राजगढ़ कलेक्टर ने लगाया खुद ही पर जुर्माना . . .

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में बुधवार 02 दिसंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——-
उत्तर से दक्षिण को जोड़ने वाला सबसे छोटे रेलमार्ग पर 25 दिसंबर से यात्री ट्रेनें शुरू करने की तैयारी चल रही है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर ब्रॉडगेज पर सबसे पहले मेमू ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाएगी।
जबलपुर से नैनपुर होकर बालाघाट मार्ग पर रेल का संचालन आरंभ होने वाला है, पर नैनपुर से सिवनी होकर चौरई तक के रेल खण्ड के निर्माण में अभी संशय के बादल छाए हुए हैं। पूर्व प्रधानमंत्री ने ही ब्रॉडगेज के सपने को आकार दिया था। अब उनके जन्मदिन पर इस ट्रैक का लोकार्पण होगा। इस ट्रैक पर यात्री ट्रेन शुरू होते ही रायपुर, दुर्ग, नागपुर पहुंचना आसान हो जाएग।
रेल सेफ्टी कमिश्नर एके राय से इस ट्रैक पर ट्रेन संचालन की अनुमति पहले ही मिल चुकी है। जबलपुर से गुजरने वाला उत्तर से दक्षिण को जोड़ने वाला यह सबसे छोटा रेलमार्ग होगा। नैनपुर-बालाघाट के बीच ब्रॉडगेज बनने के बाद जबलपुर से गोंदिया तक यात्री ट्रेन चलने को तैयार है। जबलपुर-नैनपुर-गोंदिया-बल्लारशाह के रास्ते उत्तर भारत को दक्षिण को यह रेलमार्ग जोड़ेगा। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने ट्रेन संचालन की तैयारी पूरी कर ली है। पिछले दिनों नागपुर डीआरएम एमएस उत्पल भी इस ट्रैक का निरीक्षण कर जा चुके हैं।
केंद्र की मोदी सरकार की ओर से सवर्ण गरीबों के लिए दिए गए 10 फीसदी आरक्षण पर मध्यप्रदेश में भी अमल शुरू हो गया है। सचिवालयीन सेवा की सरकारी भर्तियों में अब सवर्णों के लिए 10 फीसदी पद आरक्षित कर दिए गए हैं। अब आगे जितनी भी भर्तियां होंगी उनमें इस वर्ग के युवाओं को भी सरकारी नौकरी में जाने का मौका आसान हो जाएगा। वहीं अब नए कर्मचारियों को तीन साल तक प्रोबेशन पर रखा जाएगा।
——-
मध्यप्रदेश सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग (जीडीए) ने भर्ती नियमों में भी संशोधन कर दिया है। राज्यपाल की मंजूरी के बाद यह नियम तत्काल लागू कर दिया गया है। इस नए नियम के मुताबिक मध्यप्रदेश में गरीब सवर्णों को आरक्षण मिलने की शुरुआत कर दी गई है।
अब मध्यप्रदेश में सीधी भर्ती के पदों में से 16 प्रतिशत पद अनुसूचित जातियों, 20 प्रतिशत पद अनुसूचित जनजातियों और 27 प्रतिशत पद पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए आरक्षित रखे जाएंगे। इनके अलावा आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों के लिए भी 10 फीसदी आरक्षण रखा गया है। इसमें खास बात यह है कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग श्रेणी में यदि कोई उम्मीदवार नहीं आता है तो वह पद खाली रखे जाएंगे। इनके अलावा बाकी पदों को भरने के लिए आमंत्रित किए जा सकेंगे।
इस नियम के मुताबिक सीधी भर्ती के पदों के लिए महिला उम्मीदवारों के लिए कुल पदों का 33 फीसदी पद सभी श्रेणियों में आरक्षित रखे जाएंगे। सीधी भर्ती के पदों में से 6 फीसदी पद दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए आरक्षित रखे जाएंगे।
