निकाय चुनावों में भाजपा में उम्र की बाध्यता नहीं!

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में शुक्रवार 26 फरवरी 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में चुनावी बिगुल बज चुका है। चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार शाम को इसका ऐलान किया। पश्चिम बंगाल में 8 तो असम में 3 चरणों में चुनाव होंगे। केरल, पुडुचेरी और तमिलनाडु में सिंगल फेज में 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। सभी 5 राज्यों के लिए 2 मई को नतीजे आएंगे। असम और पश्चिम बंगाल में 27 मार्च को पहले चरण की वोटिंग होगी। बंगाल में 29 अप्रैल को आठवें और आखिरी चरण की वोटिंग होगी।
पांचों राज्यों को मिलाकर कुल 824 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होंगे। 18.6 करोड़ वोटर 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इनमें से अकेले पश्चिम बंगाल में ही 1 लाख से ज्यादा मतदान केंद्र होंगे।
कोरोना महामारी के मद्देनजर गाइडलाइंस का पालन करते हुए वोटिंग होगी और इसका समय एक घंटे बढ़ाया गया है। जमानत राशि ऑनलाइन जमा कराई जाएगी। उम्मीदवार समेत अधिकतम 5 लोग ही घर-घर जाकर वोट मांग सकेंगे। चुनाव से जुड़ी जानकारी के लिए आयोग ने टोल फ्री नंबर 1950 जारी किया है। पुडुचेरी में कोई उम्मीदवार अधिकतम 22 लाख रुपये चुनाव प्रचार पर खर्च कर सकता है। लेकिन बाकी 4 राज्यों में किसी एक सीट पर कोई उम्मीदवार अधिकतम 38 लाख रुपये खर्च कर सकेगा।
——–
मध्यप्रदेश में कांग्रेस में एक फिर से दरार पड़ती दिखाई दे रही है। इस बार लड़ाई महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे की विचारधारा को लेकर है। मध्यप्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव ने अपनी ही पार्टी के फैसले के खिलाफ आवाज उठाई है। गोड़से की विचारधारा के समर्थक माने जाने वाले नेता बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस में शामिल होने का विरोध किया है।
अरुण यादव ने लेटर लिखते हुए कहा- मैं आरआरएस विचारधारा को लेकर लाभ हानि की चिंता किये बगैर जुबानी जंग नहीं, सडकों पर लड़ता हूँ। मेरी आवाज कांग्रेस और गांधी विचारधारा को समर्पित एक सच्चे कांग्रेस कार्यकर्ता की आवाज है। जिस संघ कार्यालय में कभी तिरंगा नहीं लगता है वहां इंदौर के संघ कार्यालय पर कार्यकर्ताओं के साथ जाकर मैने तिरंगा फहराया। देश के सारे बड़े नेता कहते हैं कि देश का पहला आतंकवादी नाथूराम गोडसे था। आज गोडसे की पूजा करने वाले की कांग्रेस में प्रवेश को लेकर वे सब खामोश क्यो हैं?
आपने कहा कि यदि यही स्थिति रही तो आतंकवाद से जुंडी भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर, जिसने गोडसे को देशभक्त बताया है, जिसे लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि मैं प्रज्ञा ठाकुर को जिंदगीभर माफ नहीं कर सकता हूं। यदि वो भविष्य में कांग्रेस में प्रवेश करेगी तो क्या कांग्रेस उसे स्वीकार करेगी?
अपनी ही सरकार में कमलनाथ ने इन्ही बाबूलाल चौरसिया और उनके सहयोगियों का ग्वालियर में गोडसे का मंदिर बनाने और पूजा करने के विरोध में एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया था। इन स्थितियों में जब संघ और पूरी भाजपा एकजुट होकर महात्मा गांधीजी, नेहरूजी और सरदार वल्लभभाई पटेल के चेहरे को षड्यंत्रपूर्वक नई पीडी के सामने भद्दा करने की करने की कोशिश कर रही है।
तब कांग्रेस की गांधी विचारधारा को समर्पित एक सच्चे सिपाही के नाते मै खामोश नही बैठ सकता हूँ। यह मेरा वैचारिक संघर्ष किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं होकर कांग्रेस पार्टी की विचारधारा को समर्पित है। इसके लिए मैं हर राजनीतिक क्षति सहने को तैयार हूं।
——–
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा गुरुवार को रीवा पहुंचे थे। शर्मा ने रीवा में बीजेपी नेताओं से निकाय चुनाव को लेकर वन टू वन बात की है। उसके बाद उन्होंने पत्रकारों से बात की है। इस दौरान उन्होंने विंध्य के विकास पर जोर दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि विंध्य ने बीजेपी को पर्याप्त दिया तो विकास के नए आयाम इस इलाके में जुड़ेंगे।
वीडी शर्मा ने कहा है कि आगामी निकाय चुनाव में पार्टी ने उम्र में किसी भी प्रकार की बाध्यता नहीं रखी है। उन्होंने साफ किया कि उम्र की सीमा से परे टिकट का वितरण किया जाएगा। वीडी शर्मा ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि ईवीएम को लेकर वह जो राग आलाप रहे हैं। वह केवल उनकी हार का प्रतीत है।
इसके साथ ही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि विंध्य की अधिकांश सीटों पर बीजेपी की जीत विंध्य के लोगों की वजह से हुई है। हम लोग विंध्य को पर्याप्त देने की कोशिश में जुटे हैं। वीडी शर्मा ने पश्चिम बंगाल और गुजरात के चुनाव को लेकर भी बात की है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात चुनाव में 84 फीसदी मतों के साथ विजय प्राप्त की है तो ऐसा ही बंगाल चुनाव में भी देखने को मिलेगा।
——–
