कोरोना वेक्सीन पहुंची भोपाल

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में बुधवार 13 जनवरी 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–

जहरीली शराब मामला : एसपी कलेक्टर पर गिरी गाज
चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग बुधवार को भोपाल आयी कोरोना वैक्सीन के स्टोरेज और ट्रान्सपोर्ट प्रक्रिया का निरीक्षण करने के लिये किलोल पार्क स्थित स्टेट वैक्सीन स्टोर पहुँचे। वहाँ उन्होंने प्रक्रिया के सुचारू व्यवस्था का आकलन किया।
श्री सारंग ने बताया कि भोपाल में 94 हजार वैक्सीन आयी हैं। जिसे संभाग के 8 जिले भोपाल, बैतूल, हरदा, होशंगाबाद, रायसेन, राजगढ़, सीहोर और विदिशा भेजा जा रहा है। इसी प्रकार आज इन्दौर और जबलपुर को भी वैक्सीन प्राप्त हो जायेंगी। गुरूवार को ग्वालियर को वैक्सीन उपलब्ध होगी। प्रथम चरण में लगभग 5 लाख 6 हजार से अधिक वैक्सीन प्राप्त हो रही हैं। उन्होंने बताया कि वैक्सीन स्टोरेज से लेकर री-डिस्टिब्यूशन तक सारी व्यवस्थाएँ चाक-चौबंद हैं।
बताया गया कि ग्वालियर में 13 जिलों के लिये लगभग एक लाख 9 हजार 500, इंदौर में 15 जिलों के लिए एक लाख 52 हजार और जबलपुर में 15 जिलों के लिए एक लाख 51 हजार वैक्सीन उपलब्ध होंगी।
——–

कोरोना वेक्सीन पहुंची भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना जिले में शराब सेवन के फलस्वरूप हुई मौतों के मामले में आज सुबह निवास पर उच्च-स्तरीय बैठक बुलाई। बैठक में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, वाणिज्यिक कर एवं वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री मनीष रस्तोगी, प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्रीमती दीपाली रस्तोगी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुरैना की घटना अमानवीय और तकलीफ पहुँचाने वाली है। प्रदेश में मिलावट के विरुद्ध अभियान संचालित है, फिर भी यह दुःखद घटना हुई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस मामले में मुरैना के कलेक्टर और एस.पी. को हटाने के निर्देश दिए। साथ ही संबंधित क्षेत्र के एसडीओपी को निलंबित करने के निर्देश दिए गए हैं। आबकारी अधिकारी को पूर्व में ही निलम्बित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो। अन्य जिले भी सजग रहें। ऐसे मामलों में कलेक्टर, एस.पी. जिम्मेदार माने जाएंगे। दोषी अधिकारियों के विरुद्ध एक्शन भी लिया जाएगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऐसी घटना पर मैं मूकदर्शक नहीं रह सकता। ड्रग माफिया के विरुद्ध सख्त अभियान जारी रहे। पूरे प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ अभियान चले। अवैध शराब बिक्री पर पूरा नियंत्रण हो। ऐसा व्यापार करने वालों को ध्वस्त किया जाए।
——–

बीएमसी ने कहा आदतन अपराधी हैं अभिनेता सोनू सूद!
मुरैना के छैरा-मानपुर गांव में जहरीली शराब पीने से हुई 21 लोगों की मौत की गुत्थी सुलझाने में जेएएच के फोरेंसिंक विभाग अहम रोल रहेगा। पीएम में कुछ नई बातें भी सामने आई हैं। डाक्टर्स को संदेह है कि मृतकों के शरीर में मिथाइल एल्कोहल की अधिक मात्रा है। इसलिए अब मृतकों की आंखो से निकले आंसू की जांच की जाएगी। जिससे पता चलेगा कि जो शराब पी थी, वह कितनी जहरीली थी।
मुरैना के छैरा-मानपुर गांव के 21 लोग अब तक जहरीली शराब पीने से मर चुके हैं। इनमें से करीब आधा दर्जन लोगों ने 36 घंटे में ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल के आइसीयू में इलाज के दौरान दम तोड़ा है। पुलिस ने इनका पोस्टमार्टम जेएएच के पोस्टमार्टम हाउस में कराया है।
शव परीक्षण करने वाले डाक्टर ने शार्ट पीएम रिपोर्ट में बताया कि मृतक के पेट में स्प्रिट की बदबू आई है। यह बदबू मिथाइल एल्कोहल के कारण आती है। मिथाइल एल्कोहल शराब बनाने में उपयोग की जाती है, मगर मिथाइल एल्कोहल निश्चित मात्रा से अधिक डाली जाए तो वह जहर बन जाती है। इसलिए अब मिथाइल एल्कोहल की कितनी मात्रा शराब में थी, इसका पता मृतक के आंख के पानी की जांच कराने पर चलेगा। इसलिए मृतक के आंख का पानी,ब्लड सैंपल व विसरा जांच के लिए रख लिया है। इस आंख के पानी की जांच से मौत के कारण और शराब में मिथाइल एल्कोहल की मात्रा का पता चलेगा।
——–

