कोरोना के चलते इस साल भी पांचवी तक शायद ही लगें क्लासेस!

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में बृहस्पतिवार 04 मार्च 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
मध्यप्रदेश में कोरोना के केस बढ़ने की वजह से इस साल भी 5वीं तक की क्लास नहीं खुलेंगी। एक अखबार से विशेष बातचीत में स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा, कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। वहीं, 6वीं से लेकर 8वीं तक की क्लास चलने पर भी जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।
प्रदेश में लगातार केस बढ़ रहे हैं। भोपाल और इंदौर में अधिक प्रभाव है। इसे देखते हुए हर सप्ताह समीक्षा कर रहे हैं। उसी के आधार पर बड़ी क्लास को खोले जाने का निर्णय किया जाएगा, लेकिन छोटे बच्चों की क्लास को अभी नहीं खोला जाएगा।
मंत्री ने कहा कि अभी तो परीक्षा आयोजित कराना पहली प्राथमिकता है। सरकारी और निजी दोनों ही स्कूल के लिए गाइडलाइन जारी है। जहां तक 10वीं और 12वीं क्लास की परीक्षा का सवाल है, तो वे ऑफलाइन ही होंगी।
उन्होंने कहा कि यह उनके भविष्य का सवाल है। हालांकि निजी स्कूलों को एग्जाम और अन्य क्लास की परीक्षा को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से कराने की छूट दी है। वे अपनी सुविधा और गाइडलाइन का पालन करने हुए निर्णय ले सकते हैं। परीक्षा संपन्न होने के बाद ही नया सत्र प्रारंभ करने का विचार किया जाएगा।
मंत्री परमार ने कहा कि अभी तक निजी स्कलों पर अंकुश लगाने के लिए कोई दिशा-निर्देश या कानून नहीं था। अब नए प्रावधान के अनुसार स्कूल मनमानी फीस नहीं ले सकेंगे। अगर कोई स्कूल फीस बढ़ाना चाहता है, तो उसे पहले शासन से अनुमति लेना होगा। इसके लिए उसने फीस बढ़ाने का कारण बताना होगा। जहां तक कोर्स की बात है, तो उस पर भी सरकार कार्य कर रही है।
——–
मध्यप्रदेश में 10 मार्च से आचार संहिता लग सकती है। इस पर निर्णय 6 मार्च को संभावित चुनाव आयुक्त बीपी सिंह की प्रदेश के सभी कलेक्टर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद लिया जा सकता है। प्रदेश में 407 नगरीय निकायों में चुनाव के लिए फाइनल वोटर लिस्ट 3 मार्च को जारी की जा चुकी है। अब सिर्फ आचार संहिता लागू होने का निर्णय लिया जाना शेष है।
संभावना जताई जा रही है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने निकाय चुनाव को दो और पंचायत चुनाव को तीन चरणों में कराने की तैयारी की है। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार वोटिंग का समय 1 घंटा बढ़ाया जा रहा है। यह समय उपचुनाव के दौरान भी बढ़ाया गया था। वोटिंग सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगी।
मध्यप्रदेश के नगर निगम और परिषदों में एक साल से भी अधिक समय से प्रशासकीय कार्यकाल चल रहा है। सबसे पहले कमलनाथ सरकार ने चुनावों की तारीख बढ़ाई। इसके बाद शिवराज सरकार भी इसे टालती रही। इसके बाद इसे तीन महीने के लिए और आगे बढ़ाने का फैसला किया गया था। इसके खिलाफ याचिका दायर की गई, तो हाईकोर्ट ने जल्द चुनाव कराने के आदेश दिए।
——–