राज्य सरकार के मुताबिक सचिवालय में भर्ती होने वाले कर्मचारियों को अब दो की बजाय तीन साल के प्रोबेशन पीरियड में रखा जाएगा। तीन साल बाद ही कर्मचारी परमानेंट होगा। प्रोबेशन पीरियड के दौरान कर्मचारी को 90 प्रतिशत वेतन दिया जाएगा। इस दौरान सरकार का पैसा जरूर बचेगा, लेकिन कर्मचारी का इंतजार बढ़ेगा।
——-
एक ओर जहां नई इंडस्ट्रीज की स्थापना जबलपुर में कम संख्या में हो रही है, वहीं जिले के सबसे पुराने अधारताल व रिछाई औद्योगिक क्षेत्र में करीब एक दर्जन इंडस्ट्रीज बंद हो गई हैं। इनमें से ज्यादातर डिफेंस एंसेलरीज हैं। संचालकों ने वर्षों की मेहनत से तैयार इंडस्ट्रीज को दूसरों के हवाले कर दिया है। इसका एक मूल कारण कोविड-19 भी है। इंडस्ट्रीज बंद होने से कई लोगों के हाथों से रोजगार छिन गया है। लॉकडाउन में बंद हुई इंडस्ट्रीज बमुश्किल सम्भल पा रही हैं। लम्बे समय तक मशीनें बंद रहीं। कारीगरों के हाथों में काम नहीं था। इंडस्ट्री संचालक भी बमुश्किल कर्मचारियों को वेतन दे पा रहे थे। अब स्थिति यह है कि कई छोटे उद्योगपतियों के पास काम नहीं है, लेकिन खर्चे जैसे बिजली का बिल, कर्मचारियों का वेतन आदि जस का तस है।
इंडस्ट्रीज में बेकरी, नमकीन, इंजीनियरिंग वर्क्स, खनिजों की ढलाई, ऑफसेट पिं्रटिंग, ट्रिब्यूलर ट्रेसर, पोल, टैंक, फेरस-नॉन फेरस कास्टिंग, स्टील और लकड़ी के फर्नीचर का निर्माण, झाड़ू के प्लास्टिक के हैंडल, अग्निशमन यंत्र, डिफेंस प्रोडक्ट, बिस्किट्स, केक, ब्रेड, नमकीन, प्लास्टिक के उत्पाद, फेब्रिकेशन आदि का निर्माण होता है। इंडस्ट्रीज के बंद होने से शेड दूसरे उद्योगपतियों को हस्तांतरित कर दिया गया है, लेकिन जिन लोगों ने इन्हें लीज पर लिया है, उन्हें इंडस्ट्री को स्थापित करने में समय लगेगा। ऐसे में इन इकाइयों के कर्मचारियों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है। इनकी संख्या 150 से अधिक है। इसी प्रकार मशीनरी भी एक प्रकार से स्क्रैप हो गई है। उसकी अच्छी कीमत भी मिलना मुश्किल हो रहा है।
——-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल गैस त्रासदी की 36वीं बरसी पर भोपाल के बरकतउल्ला भवन (केन्द्रीय पुस्तकालय) में गुरूवार 3 दिसम्बर को सर्वधर्म प्रार्थना सभा में शामिल होंगे। यह प्रार्थना सभा प्रातः 10 बजे से रहेगी। कार्यक्रम सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सीमित लोगों की उपस्थिति में होगा। प्रार्थना सभा में दिवंगत गैस पीड़ितों को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। विभिन्न धर्म गुरु, धर्मग्रंथों में से पाठ भी करेंगे।
——-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार, 3 दिसम्बर को सीहोर जिले के नसरुल्लागंज से प्रदेश के किसानों को मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत 100 करोड़ राशि के हित लाभ वितरित करेंगे। यह कार्यक्रम दोपहर 12.30 बजे से प्रारंभ होगा। प्रदेश के 5 लाख किसानों को प्रति किसान दो हजार रुपये के मान से इस राज्यस्तरीय कार्यक्रम में लाभान्वित किया जाएगा। कार्यक्रम के अंतर्गत 5 जिले रायसेन, खण्डवा, सागर, ग्वालियर और इन्दौर के किसानों से मुख्यमंत्री श्री चौहान चर्चा भी करेंगे। प्रत्येक जिला मुख्यालय पर करीब दो सौ हितग्राही किसान कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ चर्चा में शामिल होंगे। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ जिला मुख्यालय पर यह व्यवस्था की गई है।