कमेटी की तुलना कमोड से की सुको के पूर्व जज मार्कण्डेय काटजू ने!

झाबुआ जिले के ग्राम रूंडीपाड़ा में कड़कनाथ मुर्गी में बर्ड फ्लू के एच5 एन1 वायरस की पुष्टि हुई है। राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग अनुसंधान प्रयोगशाला से मंगलवार को आई रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई। अन्य जिलों में एच5 एन8 वायरस पाया गया था। एच5 एन1 इसलिए ज्यादा खतरनाक है क्योंकि इससे मानव भी संक्रमित हो सकता है। अभी तक मिला एच5 एन8 वायरस से मानव के संक्रमित होने की संभावना कम रहती है।
रिपोर्ट आने के बाद पशुपालन विभाग ने झाबुआ कलेक्टर को भारत सरकार के बर्डफ्लू एक्शन प्लान 2021 के अनुसार निस्तारण, चारा-दाना, अंडे आदि को नष्ट और प्रभावित स्थल को सेनिटाइज और डिसइन्फेकक्ट करने के निर्देश दिए हैं। प्रभावित स्थल से एक किलोमीटर की परिधि को संक्रमित क्षेत्र मानते हुए सभी प्रकार के कुक्कुट प्रजाति के पक्षियों को मारकर गाड़ा जाएगा। वहीं एक से नौ किलोमीटर की परिधि को सर्विलांस जोन मानते हुए सेम्पल कलेक्शन किया जाएगा। संक्रमित क्षेत्र में अगले 3 माह तक कुक्कुट और कुक्कुट उत्पाद की रिस्टाकिंग और कुक्कुट परिवहन पर प्रतिबंध रहेगा। झाबुआ जिले के कुक्कुट बाजार और पोल्ट्री फार्मों को भी सेनीटाइजेशन कर संक्रमण रहित किया जाएगा।
——–

