प्रदेश में वन्यजीवों के शिकार की बढ़ी हैं घटनाएं . . .

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में मंगलवार 01 दिसंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——-
मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। भोपाल और इंदौर में संक्रमण के हर दिन नए मामले आ रहे हैं। राज्य के अन्य जिलों की अपेक्षा यहां संक्रमण सबसे ज्यादा है। संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि जिन क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं वहां आवाजही पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के हालात को लेकर सरकार पूरी तरह सजग और मुस्तैद है। इलाज की पर्याप्त व्यवस्थाएं हैं। संक्रमण पर नियंत्रण के लिए भोपाल और इंदौर में बनाए जा रहे कन्टेनमेंट जोन में अब दुकानें बंद कर लोगों के आवागमन पर पूरी तरह रोक लगाई जाएगी।
गृहमंत्री ने कहा- हम कंटेनमेंट छोटे-छोटे बना रहे हैं। अभी इस तरह की गाइडलाइन सरकार ने नहीं बनाई है लेकिन इंदौर और भोपाल के जिन क्षेत्रों में कंटेनमेंट बनाए जा रहे हैं वहां हम आना-जाना प्रतिबंधित करेंगे और अगर कंटनमेंट क्षेत्र में कोई ऑफिस है तो वह भी नहीं खुलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना को लेकर दवाई और अस्पताल निशुल्क है।
——-
दिसंबर आते आते मौसम तेजी से बदलने लगा है। रात के वक्त ठिठुरन बढ़ती ही जा रही है। अब तो हर घर गर्म कपड़ों से भरता जा रहा है। शाम होते ही लोग घरों में दुबक जा रहे हैं। लिहाजा सड़कों पर अब जल्द ही सन्नाटा पसर जा रहा है। हालांकि दिन में अब भी धूप की तल्खी लोगों को बेचौन कर रही है। ज्यादा देर तक एक जगह पर बैठना या खड़े रहना बर्दाश्त से बाहर है, लेकिन सूर्य देव के ढलते ही ठिठुरन बढ़ जा रही है।
जैसे-जैसे आसमान साफ हो रहा है ठंड में इजाफा होता जा रहा है। ठिठुरन बढ़ती जा रही है। खासतौर पर सुबह और रात के वक्त अच्छी खासी ठंड महसूस की जाने लगी है। मौसम विभाग का कहना है कि हवाओं की दिशा उत्तरी बनी हुई है। हवाओं की रफ्तार जैसे-जैसे बढ़ेगी ठंड का असर और पैना होता जाएगा। अगले सप्ताह तक रात के साथ दिन का पारा भी नीचे आने की संभावना है।
——-
प्रदेश में शिवपुरी जिले के बैराड़ थाना क्षेत्र के अधीन झलवासा गांव के एक दलित परिवार ने एसपी ऑफिस के बाहर अपना डेरा डाल लिया है। परिवार का आरोप है कि गांव में ही रहने वाले दबंग धाकड़ समाज के कुछ लोगों ने उपचुनाव में बीजेपी को वोट नही देने पर उनके खिलाफ झूठी एफआईआर दर्ज करा दी, जिसके चलते वे गांव में नही रह पा रहे हैं। पीड़ित परिवार ने शिवराज सरकार के पीडब्ल्यूडी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा के रिश्तेदारों पर दबंगई का आरोप लगाया है।
दरअसल, ग्राम झलवासा में रहने वाले पीड़ित दलित परिवार का आरोप है कि घर के पास रहने वाले दबंग रामकिशन धाकड़ और उसके साथियों ने उपचुनाव में बीजेपी को वोट देने के लिए कहा था। लेकिन दलित परिवार ने स्पष्ट कह दिया के वे बीएसपी को वोट देंगे। इस से नाराज दबंगों ने थाने में झूठी रिपोर्ट दर्ज करा दी।
पीड़ित परिवार का कहना है कि पुलिस उनरी बात नहीं सुन रही, उल्टे परेशान कर रही है। उनका आरोप है कि उन्हें पीडब्ल्यूडी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा के इशारे पर परेशान किया जा रहा है। इसलिए, जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिलेगा, वे एसपी ऑफिस के सामने डेरा जमाए रखेंगे।
