दूसरे देशों को वैक्सीन बेचने पर सख्त टिप्पणी की हाई कोर्ट ने!

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में बृहस्पतिवार 04 मार्च का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन.
——–
राकेश टिकैत कृषि कानूनों के विरोध में लगातार किसान महापंचायतों का हिस्सा बन रहे हैं। पिछले कई दिनों से वे राजस्थान के विभिन्न स्थानों पर महापंचायतों को संबोधित कर रहे हैं और किसानों को जातिवाद से ऊपर उठकर आंदोलन करने के लिये प्रोत्साहित कर रहे हैं। बुधवार को राकेश टिकैत ने राजस्थान के नागौर में आयोजित किसान महापंचायत में हिस्सा लिया और वो वहाँ केंद्र सरकार के विरूद्ध जमकर बरसे। नागौर, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक दल के सांसद हनुमान बेनीवाल के प्रभाव क्षेत्र में आता है। हनुमान बेनीवाल भी कृषि कानूनों के विरोध में सरकार के विरूद्ध बोलते रहे हैं।
नागौर किसान महापंचायत में बोलते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि मोदी सरकार कह रही है कि देश में प्रत्येक स्थान पर एम.एस.पी. पर फसल की खरीद हो रही है तो किसान अपनी फसल लेकर संसद पहुँच जाये क्योंकि वे अपनी फसल आधे दाम पर बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब किसानों को असली मंडी का पता चल गया है जो कि संसद भवन है।
——–
किसान आंदोलन के प्रमुख नेताओं में से एक राकेश टिकैत का एक बयान एक बार फिर से काफी सुर्खियों में है। इस बयान के दावों ने भारतीय जनता पार्टी के अंदर हलचल उत्पन्न कर दी है। दरअसल राकेश टिकैत ने दावा किया है कि इसी महीने किसान आंदोलन के समर्थन में एक भाजपा सांसद का स्तीफा होगा। हालांकि टिकैत ने अभी उस सांसद के नाम का खुलासा नहीं किया है। इस दावे के बाद देश में कई तरह की अटकलें लगायी जा रही हैं। कुछ लोगों का कहना है कि राकेश टिकैत जिस भाजपा सांसद के स्तीफे की बात कर रहे हैं, वो सांसद पश्चिमी उत्तर-प्रदेश या हरियाणा या पंजाब से हो सकता है।
——–
ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ए.आई.एम.आई.एम. चीफ असदउद्दीन ओवैसी ने अहमदाबाद की साबरमती नदी में कूदकर जान देने वाली आयशा की मौत पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। असदउद्दीन ओवैसी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा अहमदाबाद में जो मुसलमान बच्ची का दर्दनाक वीडियो आया है जिसने खुदकुशी कर ली।
उन्होंने कहा यदि तुम मर्द हो तो बीवी पर जुल्म करना मर्दानगी नहीं है। बीवी को मारना मर्दानगी नहीं है। तुम मर्द कहलाने के लायक नहीं हो यदि ऐसी हरकत करोगे। मैं आप तमाम से अपील कर रहा हूं, चाहे आप किसी भी मज़हब के हों, इस दहेज की लानत को समाप्त करो। उन्होंने कहा कि मैं उन तमाम मुसलमानों से अपील कर रहा हूं अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम (पैगंबर मोहम्मद) ने इरशाद फरमाया था कि तुममें सबसे बेहतरीन वो है जो अपने घरवालों से अच्छा व्यवहार करे।
——–
दिल्ली हाई कोर्ट ने गुरुवार को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को कोरोना टीके को बनाने की क्षमता की जानकारी देने का निर्देश दिया। साथ ही, हाई कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा है कि हम दूसरे देशों को वैक्सीन बेच रहे हैं, लेकिन अपने ही लोगों को नहीं दे पा रहे हैं। सीरम इंस्टीट्यूट कोविशील्ड टीके को बना रहा है, जबकि भारत बायोटेक कोवैक्सीन बना रहा है।
कोर्ट ने केंद्र सरकार से भी कहा कि वह कोविड-19 का टीका पाने के लिये वर्गीकरण किये जाने के पीछे की वजह बताये। केंद्र सरकार ने चरणबद्ध तरीके से कोरोना वैक्सीनेशन को अनुमति दी है। इसके तहत पहले चरण में हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण किया गया है। अब दूसरे फेज में 60 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। इसके अलावा, 45 वर्ष से 60 वर्ष की आयु वर्ग के उन लोगों को टीका दिया जा रहा है, जिन्हें पहले से कोई गंभीर बीमारी है।
——–
भारतीय जनता पार्टी नेता सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है कि इस समय सरकार या तो मेरे बताये फॉर्मूले के मुताबिक समझौता करे नहीं तो कृषि कानून को रद्द कर दे। सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट किया, इस समय जब आर्थिक मंदी चल रही है। चीन हमारी जमीन कब्जा करने पर लगा हुआ है, सरकार भी जंग के लिये तैयार नहीं है, और उसे राज्यों में चुनाव भी लड़ने हैं, मैं ये सलाह देता हूं कि सरकार या तो मेरे बताये तीन बिंदुओं के मुताबिक किसानों से समझौता कर ले या फिर कृषि कानूनों को रद्द कर दे।
