सोमवार सुबह 06 बजे तक के लिए लॉक डॉऊन लागू

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में शुक्रवार 09 अप्रैल 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
मध्य प्रदेश में शुक्रवार की शाम 06 बजे से सोमवार की सुबह तक टोटल लॉक डाऊन लागू कर दिया गया है। दमोह जिले को इससे मुक्त रखा गया है। दमोह में जिला निर्वाचन अधिकारी इस मामले में फैसला लेने के लिए अधिकृत किए गए हैं। प्रदेश में कोरोना कोविड 19 के बढ़ते मामलों को देखकर अब थोड़ी बहुत सख्ती होती दिख रही है।
इसी बीच प्रदेश के सिवनी जिले में जिला स्तर के सरकारी नुमाईंदों के लिए बारापत्थर क्षेत्र में बनाई गई जीएडी कॉलोनी में आबकारी विभाग की एक महिला अधिकारी के निवास पर एक व्यक्ति का शव मिलने से सनसनी फैल गई। उक्त व्यक्ति कोरोना पाजिटिव भी बताया जा रहा है।
समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के सूत्रों ने बताया कि उक्त महिला अधिकारी के द्वारा भी इस बात की जानकारी नहीं दी जा रही है कि मृतक कौन था, और वह उस महिला अधिकारी के सरकारी आवास में कब आया था! क्या वह कोरोना पाजिटिव था इस बारे में भी महिला अधिकारी के द्वारा मौन ही साधे रखा गया है। पुलिस की उपस्थिति में कोरोना प्रोटोकाल के तहत उक्त महिला अधिकारी के निवास से पुलिस के द्वारा शव को अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया गया है, जहां संभवतः उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया है। वहीं मोहल्ले में चल रही चर्चाओं के अनुसार चूंकि शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था अतः उसका शव परीक्षण कराया जाना चाहिए था, पर शव का पीएम नहीं कराया गया।
——–
रिक्शा चलाने वाली एक महिला को अपने केबिन में बुलाकर उसके साथ छेड़छाड़ करने वाले कंपू थाने के तत्कालीन टीआई केएन त्रिपाठी को बर्खास्त कर दिया गया है। मामला अक्टूबर 2020 का है, जब तत्कालीन टीआई पर महिला छेड़छाड़ और धमकाने का मामला दर्ज करवाया था। एफआईआर होने के बाद टीआई को निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद केएन त्रिपाठी लंबे समय तक फरार रहे थे। बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी।
दरअसल, कंपू इलाके में ई-रिक्शा चलाने वाली 30 वर्षीय महिला अपनी एक सहेली के पति को छुड़ाने के लिए अक्टूबर 2020 में कंपू थाना पहुंची थीं। उस समय थाने मे केएन त्रिपाठी टीआई के रूप मे पदस्थ थे। टीआई ने महिला को अपने केबिन में बुलाया। वहां टीआई ने महिला के काम के बदले में उसे कुछ शर्तें मानने के लिए कहा। इस दौरान महिला का सोशल मीडिया पर एक मैसेजिंग एप का नंबर ले लिया।
इसके बाद टीआई, महिला को एक रेस्टोरेंट में मिलने के लिए मैसेज करने लगा। मैसेजिंग एप पर उससे संबंध बनाने के लिए चौट करता रहा। इतना ही नहीं मैसेज में लिखता था कि तुम्हारी ई-रिक्शा से हिल पर सैर करने चलेंगे। इसके बाद महिला ने रेस्टोरेंट जाने के बदले सीधे थाने पहुंचना मुनासिब समझा। जब महिला थाना पहुंच गई तो टीआई ने उसे केबिन में बुलाया और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा। महिला वहां से भाग आई।
यह बात पीड़ित महिला ने एक महिला काउंसलर को बताई। बाद में मामला महिला बाल विकास के जरिए ग्वालियर के पुलिस अधीक्षक अमित सांघी के पास पहुंचा। हंगामा हुआ तो महिला थाना में तत्कालीन टीआई कंपू केएन त्रिपाठी के खिलाफ एफआईआर हुई। एफआईआर के साथ ही तत्काल उसे सस्पेंड कर दिया गया। इसके बाद से ही टीआई केएन त्रिपाठी फरार था।