जबलपुर-गोंदिया होकर शुरू हुई रीवा-इतवारी-रीवा स्पेशल ट्रेन एक पखवाड़े के अंदर ही फुल होकर दौड़ाने लगी है। इस ट्रेन से नागपुर (इतवारी) की यात्रा के लिए स्लीपर द्वितीय श्रेणी में प्रतीक्षा सूची बनने लगी है। जबलपुर-नैनपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना पूरी होने के साथ ही इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य होने के बाद इस नए ट्रैक पर अभी दो साप्ताहिक ट्रेन ही चल रही हैं। यात्रियों की मांग को देखते हुए रेलवे ने प्रस्तावित जबलपुर-चांदाफोर्ट स्पेशल को दौड़ाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं।
जबलपुर-चांदाफोर्ट स्पेशल ट्रेन के शुरू होने से शहर से दक्षिण भारत की यात्रा सुलभ होगी। चांदाफोर्ट स्टेशन से बल्लारशाह स्टेशन सिर्फ दस किलोमीटर दूर है। बल्लारशाह से हैदराबाद, बैंगलुरु और चेन्नई की ओर जाने के लिए ट्रेन के कई विकल्प हैं।
रेलवे की ओर से जबलपुर-चांदाफोर्ट को मुख्य स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर पहली यात्रा में भेजने में तैयारी हो रही है। बताया जा रहा है कि जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना को पूरा करने के लिए सांसद राकेश सिंह लगातार प्रयास करते रहे हैं। अब मुख्य स्टेशन में ट्रेन का उद्घाटन समारोह करने की तैयारी है। इसमें सांसद राकेश सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रह सकते हैं। सांसद की उपस्थिति में रेलमंत्री पीयूष गोयल वर्चुअली कनेक्ट होकर ट्रेन का शुभारंभ कर सकते हैं।
——–
प्रदेश में अधिकारी का एक वीडियो शिवराज के सुशासन पर सवाल खड़ा कर रहा है। मुरैना जिले के एडीएम का वीडियो तो यहीं बयां कर रहा है। अब आम लोगों को अपनी परेशानी बताने के लिए भी साहब से परमिशन लेना होगा। अगर बिना परमिशन उनके दफ्तर के आसपास फटके भी तो सभी को जेल में डलवा देंगे। कुछ इसी अंदाज में अपनी समस्या लेकर आए ग्रामीणों को एडीएम साहब हड़का रहे हैं।
पब्लिक को हड़काते हुए उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में जनता के साथ अभद्रतपूर्वक व्यवहार कर रहे हैं। मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान जिले के एडीएम उमेश शुक्ला शिकायत लेकर आए ग्रामीणों पर आपा खो बैठे। कैलारस के कटटोली गांव के लोगों को राशन नहीं मिल रहा है। इसकी शिकायत लेकर ग्रामीण बिना रपमिशन के ही कलेक्ट्रेट में घुस गए।
वहीं, एडीएम को ग्रामीणों के आने के बारे में जब सूचना मिली तो वह अपने ऑफिस से बाहर निकल कर उनसे मिलने आए। उसके बाद वह ग्रामीणों को देख कर आगबबूला हो गए। ग्रामीणों से कहने लगे कि तुम लोग बिना परमिशन लिए यहां तक कैसे आ गए हो। सभी लोगों को जेल में डलवा दूंगा। कहने लगे कि तुम्हारा नेता कौन है, सरपंच ने कहा कि जनता राशन ना मिलने की शिकायत लेकर आई है तो उन्होंने सरपंच से कहा कि जनता क्या होती है .? मैं तुम्हारे खिलाफ एफआईआर करा दूंगा, इतना कह कर एडीएम ने अपने गनर को आदेश देकर कहा इसकी नेतागिरी निकालते है नाम नोट करो इसका…।
——–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज हमीदिया अस्पताल पहुँचकर कोरोना वैक्सीन लगवाई। मुख्यमंत्री श्री चौहान को कोविशील्ड वैक्सीन नर्स श्रीमती नलिनी वर्गीस एवं श्रीमती सुनीता जोंजारे द्वारा लगायी गयी। श्री दीपक राठौर ने वैरिफिकेशन का कार्य किया।
टीकाकरण के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान कोरोना वैक्सीन प्रोटोकॉल अनुसार निर्धारित समय तक वहाँ रूके तथा उसके बाद अपने निवास वापस आए। इस दौरान उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह भी उनके साथ थीं। कोरोना टीकाकरण के अंतर्गत प्रदेश में 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा रहा है।