राज्य शासन ने भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की केंद्र पोषित योजना में कृषि अधोसंरचना निधि के लिए जारी निर्देशों के अनुसार राज्य स्तरीय निगरानी समिति का गठन किया है। मुख्य सचिव समिति के अध्यक्ष होंगे। प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य बीज एवं फार्म विकास निगम समिति के सदस्य सचिव होंगे।
समिति में अपर मुख्य सचिव सह कृषि उत्पादन आयुक्त, अपर मुख्य सचिव पशुपालन, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास, प्रमुख सचिव किसान कल्याण तथा कृषि विकास, प्रमुख सचिव उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण, प्रमुख सचिव सहकारिता, प्रमुख सचिव मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास, सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, आयुक्त सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाएँ, संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास, मुख्य महाप्रबंधक राष्ट्रीय कृषि ग्रामीण बैंक (नाबार्ड), क्षेत्रीय निदेशक राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम स्थानीय कार्यालय तथा राज्य समन्वयक, राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति जोनल ऑफिस सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया भोपाल समिति के सदस्य होंगे।
——–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाहे जितने दावे कर लें, लेकिन माफियाराज हावी है। ग्वानलियर के तिघरा के जंगल में पत्थर के अवैध उत्खनन को रोकने पहुंचा वन अमला खुद ही घिर गया। अचानक झाड़ियों से गोलियां बरसने लगीं। माफिया ने 20 मिनट तक रुक-रुक कर गोलियां चलाईं। वन विभाग और एसएएफ के जवानों ने बमुश्किल छिपकर जान बचाई। इस दौरान पत्थर माफिया जेसीबी मशीन के साथ बंधक बने अपने साथी को भी छुड़ा ले गए। घटना गुरुवार-शुक्रवार दरमियानी रात 1.40 बजे की है। बताया जा रहा है कि जवान से कार्बाइन छीन ली गई थी। बाद में वह घटनास्थल पर ही पड़ी मिल गई तो पुलिस ने राहत की सांस ली। आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
एसडीओ घाटीगाव सर्किल संजीव कुमार ने बताया कि रात को करीब 12.50 बजे सूचना मिली थी कि तिघरा थाना क्षेत्र के लखनपुरा इलाके में खनन माफिया द्वारा पत्थर का अवैध खनन किया जा रहा है। सूचना पर रेंजर विकास मिश्रा के साथ ही तिघरा चौकी प्रभारी सुनील जेवियर, गेमरेंज सुपरवाइजर शंकर खलको के साथ ही वन विभाग का अमला निकला। साथ में एसएएफ का बल भी था। यह सभी लखनपुरा के जंगल में पहुंचे, जहां एक जेसीबी मशीन से पत्थर का उत्खनन करती मिला। वन विभाग व एसएएफ के बल ने जेसीबी मशीन को घेर लिया और जेसीबी चला रहे ऑपरेटर को अपनी निगरानी में ले लिया।
वन अमले ने मशीन जब्त कर एक ऑपरेटर को पकड़ा ही था कि तभी अचानक जंगल की झाड़ियों से फायरिंग शुरू हो गई। वन अमले को संभलने का मौका ही नहीं मिला। जवान अपनी राइफल तक नहीं निकाल पाए। किसी तरह छिपकर अपनी जान बचाई। रुक-रुक माफिया गोली चला रहे थे। इसी दौरान वे अपनी जेसीबी मशीन और ऑपरेटर को छुड़ा ले गए। गोलीबारी की सूचना पुलिस को दी गई। जब तक पुलिस पहुंची माफिया सामान समेटकर भाग चुके थे।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——–
राज्य शासन ने पशुपालन विभाग का नाम परिवर्तित कर पशुपालन एवं डेयरी विभाग कर दिया है। इस संबंध में मध्यप्रदेश राजपत्र में दिनांक 11 जनवरी 2021 को अधिसूचना जारी कर दी गई है।
——–
बालाघाट जिले में बैगा जनजाति के लोगों का रोजगार के लिये अन्य जिलों और राज्यों में पलायन घट रहा है। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग ने बैगा किसानों के खेतों पर सोलर पंप की स्थापना कर सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई है। इससे बैगा जाति के लोग अब अपने गाँव में ही रुकना पसंद कर रहे हैं। अंधियारो बाई, नजरू और धनसिंह धुर्वे बहुत खुश हैं कि अब अपना घर-द्वार छोड़कर रोजगार के लिये भटकना नहीं पड़ रहा है।
बालाघाट से 106 किलोमीटर दूर सघन वन क्षेत्र में स्थित गाँव हीरापुर में अलग-अलग टोलों में बैगा जनजाति के लोग रहते हैं। यहाँ नजरू और उनकी पत्नी सुकवारो बाई सोलर पंप का गुणगान करते नहीं थकते। सुकवारो बाई कहती हैं कि पति की अनुपस्थिति में वह स्वयं सोलर पंप का संचालन करती हैं। उनकी बाड़ी में लगभग एक साल पहले ऊर्जा विकास निगम ने केवल 3 हजार रूपये लेकर सोलर पंप लगाया था। पंप से अब बढ़िया सिंचाई हो रही है। पहले कुआँ होने के बावजूद ज्यादा उपज नहीं मिल पाती थी। बारिश से थोड़ी-बहुत उपज होती थी। बारिश भी भगवान भरोसे थी। अब धान और उन्हारी की भरपूर फसल ले रही हैं। गाँव पहुँचने वालों को सुकवारो बाई बहुत उत्साह से पंप चलाकर बताती हैं। वह अपने पंप और बाड़े की साफ-सफाई और सुरक्षा बड़े जतन से कर रही हैं।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में शुक्रवार 26 फरवरी 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। रविवार 28 फरवरी 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते ही हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———