——-
राजगढ़ जिले के कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने एक अलग मिसाल पेश की है। सोशल मीडिया पर उनकी खूब चर्चा हो रही है। कलेक्टर के बारे में ऐसी खबरें लोगों को खुद ही सुनने को मिलती है। सार्वजनिक रूप से अपनी लापरवाही स्वीकार करते हुए कलेक्टर ने खुद पर भी 100 रुपये का फाइन लगाया है। इसके साथ ही दूसरे अफसरों और कर्मचारियों पर भी लापरवाही के लिए कार्रवाई की गई है।
नीरज कुमार से 2012 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। युवा अफसर हैं, काम को लेकर काफी सजग रहते हैं। कुछ दिन पहले राजगढ़ में योजनाओं की समीक्षा के लिए उन्होंने एक बैठक बुलाई थी। इस दौरान वह सीएम हेल्पलाइन से जुड़ी जनता की शिकायतों को देख रहे थे। राजगढ़ जिले में सीएम हेल्प लाइन से जुड़ी अलग-अलग विभागों के 1140 मामले लंबित थे, जिस पर संबंधित विभागों से कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।
कलेक्टर नीरज कुमार सभी शिकायतों को देख रहे थे। 1140 शिकायतों को देखने पर पता चला कि एक शिकायत उनसे जुड़ा हुआ है। साथ ही कलेक्टर की वजह से ही उसका निष्पादन निर्धारित समय के अंदर नहीं हो पाया है। इस लापरवाही के लिए कलेक्टर ने खुद पर ही जुर्माना लगा लिया। उन्होंने खुद के ऊपर 100 रुपये का जुर्माना लगाया है।
——-
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——-
कांग्रेस नेता गजेंद्र सोनकर के घर से कार्बाइन सहित हथियार जब्ती के मामले में बुधवार को पुलिस ने उस आरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसने गजेंद्र को देसी कार्बाइन बनाकर दी थी। उसके घर की सर्चिंग में बनाने वाले औजार और कार्बाइन के उपकरण जब्त हुए हैं। कांग्रेस नेता के मैनेजर रजनीश वर्मा ने पूछताछ के दौरान इस शख्स के बारे में पुलिस को बताया। मामले में गठित एसआईटी ने पाटन बाइपास के पास फरारी काट रहे वर्मा को गिरफ्तार किया। उसकी गिरफ्तारी पर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने पांच हजार का इनाम घोषित किया था। उसके खिलाफ एनएसए की भी कार्रवाई हो चुकी है।
एसआईटी प्रभारी ट्रेनी आईपीएस अमित कुमार ने बताया कि बड़ी खेरमाई निवासी रजनीश वर्मा को गिरफ्तार कर हनुमानताल थाने लाया गया। पूछताछ में वर्मा ने बताया कि एक देसी कार्बाइन मलूक चंद सोनकर ने बनाई थी। इसके बाद पुलिस ने भानतलैया निवासी मलूक चंद सोनकर को भी गिरफ्तार कर लिया।
मलूक चंद ने बताया कि आमतौर पर वह फर्नीचर बनाने का काम करता है, लेकिन ऑफ सीजन में भौरा (लट्टू) भी बनाता है। भानतलैया निवासी बाबूनाटी सोनकर के तीन बेटे धर्मेंद्र सोनकर, गज्जू सोनकर व सोनू सोनकर हैं। धमेंद्र की 28 मार्च 2020 को हत्या हो गई है, तभी से सोनकर परिवार हथियार एकत्र कर रहा था। गज्जू सोनकर उसके पास एक बार दो पिस्टल, एक रिवॉल्वर लेकर आया था। उसका नंबर व मार्का ग्राइंडर से मिटाया था।
——-
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बुधवार 02 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। ब्रहस्पतिवार 03 दिसंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———