——–
दमोह विधानसभा सीट पर कुछ दिनों बाद उपचुनाव हैं। वहां 17 अप्रैल को वोटिंग है। दोनों ही दलों ने अपने उम्मीदवार की जीत के लिए ताकत झोंक दी है। इस बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह का एक वीडियो वायरल है। वायरल वीडियो में दिग्विजय सिंह कह रहे हैं कि उनके भाषण की वजह से कांग्रेस का वोट कट जाता है।
बीजेपी के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पराशर ने इस वीडियो को शेयर किया है। साथ ही दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा है। वायरल वीडियो में दिग्विजय सिंह कार्यकर्ताओं से घिरे हैं। वह कह रहे हैं कि देखो ख्वाब देखते रह जाओगे, ऐसे करोगो तो प्रदेश में सरकार नहीं बनेगी। जिसको भी टिकट मिले, चाहे वह दुश्मन ही क्यों नहीं हो, उसको जिताओ। और मेरा काम केवल एक ही है। कोई प्रचार नहीं, कोई भाषण नहीं, मेरे भाषण की वजह से कांग्रेस का वोट कट जाता है।
——–
कोविड ने भोपाल में विकराल रूप धारण कर लिया है। संक्रमण की वजह से मृतकों की संख्या भी लागातार बढ़ रही है। वहीं, अस्पतालों की लापरवाही भी बड़े पैमाने पर सामने आ रही है। भोपाल के सबसे बड़े अस्पताल में हमीदिया में कोविड मरीज के शव बदल दिए गए हैं। हिंदू ने युवक ने भाभी का शव समझकर मुस्लिम महिला का अंतिम संस्कार कर दिया है।
कोरोना के दौरान एमपी में कोविड मरीज का शव बदलने का यह पहला मामला है। बुधवार की रात अस्पताल में खजूरी निवासी शीलाबाई और लालघाटी निवासी नफीसा बी की मौत हो गई थी। प्रबंधन ने शव के लिए दोनों के परिजनों को अस्पताल बुलाया था। शीलाबाई के देवर को शव दिखाकर उन्हें भदभदा घाट स्थित श्मशान भेज दिया गया। उसके बाद उन्होंने मौके पर तीन बजे अंतिम संस्कार कर दिया।
वहीं, चार बजे जब अस्पताल में नफीसा बी के बेटे भी पहुंचे। उन्हें मर्चुरी में मां के शव के पास ले जाया गया। शव का चेहरा देखकर उन्होंने पहचान से इनकार कर दिया। अब्दुल ने कहा कि यह मेरी मां का शव नहीं है, लेकिन पर्ची नफीसा बी का ही लगा हुआ है। उसके बाद आननफानन में अस्पताल प्रबंधन ने फोन कर नारायण को बुलाया। नारायण ने अस्पताल पहुंचकर जब शव को देखा तो वह उसकी भाभी थीं।
लापरवाही का खुलासा होने के बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि नारायण ने उस वक्त अब्दुल से हाथ जोड़कर माफी मांग ली है। वहीं, अब्दुल हैरान थे। उन्होंने नारायण से सिर्फ इतना ही कहा कि अब आप बताइए हम क्या करें। साथ ही अब्दुल ने पुलिस थाने में इस लापरवाही को लेकर शिकायत करने की बात कही है।
——–
कोरोना का संकट राजधानी भोपाल में भी गहराता जा रहा है। अब तक कोरोना का इलाज करने वाले अस्पतालों में एक साथ कोरोना नहीं फैला था, लेकिन अब राजधानी के सबसे बड़े अस्पताल एम्स में कोरोना बम फूटा है। एम्स में सक्रिय कोरोना मरीजों की संख्या 53 पहुंच गई है। इसमें 38 मेडिकल छात्र हैं। वहीं 2 डॉक्टर और 13 अन्य स्वास्थ्यकर्मी शामिल है।
खबरें आ रही थीं कि एम्स, भोपाल में 102 डॉक्टर पॉजिटिव हुए हैं, लेकिन इस खबर का खंडन करते हुए एम्स ने अधिकारिक आंकड़े जारी किए हैं। एम्स के मुताबिक 53 में से कोई भी गंभीर बीमार नहीं है। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए एम्स प्रशासन और सभी डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं।