——–
राज्य शासन द्वारा जारी आदेशानुसार वन्य प्राणियों द्वारा मकान में पहुँचाई गई क्षति को भी प्राकृतिक प्रकोपो से होने वाली हानि की श्रेणी में शामिल किया गया है। विगत दिनों मंत्रिमंडल द्वारा लिए गए निर्णय अनुसार प्राकृतिक प्रकोपो से होने वाली हानि के वर्तमान में प्रावधानित मानदंडों में संशोधन करते हुए अब किसी भी प्रकार के प्राकृतिक प्रकोप या आग लगने के कारण या वन्य प्राणियों द्वारा मकान पूर्ण रूप से नष्ट किया गया हो अथवा आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुआ हो तो उसे भी आर्थक अनुदान सहायता दी जा सकेगी।
इसके साथ ही प्राकृतिक प्रकोप या अग्नि दुघर्टना के साथ वन्य प्राणियों द्वारा पीड़ित परिवार के कपड़े, खाद्यान्एोवं बर्तनों की हानि के लिए प्रति परिवार 5 हजार रूपये आर्थिक अनुदान के रूप में तथा 50 कि.ग्रा. खाद्यान्न (गेंहूँ/चावल) एवं पांच लीटर केरोसीन तात्कालिक सहायता के रूप में दिये जायेंगे। इसके साथ अप्रत्याशित प्राकृतिक आपदाओं के मामलों में एसडीआरएफ (स्टेट डिजास्टर रिस्पोंस फंड) से राहत राशि व्यय में ऐसे मद भी शामिल किए गए हैं, जिनके विषय में कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं था।
राज्य शासन द्वारा लिए आदेशानुसार प्राकृतिक आपदा से क्षतिग्रस्त फसल के मामलों में अब देय अनुदान सहायता से कम मूल्य की फसल क्षति हुई हो तो भी अनुदान सहायता नष्ट हुई फसल के मूल्य के बराबर देय होगी तथा प्रत्येक खाते हेतु सभी फसलों के मामले में देय राशि 5 हजार से कम नहीं होगी।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——–
मध्य प्रदेश विधानसभा में गुरुवार को फिर अवैध खनन का मुद्दा उठा। कांग्रेस के विधायकों ने सरकार पर माफिया को संरक्षण देने और अवैध खनन पर रोक लगाने में नाकामी का आरोप लगाया। सत्तापक्ष से खनिज साधन मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह और संसदीय कार्य मंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने प्रतिपक्ष के आरोपों का जवाब दिया, पर हंगामा शांत नहीं हुआ। कांग्रेस सदस्यों ने सरकार के जवाब से असंतुष्ट होकर बहिर्गमन कर दिया।
प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक आरिफ अकील ने ग्वालियर-चंबल सहित अन्य संभागों में अवैध खनन का मुद्दा उठाते हुए कहा राजस्थान के पुलिस अधिकारी पत्र लिखकर मध्य प्रदेश में अवैध खनन की बात उठा रहे हैं। इंदौर में एक मंत्री अवैध खनन की गाड़ियों को छुड़ाकर ले गए।
बसपा से विधायक संजीव कुशवाह ने सरकार पर बड़े खनन माफिया को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा कि किसानों के ट्रैक्टर राजसात कर लेते हैं पर बड़ी मशीनों को छोड़ दिया जाता है। उन्हें तो अवैध खनन करके रेत दी जाती है, पर खदान संचालक पर कोई कार्रवाई नहीं होती है। भिंड में राष्ट्रीय राजमार्ग पर खनन कंपनी के गुंडे बंदूकें लेकर खड़े हैं। इस दौरान ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर कुछ कहने के लिए खड़े हुए तो डा. गोविंद सिंह ने उनसे इस्तीफा मांग लिया।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में बृहस्पतिवार 04 मार्च 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। शुक्रवार 05 मार्च 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते ही हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———