——-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से उनके निवास पर मुलाकात कर प्रदेश में चल रही प्रमुख योजनाओं की प्रगति के साथ विगत आठ माह में प्रदेश की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से चर्चा की। लगभग सवा घंटे चली इस बैठक में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केन्द्र द्वारा हाल ही में विभिन्न मदों में जारी की गई राशि के लिये प्रधानमंत्री श्री मोदी का धन्यवाद ज्ञापित किया। हाल ही में केन्द्र सरकार ने रबी 2020-21 में 22 लाख मीट्रिक टन यूरिया का आवंटन, बाढ़ संकट के दौरान 611 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता और कैम्पा निधि के अंतर्गत प्रदेश को 860 करोड़ रुपये राज्य सरकार को जारी किये हैं।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेश में आगामी तीन वर्षों में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश 2023 के रोडमैप के बारे में प्रधानमंत्री श्री मोदी को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि रोडमैप नीति आयोग के सक्रिय सहयोग एवं देश के प्रख्यात विशेषज्ञों, संयुक्त राष्ट्र की संस्थाओं के प्रतिनिधियों, शिक्षाविदों और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कई चरणों एवं स्तरों के गहन विचार-विमर्श एवं मंथन के उपरांत तैयार किया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोडमैप की प्रति प्रधानमंत्री को भेंट की।
——-
भोपाल गैस त्रासदी की 36वीं बरसी पर एक सर्वधर्म प्रार्थना सभा का सूक्ष्म आयोजन किया जा रहा है। बरकतउल्ला भवन (सेन्ट्रल लायब्रेरी) भोपाल में 3 दिसम्बर को सुबह 10.30 बजे से प्रार्थना सभा होगी। प्रार्थना सभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शामिल होंगे। प्रार्थना सभा में दिवंगत गैस पीड़ितों को श्रद्धांजलि अर्पित की जायेगी। विभिन्न धर्म ग्रंथों का पाठ धर्मगुरूओं द्वारा किया जायेगा। दिवंगतों की स्मृति में दो मिनिट की मौन श्रद्धांजलि भी होगी।
श्रद्धांजलि सभा में कोरोना महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, हैण्ड सेनेटाइजर सहित भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन उपस्थित होने वाले आगंतुकों को सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।
——-
प्रदेश में वन्यजीवों के शिकार की घटनाएं बढ़ रही हैं। पिछले छह माह में बाघों की मौत के ऐसे चार मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें शिकार की आशंका जताई जा रही है। ये घटनाएं उमरिया जिले के बांधवगढ़ और संजय दुबरी टाइगर रिजर्व सीधी के समीप की हैं। इतना ही नहीं, बांधवगढ़ के नजदीक फिर से शिकारियों के सक्रिय होने की खबरें सामने आ रही हैं, पर पार्क प्रबंधन और वन अमला बे-खबर है। वैसे भी शिकार की दृष्टि से यह पार्क ज्यादा संवेदनशील है, यहां पिछले 11 महीनों में 10 बाघों की मौत हो चुकी है। इन्हें मिलाकर प्रदेश में अब तक 26 बाघों की जान जा चुकी है और यह आंकड़ा देश में सबसे ज्यादा है।
मार्च से मई 2020 में देश में लॉकडाउन की वजह से सन्नाटा पसरा था, ऐसे में मध्य प्रदेश के संरक्षित क्षेत्रों में शिकारी गतिविधियां चल रही थीं। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व से सटे उत्तर वनमंडल शहडोल में दो बाघों की मौत के मामलों में शिकार की बात सामने आ रही है। इनमें से एक घटना जमुनिया बीट में हुई है। जिसे वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो की टीम ने पकड़ा था।
दूसरे मामले में शिकार के बाद बाघ का शव नाले में दफन कर दिया गया। ऐसा ही एक मामला पन्नाा टाइगर रिजर्व में भी सामने आया था। टेरेटोरियल फाइट में घायल होकर एक बाघ केन नदी में गिर गया था। बाघ की मौत हो गई, तो शिकारियों ने उसका सिर काट लिया था, जो बाद में बरामद हुआ। इस मामले में बाघ के दांत और नाखून गायब थे। सीधी जिले के संजय दुबरी टाइगर रिजर्व के बफर एरिया से सटे इलाके में भी ऐसी ही घटनाएं सामने आ रही हैं। अब डर इस बात का है कि लोग बांधवगढ़ के आसपास संदिग्ध लोगों के घूमने की सूचना दे रहे हैं।
——-
