सरकार के मत से अलग विचार जाहिर करना राजद्रोह नहीं : सुप्रीम कोर्ट

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में बुधवार 03 मार्च 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
सरकार के मत से अलग विचार जाहिर करना राजद्रोह नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने अनुच्छेद-370 पर जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला के बयान के मामले में उनके खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज करते हुए यह टिप्पणी की। याचिका में कहा गया था कि फारूक अब्दुल्ला ने 370 को बहाल करने का जो बयान दिया है वह राजद्रोह है और उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अर्जी में याचिकाकर्ता रजत शर्मा और डॉक्टर नेह श्रीवास्तव ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला ने बयान दिया है कि अनुच्छेद-370 बहाल होना चाहिए और इस तरह का बयान चीन और पाकिस्तान का समर्थन करता है। आरोप लगाया गया कि अब्दुल्ला ने जो बयान दिया है कि उससे जाहिर होता है कि वह जम्मू कश्मीर को चीन और पाकिस्तान के हवाले करना चाहते हैं। ऐसे में उनके खिलाफ राजद्रोह यानी आईपीसी की धारा-124 ए के तहत कार्रवाई होनी चाहिए।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार के मत से अलग मत रखना और व्यक्त करना राजद्रोह नहीं बनता है। अदालत ने याचिकाकर्ता की अर्जी खारिज करते हुए उन पर 50 हजार रुपये का हर्जाना भी लगाया है।
——–
भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी, अमित समेत कई हस्तियां वैक्सीन लगवा चुकी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार अब तक वैक्सीन की 1.5 करोड़ से ज्यादा डोज भारत में दी जा चुकी है। हालांकि जिन लोगों ने अब तक वैक्सीन नहीं ली है, उनके लिए एक अच्छी खबर है। सूई के जरिए वैक्सीन लेने से अब जल्द ही छुटकारा मिल सकता है। जल्द ही नाक के जरिए ली जाने वाली (नेजल वैक्सीन) का ट्रायल शुरू होने जा रहा है।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारत बायोटेक की नेजल वैक्सीन का भारत में ट्रायल अगले हफ्ते से शुरू हो सकता है। रिपोर्ट्स के अनुसार शुरुआती ट्रायल पटना, चेन्नै, नागपुर, हैदराबाद जैसे शहरों में हो सकता है। अच्छी बात यह है कि नेजल वैक्सीन की केवल एक डोज से ही लोगों को कोरोना से सुरक्षा मिलेगी। अभी दी जीने वाली कोविड वैक्सीन के 2 डोज लेने पड़ते हैं। 28 दिन के अंतराल पर ये दोनों डोज दिए जाते हैं।
अभी भारत में दी जा रही सीरम इंस्टिट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को सूई के जरिए लेना होता है। अगर नई वैक्सीन का ट्रायल सफल रहता है तो लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन लेना पहले से आसान हो जाएगा। गौरतलब है कि भारत बायोटेक ने आईसीएमआर और एम्स के साथ मिलकर कोरोना की वैक्सीन विकसित की है। हाल ही में पीएम मोदी ने भी दिल्ली एम्स जाकर भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन ली थी।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को दिल्ली स्थित आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली और उन सभी लोगों से टीका लगवाने की अपील की, जो दूसरे चरण के टीकाकरण अभियान के तहत इसकी पात्रता रखते हैं।
——–
मुंबई में फिल्म एक्ट्रेस व डायरेक्टर को यहां छापे पर को लेकर कांग्रेस के आरोप पर प्रकाश जावड़ेकर नाराजगी जताई। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह तो हद हो गई है। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि जो-जो भाजपा की आलोचना करते हैं पार्टी उन्हीं को टारगेट करती है। जावडे़कर ने कहा कि जिसके भी बारे में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट या जांच एजेंसियों को विश्वसनीय जानकारी मिलती है, उसकी जांच होती है। बाद में कोर्ट में भी मामला जाता है। ऐसा थोड़े ना होता है कि किसी के कहने पर छापा मारा जाता है।
फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप और अभिनेत्री तापसी पन्नू की संपत्तियों पर आयकर विभाग की छापेमारी पर कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा कि ये देश के लिए कोई नई बात नहीं है। आजकल रोज का यह मामला हो गया है कि जो भी केंद्र सरकार के खिलाफ अपनी भूमिका रखता है उसपर दबाव बनाने का यह माध्यम हो गया है।
——–
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इमरजेंसी को गलती बताने वाले बयान पर भाजपा ने आक्रामक हो गई है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने कहा कि राहुल गांधी माफी मांगते थक जाएंगे लेकिन उनके गुनाहों की गिनती खत्म नहीं होगी। इमरजेंसी में जिन लोगों ने अपनी जाने गंवाई,जिस तरह से उन्होंने लोकतंत्र की हत्या की..ये माफी करने लायक है? इनकी गुनाहों के गली के हर मोड पर इनके गुनाहों के ढेर दिखेंगे।
वहीं, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी के आपातकाल के फैसले को गलत कहने पर चुटकी ली। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राहुल गांधी की दिक्कत यही है कि वह बहुत बरस बाद सोचते हैं। शिवराज ने कहा कि 1975 में इमरजेंसी लगी थी, हम भी जेल गए थे। उस समय हम बच्चे थे। आज जब राहुल गांधी बोल रहे हैं तब हम 61 साल के हो गए हैं।
शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इतनी पीछे उनकी सोच चल रही है। हालांकि, देर आए, दुरुस्त आए। सीएम ने कहा कि राहुल गांधी जिस ढंग से केंद्र सरकार पर, प्रधानमंत्री पर बेहूदी टिप्पणियां करते हैं एक दिन उनको, पता नहीं कब उनकी ट्यूबलाइट जलेगी और उनको अपनी गलती भी महसूस होगी। इसके बाद फिर उन्हें अपनी गलतियों की माफी मांगनी पड़ेगी।
——–
महाराष्ट्र पुलिस के जवानों पर हॉस्टल की लड़कियों के साथ अभद्रता करने का मामला सामने आया है। आरोप है कि जलगांव के एक गर्ल्स हॉस्टल में पुलिस वालों ने लड़कियों को कपड़े उतारकर डांस करने के लिए मजबूर किया है। यह मामला उस वक्त सामने आया जब भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक ने इस मामले को निचली सदन में उठाया। बुलढ़ाना के चिखली विधानसभा सीट से विधायक स्वेता महाले ने इस मामले को सबसे पहले उठाया था। इस मामले में एक स्थानीय गैर सरकारी संस्था ने मंगलवार को जिले के कलेक्टर के पास यह मुद्दा उठाया।
इधर बीजेपी विधायक ने कहा कि इस तरह की हरकतों में पुलिस के सामने होने की बात सामने आई है, जिससे पूरा राज्य शर्मसार हुआ है। जिनपर महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी है, वो ही शैतान बन गए हैं। हम इस मामले में गंभीर कार्रवाई की मांग करते हैं।
——–
कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली ने बुधवार को अपने खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा को अपना इस्तीफा सौंप दिया। उनका इस्तीफा उस कथित वीडियो क्लिप के वायरल होने के बाद आया है जिसमें वे एक अज्ञात महिला के साथ अंतरंग होते दिखाई दे रहे हैं। दोनों के बीच कुछ बातचीत भी हो रही है। कन्नड़ समाचार चौनलों पर उनका यह वीडियो लगातार चलाया जा रहा है। जिसके बाद सत्तारूढ़ भाजपा के भीतर विवाद पैदा हो गया है।
एक सामाजिक कार्यकर्ता, दिनेश कालाहल्ली ने मंत्री के खिलाफ कब्बन पार्क पुलिस ठाणे में शिकायत दर्ज़ कराई है। कालाहल्ली ने आरोप लगाया है कि वीडियो क्लिप में मंत्री ने महिला को सरकारी नौकरी का लालच देकर उसके साथ रेप किया है। बुधवार को अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए रमेश जारकिहोली ने नैतिक आधार पर इस्तीफा दे दिया। उनके भाई और भाजपा विधायक बालाचंद्र जारकीहोली ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।
