 हजार 100 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 01 लाख 24 हजार 166 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 21 हजार 912, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 01 लाख 12 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 02 हजार 242 है। प्रदेश में अब तक 20 लाख 10 हजार से ज्यादा लोगों का कोविड टेस्ट कराया जा चुका है।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में मंगलवार 29 सितंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। बुधवार 30 सितंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———