प्रदेश की सीमाओं पर बने परिवहन विभाग के बैरियर पर वसूली की शिकायत करने वाले ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने आरोप लगाया है कि सेंधवा बैरियर पर हर दिन 70 लाख रुपये की अवैध उगाही होती है। प्रदेश के सभी बैरियर को मिला लिया जाए तो यह आंकड़ा 200 करोड़ रुपये प्रतिमाह तक पहुंच जाएगा।
इंदौर ट्रक एवं ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष सीएल मुकाती ने बताया कि देश के किसी भी राज्य से आने वाले वाहन सेंधवा, पिटोल, नीमच बैरियर से प्रवेश करते हैं, लेकिन यहां पर ही सबसे अधिक भष्ट्राचार है। सेंधवा बैरियर पर अवैध वसूली की तो हम मय प्रमाण शिकायत कर चुके हैं, लेकिन अब तक कोई एक्शन नहीं लिया गया है। यहां हर गाड़ी को 3000 रूपये की एंट्री देना होती है। यहां तक की खाली गाड़ियों को भी नहीं छोड़ा जाता है। उनसे भी हर ट्रिप के 1000 रुपये वसूल लिए जाते हैं।
जिन गाड़ियों के चालक पैसा देने से इंकार कर देते हैं। उनके कागज कर्मचारी रख लेते हैं और गाडियों को 12-12 घंटे तक खड़ा रखा जाता है। बीते दिनों इंदौर के ट्रांसपोटर की गाडी को भी ऐसे ही खड़ा रखा गया था। गौरतलब है कि प्रदेश के विभिन्न ट्रांसपोर्ट संगठन लगातार इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं और लगातार प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त को इसकी शिकायत कर रहे हैं। इस बारे में जिम्मेदारों से बात करने की कोशिश की गई, हालांकि संपर्क नहीं हो सका। इनकी इस मुहिम को पड़ोसी राज्यों के ट्रांसपोर्ट संगठनों का भी समर्थन मिल रहा है।
——-
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पत्नी पर कविता चोरी करने का आरोप लगा है। एक लड़की ने दावा किया है कि उसने अपने डैडी की याद में इस कविता को लिखा था और 21 नवंबर को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट किया था। साधना सिंह ने इस कविता को कॉपी किया। डैडी शब्द की जगह बाबूजी किया और पोस्ट कर दिया। बाद में शिवराज ने इसे शेयर करते हुए साधना सिंह की लिखी कविता बताया।
सीएम ने लिखा था कि उनकी पत्नी साधना ने कविता अपने पिता के लिए लिखी है, जिनकी कुछ दिनों पहले ही मौत हो गई थी। भूमिका ने कविता के शब्दों में हेरफेर पर भी आपत्ति जताई है। उन्होंने लिखा है कि वे अपने पिता को डैडी कहती थी, लेकिन सोशल मीडिया इसे कुछ लोग बाबूजी, बाऊजी या पापा जैसे शब्दों के साथ शेयर कर रहे हैं। उन्होंने अपील की है कि कविता के शब्द बेहद व्यक्तिगत हैं और इससे उनकी भावनाएं जुड़ी हैं। इसे तोड़-मरोड़कर कविता के साथ अन्याय न करें।
——-
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——-
मप्र हाईकोर्ट की मुख्यपीठ ने भोपाल में बिना अनुमति प्रदर्शन और भड़काऊ भाषण देने के मामले में कांग्रेस विधायक विधायक आरिफ मसूद की याचिका पर सरकार समेत शिकायतकर्ता को नोटिस दिया है। कोर्ट ने सरकार समेत शिकायतकर्ता से 4 हफ्ते में जवाब मांगा है। याचिका में आरिफ मसूद ने उन पर 4 नवंबर को दर्ज दूसरी एफआईआर रद्द करने की मांग की है।
भोपाल से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने दलील दी है कि उन्होंने सभा में कोई भड़काऊ और धार्मिक भावनाओं को भड़काने जैसा भाषण नहीं दिया था, इसलिए एक ही वक्त में एक ही स्थल पर दो अलग अलग एफआईआर न्याय संगत नहीं हैं।
मसूद ने ये भी कहा कि उनके खिलाफ शिकायत करने वाले डॉक्टर दीपक रघुवंशी आखिर हैं कौन? वो तो उस वक्त प्रदर्शन स्थल पर मौजूद नहीं थे, इसलिए वो शिकायत कैसे कर सकते हैं। विधायक की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अजय गुप्ता ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पक्ष रखा। एक्टिंग चीफ जस्टिस संजय यादव ने मामले की सुनवाई की।
——-
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में मंगलवार 01 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। बुधवार 02 दिसंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———