——–
चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पस्त होने के बावजूद ड्रैगन रोज भारत के खिलाफ नए हथडंडे अपना रहा है। चीनी हैकर्स भारतीय साइबर स्पेस को क्रैक करने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। बीते एक साल से चीनी हैकर्स द्वारा हैकिंग के अधिक आक्रामक प्रयास किए गए हैं। कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम और नेशनल क्रिटिकल इंफ़ॉर्मेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोटेक्शन सेंटर जैसे विभिन्न सरकारी संगठन चीनी हैकर्स की हरकतों पर नजर बनाए हुए हैं। गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प के बाद किए गए चीनी प्रयासों का ट्रैक रख रहे हैं। विशेषज्ञों ने कहा है कि चीनी हैकर्स के प्रयास पिछले वर्ष में बढ़े हैं।
हाल ही में इसको लेकर एक रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दो भारतीय कंपनियां (सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक), जो कोविड 19 टीकाकरण की आपूर्ति कर रही हैं, पर एक चीनी हैकिंग समूह एपीटी10 ने साइबर हमले की कोशिश की है। इस ग्रुप को स्टोन पांडा के रूप में भी जाना जाता है।
——–
एक महिला अधिकारी के साथ कुछ गलत करने वाले अधिकारी को जब महिला अधिकारी ने जवाब दिया कि वह सही महसूस नहीं कर रही हूं और यह गलत होगा। इसके बाद भी नराधम अधिकारी ने महिला को नहीं बख्शा। यह मामल तमिलनाडु के पूर्व स्पेशल डीजीपी के खिलाफ महिला आईपीएस अधिकारी की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत का हिस्सा है। महिला अफसर ने पूर्व डीजीपी के खिलाफ दायर यौन उत्पीड़न की शिकायत में बताया है कि उन्होंने मेरा हाथ चूमा था और अपने मोबाइल में मेरी तस्वीरें दिखाते हुए कहा था कि ये मेरी फेवरेट लिस्ट में हैं।
तमिलनाडु में यह मामला सामने आने के बाद प्रशासनिक अमले में भूचाल आ गया था और हाई कोर्ट ने अपनी निगरानी में सीबी-सीआईडी को जांच का आदेश दिया है। आरोपी डीजीपी निलंबित हो गए हैं, लेकिन उन पर लगे आरोपों की हर जगह चर्चा है। महिला आईपीएस ने अपनी शिकायत में बताया है कि स्पेशल डीजीपी ने उन्हें अपनी कार में अगली मीटिंग की जगह पर चलने को कहा था। इसके अलावा उन्होंने कहा था कि वह उसे पेरमबलूर में ड्रॉप कर देंगे। इसके बाद सीएम के कार्यक्रम के खत्म होने पर दोनों एक ही कार से शाम को 6ः30 बजे निकल गए। इसके बाद वे ऐसे करीब दो स्थानों पर रुके, जहां अगले दिन सीएम के इवेंट होने वाले थे। उनकी जांच और तैयारी समझने के बाद आगे बढ़े तो यह वाकया शुरू हुआ।
——–
पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की एक हालिया तस्वीर सामने आई है जिसमें उनकी हालत काफी दयनीय लग रही है। वह वीलचेयर पर बैठे हैं और काफी कमजोर लग रहे हैं। फोटो को शेयर करते हुए ऑल पार्टीज मुस्लिम लीग ने मुशर्रफ के जल्द बेहतर होने की दुआ की लेकिन ट्विटर पर पाकिस्तान के लोग उन पर गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। उनका कहना है कि मुशर्रफ पाकिस्तान के हीरो नहीं हैं बल्कि उन्होंने अमेरिका के हाथों देश को बेच दिया और आज वह वही काट रहे हैं जो उन्होंने बोया है।
——-
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बुधवार 03 मार्च 2021 का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन। बृहस्पतिवार 04 मार्च 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते ही हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———