अस्पतालों में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव आने का भोपाल में यह पहला मामला है। भोपाल में काफी संख्या में डॉक्टर्स पॉजिटिव आ रहे हैं। इससे एक चिंता यह भी बढ़ गई है कि यह डॉक्टर्स भी कोरोना कैरियर बन सकते हैं।
——–
दमोह में कोरोना संक्रमण पर विधानसभा उपचुनाव भारी पड़ रहा है। यहां उपचुनाव का नोटिफिकेशन जारी होने के 24 दिन बाद केस दोगुने हो गए हैं। रोजाना 25 से 30 संक्रमित हो रहे हैं। मौतों की संख्या 110 के करीब पहुंच गई है, जबकि सरकारी आंकड़ों में 94 ही दर्ज हैं। हालात यह है कि 94 ही मान लिया जाए, तो दमोह मध्यप्रदेश में मौतों के मामले में नौवें नंबर पर है। उससे ऊपर सिर्फ इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, सागर, रतलाम, खरगोन ही हैं। इन सभी शहरों में संक्रमण बढ़ने से लॉकडाउन है, लेकिन इलेक्शन को ज्यादा जरूरी मानकर दामोह को लॉकडाउन के दायरे से बाहर कर दिया गया है। सभाओं में भीड़ उमड़ रही है। कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन हो रहा है। तस्वीरें वायरल हैं जिन्हें देखकर लोग कमेंट कर रहे हैं- चुनाव हैं जहां, कोरोना नहीं आता वहां…?
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वैसे तो प्रदेशभर में लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील कर रहे हैं। सार्वजनिक और राजनीतिक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं, लेकिन गुरुवार को बांसा में हुई सभा ऐसी भीड़ नजर आई। इस दौरान मंच से अपील जरूर हुई, लेकिन उसका असर नहीं दिखा। यहां सभा में मुख्यमंत्री के साथ भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, मंत्री गोपाल भार्गव और प्रहलाद पटेल मौजूद थे। इससे पहले भी हुई सभी सभाओं में गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया। यही नहीं, कांग्रेस की सभा में कमोबेश यही हालात हैं।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——–
दूसरी लहर में कोरोना का सबसे बड़ा कोरोना संक्रमण का केंद्र बनने के बाद आज शाम 6 बजे से 9 दिन के लिए कोलार और शाहपुरा पूरी तरह बंद हो गया है। इसके कारण यहां रहने वाली करीब ढाई लाख की आबादी भोपाल से कट जाएगी। आदेश आने के बाद से ही कोलार के लोग को जरूरी सामान खरीदी की जल्दबाजी दिखी। पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया और दोपहर से ही चेकिंग तेज कर दी गई। स्वास्थ्य विभाग का अमला घर-घर सर्वे करने पहुंच रहा है।
कोलार के डी मार्ट शोरूम में लॉकडाउन लगने के तीन घंटे पहले दोपहर 3 बजे ही प्रवेश रोक दिया गया है। प्रबंधन का कहना है कि अंदर काफी लोग हैं, जिन्हें निकलने में छह बज जाएंगे। ऐसे में नए लोगों को प्रवेश देने पर छह बजे पूरी तरह लॉक करना मुश्किल हो जाता। इधर, गुलमोहर में ओनडोर में सब्जियों और फल के रेट ही हटा दिया। भास्कर रिपोर्टर ने जब इसका कारण पूछा तो बताया गया कि रेट कम ज्यादा होने के कारण नहीं लगाए हैं, जबकि यहां पर रोजाना रेट चस्पा रहते हैं। इस बीच रेट लिस्ट चस्पा कर दी गई।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में शुक्रवार 09 अप्रैल 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। रविवार 11 अप्रैल 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते ही हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———