इससे पहले किसानों और सरकार के बीच गतिरोध के समाधान के लिये स्वामी ने एक सुझाव दिया था। सांसद ने कहा कि यदि सरकार इस फॉर्मूले को मानती है तो किसानों और सरकार के बीच चल रही समस्या का समाधान हो सकता है। स्वामी की सलाह है कि कृषि कानूनों को लागू करने के लिये केंद्र को गेंद राज्यों के पाले में फेंक देनी चाहिये जिससे उसके ऊपर से दबाव हट जाये। उनका कहना है कि जो राज्य कृषि कानूनों को लागू करना चाहते हैं उनको केंद्र ऐसा करने दे और जो नहीं चाहते हैं उन पर दबाव न डाले।
——–
भारतीय जनता पार्टी ने घोषणा की है कि ई श्रीधरन, जो कि मेट्रो मैन के नाम से प्रसिद्ध हैं, आगामी केरल विधानसभा चुनावों के लिये पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार होंगे। 88 वर्षीय श्रीधरन पिछले हफ्ते भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। भाजपा केरल प्रदेश अध्यक्ष के.सुरेंद्रन ने इस बात की जानकारी दी।
उन्होंने कहा, कि पार्टी शीघ्र ही अन्य उम्मीदवारों की सूची भी जारी करेगी। भारतीय जनता पार्टी में शामिल होते वक्त श्रीधरन ने संकेत दिया था कि वे विधानसभा चुनाव लड़ने के लिये तैयार हैं। श्रीधरन को दिल्ली मेट्रो को सार्वजनिक परिवहन मॉडल के रूप में स्थापित करने में उनकी भूमिका के लिये जाना जाता है।
भारतीय जनता पार्टी की केरल इकाई ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने केंद्रीय नेत्तृत्व से हाल ही में पार्टी में शामिल हुए मेट्रोमैन ई श्रीधरन को केरल में विधानसभा चुनाव में एन.डी.ए. का मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने का अनुरोध किया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने कहा, यदि एन.डी.ए. को मेट्रोमैन के नेत्तृत्व में राज्य में शासन का अवसर मिलता है तो हमें विश्वास है कि हम केरल में दस गुना ताकत के साथ विकास कार्यों को लागू करेंगे।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिये फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किये गये हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर एक और फिल्म बनने वाली है। इस फिल्म में फिल्म अभिनेता गजेंद्र चौहान मुख्य भूमिका में होंगे। चौहान ने बी.आर. चोपड़ा की महाभारत में युधिष्ठिर की भूमिका निभायी थी। अब वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनने वाली फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने जा रहे हैं। फिल्म का नाम एक और नरेन होगा। जानकारी के मुताबिक इस फिल्म में प्रधानमंत्री मोदी और स्वामी विवेकानंद के जीवन चरित्रों को एक साथ दिखाया जायेगा।
फिल्म निर्देशक मिलन भौमिक ने गुरुवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि फिल्म एक और नरेन की कहानी में दो किस्से होंगे। एक में नरेंद्रनाथ दत्त के रूप में स्वामी विवेकानंद के कार्य और जीवन को दर्शाया जायेगा जबकि दूसरे में नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण को दिखाया जायेगा। भौमिक ने कहा कि फिल्म में दो हस्तियों के जीवन को पेश किया जायेगा। विवेकानंद ने अपना जीवन वैश्विक भाई-चारे के संदेश के प्रसार में समर्पित किया था।
भौमिक ने कहा कि दूसरी शख्सियत नरेंद्र मोदी हैं जोकि भारत को एक नयी ऊंचाई पर ले गये और वे राजनीति क्षेत्र के सबसे प्रसिद्ध नेताओं में शुमार हैं। वहीं, अभिनेता गजेंद्र चौहान ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पिछले 20 वर्षों से निज़ि तौर पर जानते हैं। उन्होंने कहा कि एक कलाकार के नाते ऐसी शख्सियत का किरदार निभाना उनके लिये बड़ी उपलब्धि है।
वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी पर बनी एक और फिल्म आयी थी, जिसकी रिलीज पर चुनाव आयोग ने रोक लगा दी थी। बाद में यह फिल्म लोकसभा चुनाव संपन्न होने के बाद रिलीज की गयी। फिल्म का नाम पीएम नरेंद्र मोदी था, जिसमें मुख्य भूमिका विवेक ऑबेरॉय ने निभायी थी। फिल्म में मोदी की बचपन से लेकर प्रधानमंत्री बनने तक की कहानी है।
—-
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में शरद खरे से बृहस्पतिवार 04 मार्च का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन। शुक्रवार 05 मार्च को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह प्रत्येक वीडियो के अंत में हम आपको बताते ही हैं। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)