उपचुनाव से ठीक पहले भाजपा ने पूर्व विधायक को पार्टी से निकाला

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्यप्रदेश में एक तरफ जहां उपचुनाव के आखिरी दिन बीजेपी और कांग्रेस ने अपना पूरा दम लगा रही हैं वहीं दूसरी तरफ भाजपा ने पूर्व विधायक को पार्टी की सदस्यता को निष्कासित कर दिया है। अनुशासनहीनता के कारण बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने सुमावली से पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया है। बता दें कि पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह के बड़े भाई सतीश सिकरवार उपचुनाव में ग्वालियर पूर्व सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं।

सतीश सिकरवार के भाजपा से बगावत कर कांग्रेस का दामन थामने और फिर ग्वालियर पूर्व विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी घोषित होने के बाद भाजपा ने भितरघात के डर से ही पार्टी के सीनियर नेता गजराज सिंह सिकरवार और उनके बेटे पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार को ग्वालियर-चंबल अंचल से दूर रहने के लिए कहा था और दूसरे जिले की विधानसभा सीट पर चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी सौंपी थी। पार्टी ने सत्यपाल सिंह सिकरवार को मांधाता और उनके पिता गजराज सिंह को बड़ामलहरा में चुनाव प्रचार करने के लिए कहा था लेकिन बताया जा रहा है कि सत्यपाल सिंह ने आदेश का पालन नहीं किया और मांधाता चुनाव प्रचार करने के लिए नहीं गए। पार्टी को दोनों के खिलाफ शिकायतें भी मिली थीं जिसके बाद अब सत्यपाल सिंह पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष ने निष्कासन की कार्रवाई की है। इस कार्रवाई के जरिए पार्टी ने भितरघात की कोशिश में लगे उन नेताओं को भी मैसेज देने की कोशिश की है जो कहीं न कहीं अनुशासनहीनता कर सकते थे।

वहीं दूसरी तरफ पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार को भाजपा से निष्कासित किए जाने के बाद उनके समर्थकों ने मुरैना में विरोध प्रदर्शन किया। सिकरवार के समर्थकों ने भाजपा पार्टी के झंडे-बैनर जलाकर अपना विरोध जताया है।