बुधवार 13 जनवरी 2021, सोशल मीडिया पर चर्चित कार्टून्स देखिए
ब्रहस्पतिवार को मकर संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। इस दिन सूर्य उत्तरायण होंगे और मकर राशि में प्रवेश करेंगे। पौष मास में रुके सभी शुभ कार्य इस दिन के बाद से पूरे होने शुरू हो जाएंगें। मकर संक्रांति पर डुबकी लगाने के लिए प्रदेश की पुण्य सलिलाओं के घाटों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ेंगे। इसके लिए व्यवस्था का सिलसिला जारी है।
विक्रम संवत पंचांग के मुताबिक जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है, उस दिन मकर संक्रांति मनाई जाती है। इसलिए किसी साल 14 तो कभी 15 जनवरी को ये त्योहार मनाया जाता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस साल मकर संक्रांति 14 जनवरी को ही मनाई जाएगी। संक्रांति के दिन दान-पुण्य के साथ ही स्नान का भी विशेष महत्व होता है। माना जाता है कि इस दिन ब्रह्म मुहुर्त में या फिर प्रातः काल में किसी पवित्र नदी में स्नान करने से सभी पाप धुल जाते हैं। इसलिए तटों पर भीड़ उमड़ती है।
——–
छिंदवाड़ा जिले के जुन्नारदेव थाने से 5 किलोमीटर दूर जमकुंडा के पास एक घटना ने अंधविश्वास को जन्म दिया है। एक पेड़ से पानी का धार निकल रहा है। पेड़ से धार निकलते देख लोगों की भीड़ यहां जमा हो गई है। लोगों बोतलों में पानी भर कर ले जा रहे हैं। साथ ही इसे ईश्वरीय चमत्कार मान रहे हैं।
दरअसल, सहजा के पेड़ से पानी की धार निकलने पर लोग प्लास्टिक की खाली बोतल लेकर पेड़ के पास पहुंचने लगे हैं। कुछ लोग इसे भगवान का चमत्कार मानकर कपूर, अगरबत्ती, नारियल लेकर पूजा-पाठ के लिए पहुंच रहे हैं। लोग इस ईश्वरीय चमत्कार मान बैठे हैं और पेड़ से निकल रहे पानी को अपनी-अपनी बोतलों में भरने की होड़ मच गई। तस्वीरों में साफ देख सकते हैं कि कैसे लोगों के बीच पानी भरने के लिए मारामारी है।
बताया जा रहा है कि सहजा का पेड़ खोखला था। पिछले दिनों हुई बारिश की पानी यहां इक्कट्ठा हो गया था और फिर धीरे-धीरे उससे पानी की पतली धार बहने लगी थी। इसे लोग भगवान का चमत्कार मानकर भीड़ लगाने लगे थे, स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस ने पेड़ कटवा दिया है। उसके बाद लोग माने हैं।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——–
सागर जिले में बीना के ठेकेदार से 26 हजार रुपए की रिश्वत लेते मंडी बोर्ड के सहायक इंजीनियर एनएस राजपूत को लोकायुक्त पुलिस ने बुधवार दोपहर रंगे हाथ पकड़ा। इंजीनियर के तेवर ऐसे थे कि पकड़े जाने पर वह लोकायुक्त इंस्पेक्टर से ही कहने लगा कि आप कौन, आईडी दिखाएं? राजपूत ने ठेकेदार राकेश मोहन राय से सिक्यारिटी मनी 2 लाख 57 हजार रुपए वापस करने के एवज में रिश्वत मांगी थी। इसकी शिकायत ठेकेदार ने लोकायुक्त एसपी रामेश्वर चौबे से कर दी। रंगे हाथ पकड़े जाने के बाद भी इंजीनियर हंसता रहा।
राकेश मोहन राय ने बताया, वह सरकारी ठेकेदार हैं। 5 साल पहले उन्होंने 25 लाख की लागत से सागर जिले की राहतगढ़ मंडी में सीसी रोड व भवन निर्माण किया था। इसकी सिक्योरिटी मनी 2 लाख 57 हजार रुपए जमा थी। पांच साल का गारंटी पीरियड पूरा होने के बाद मंडी बोर्ड को यह राशि लौटानी थी। इसके लिए आवेदन किया था। राहतगढ़ मंडी के प्रभारी सब इंजीनियर एनएस राजपूत का आवेदन के साथ नोड्यूज लगना था। इसके एवज में इंजीनियर ने 13 प्रतिशत राशि की मांग की। इसके बाद मंगलवार शाम 10 प्रतिशत के हिसाब से 26 हजार रुपए में बात पक्की हो गई।
ठेकेदार ने लोकायुक्त में शिकायत कर दी। इंजीनियर को पकड़ने के लिए टीम बनाकर जाल बिछाया गया। बुधवार दोपहर ढाई बजे ठंकेदार इंजीनियर को मंडी बोर्ड कार्यालय में ही रुपए देने पहुंचे। रुपए लेने के बाद इंजीनियर ने ड्रॉज में रखे और फिर हाथ सैनिटाइज किए। जब लोकायुक्त इंस्पेक्टर केएस कल्चुरी ने राजपूत को रंगेहाथ पकड़ा, तो इंजीनियर ने इंस्पेक्टर को ही तेवर दिखाने लगा। उसने कल्चुरी से कहा कि आप कौन हैं, अपनी आईडी दिखाइए। जब कल्चुरी ने कहा कि वे लोकायुक्त से हैं, तो इंजीनियर के पैरों तले जमीन खिसक गई।
बीते एक सप्ताह में यह दूसरा इंजीनियर रिश्वत लेते पकड़ा गया है। इसके पहले 7 जनवरी को कृषि अभियांत्रिकीय विभाग में पदस्थ यांत्रिकी सहायक राजसिंह को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा था।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बुधवार 13 जनवरी 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। ब्रहस्पतिवार 14 जनवरी 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———