आकाश त्रिपाठी होंगे स्‍वास्‍थ्‍य आयुक्‍त

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में सोमवार 12 अप्रैल 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अगले दो-तीन दिन में रेमडेसिविर इंजेक्शन का संकट समाप्त हो जाएगा। प्रदेश में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है, प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है। इसके साथ ही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्रय के निर्देश दे दिए गए हैं, शीघ्र ही दो हजार कंसंट्रेटर की व्यवस्था होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान स्मार्ट पार्क में पौधारोपण के उपरांत मीडिया के प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। आकस्मिक व्यवस्था के उद्देश्य से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लॉकडाउन परिस्थिति का समाधान नहीं है। लॉकडाउन से बेहतर तो है कि यदि चेहरा लॉक हो जाए हम मुंह पर मास्क लगा लें और पैर भी लॉक हो जाएं अर्थात हम घर से अनावश्यक ना निकलें तो लॉक डाउन की स्थिति ही निर्मित नहीं होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपील की कि सभी लोग मास्क लगाने, आवश्यक दूरी बनाए रखने तथा अनावश्यक भीड़ न लगाने जैसी सावधानियों का पालन करें।
——–
बस में प्रसव पीड़ा हुआ और उसने रास्ते में एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बच्चे को जन्म दिया है। मामला छतरपुर जिले की रहने वाली 27 वर्षीय मुन्नी बाई से जुडा है। मुन्नी बाई अपने पति के साथ पन्ना जिले में रहती है। वहीं, रहकर पति काम करते हैं। कोरोना के हालात बेकाबू हैं। वीकेंड लॉकडाउन एमपी में लागू है। मुन्नी बाई और उसके पति को लगता है कि पूरे देश में फिर से लॉकडाउन लग जाएगा। फिर हम कहां कमाएंगे और खाएंगे क्या। इससे पहले हम अपने घर पहुंच जाएं। पिछले साल के मंजर को याद कर एमपी के बाहर रहने वाले मजदूरी ऐसे ही घर वापसी कर रहे।
——–
भ्रष्टाचार और अवैध वसूली को लेकर बदनाम हो चुकी ग्वालियर नगर निगम के अधिकारी कर्मचारी अब श्मशान गृह को भी नहीं छोड़ रहे। यहां उन्होंने आपदा में अवसर तलाश लिया है। पिछले दिनों समाजसेवी सुधीर सप्रा के पिताजी श्री कृष्ण लाल शर्मा की सामान्य मौत पर निःशुल्क गैस प्लांट में अंतिम संस्कार की एवज में 1500 रुपये लेकर रसीद नहीं देने का मामला सुर्खियों में आया था। उसके बाद ग्वालियर नगर निगम के नोडल ऑफिसर अतिबल सिंह यादव ने प्रेस नोट जारी कहा कि श्मशान गृह में कहीं कोई पैसे नहीं लेता, प्राइवेट आदमी मौके का फायदा उठाकर मृतक के परिजनों के साथ धोखा करते हैं और वसूली करते हैं।
रविवार को ग्वालियर नगर निगम के नोडल ऑफिसर अतिबल सिंह यादव की बात उस समय झूठी साबित हो गई, जब मृतक के परिजनों से अंतिम संस्कार के लिए कुछ लोग सौदा करते दिखाई दिए और इनका वीडियो वायरल हुआ। खुद को श्मशान गृह के कर्मचारी बता रहे ये लोग कोरोना मरीज के परिजन से अंतिम संस्कार के लिए 4 से 6 हजार रुपये मांगते दिखाई दे रहे हैं। एक मृतक के परिजन हर्ष खंडेलवाल ने कर्मचारी से बातचीत का वीडियो बनाकर वायरल किया है, जिसमें कर्मचारी रुपये मांगता दिखाई दे रहा है।
——–
समूचा प्रदेश कोरोना से कराह रहा है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री चुनावी रैलियों में व्यस्त हैं। रविवार को प्रभुराम चौधरी दमोह में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। चुनाव की वजह से वहां वीकेंड लॉकडाउन नहीं है। मंत्री जी की चुनावी रैली में भीड़ नहीं पहुंची थी। खाली कुर्सियों को ही वह मंच से संबोधित करते रहे। इक्के-दुक्के लोग मंच के नीचे बैठे थे।
बीजेपी ने दमोह उपचुनाव में राहुल लोधी को उम्मीदवार बनाया है। राहुल लोधी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं। उन्हें चुनाव में जीत दिलाने के लिए बीजेपी एड़ी-चोटी की जोर लगा रही है। साथ ही रुठे लोगों को मनाने की कोशिश में जुटी है। अपने लोगों से ही दमोह में बीजेपी को ज्यादा खतरा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान यहां खुद बार-बार चुनाव प्रचार के लिए जा रहे हैं।
——–
मध्य प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण और स्वास्य्य सेवाओं के चरमराने के कारण राज्य सरकार ने आज स्‍वास्‍थ्‍य आयुक्त संजय गोयल को उनके पद से हटा दिया। यह दायित्व अब आकाश त्रिपाठी को दिया गया है।
——–
जयप्रकाश अस्पताल के मेडिकल विशेषज्ञ व कोरोना के नोडल अधिकारी योगेंद्र श्रीवास्तव के विधायक पीसी शर्मा और उनके करीबी पूर्व पार्षद गुड्डू चौहान ने दो दिन पहले अभद्रता की। एक मरीज की मौत के बाद दोनों जनप्रतिनिधियों ने अस्पताल पहुंचकर उनको सार्वजानिक रूप से काम करते समय उनको बुलाकर उनके साथ बदसलूकी की थी। घटना के बाद पीड़ित डाक्टर ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया था। घटना के दो दिन बाद सीएमएसओ के लिखे पत्र और डाक्टर के दिए त्यागपत्र को आधार बनाकर हबीबगंज पुलिस ने दोनों लोगों पर केस दर्ज कर लिया है।
जानकारी के अनुसार जेपी अस्पताल में दो दिन पहले एक कोरोना संक्रमित की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। उस समय उनका इलाज जेपी अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक योगेंद्र श्रीवास्त्व द्वारा किया जा रहा था। मरीज को काफी नाजुक स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। मरीज की मौत की सूचना लगने के बाद विधायक पीसी शर्मा और पूर्व पार्षद गुड्डू चौहान अपने साथियों के साथ अस्पताल पहुंचे थे।
जहां दोनों ने डाक्टर को बुलाकर सार्वजानिक रूप से उनके साथ अभद्रता की गई थी। इस पूरे मामले का एक वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर भी वायरल हो गया था। जिसमें पीड़ित डॉक्टर ने अपने साथ हुई घटना की रोते हुए जानकारी देते हुए कहा था कि गाली खाने के लिए नौकरी नहीं करनी और अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। एएसपी अकिंत जायसवाल ने बताया कि इस पूरे प्रकरण में अस्पताल की ओर से एक शिकायती पत्र मिला और पीड़ित डाक्टर के त्याग पत्र को आधार बनाकर विधायक पीसी शर्मा और पूर्व पार्षद गुड्डू चौहान पर शासकीय कार्य में बाधा का केस दर्ज किया गया है।
——–
मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से अब 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं जून में कराने का प्रस्ताव भेज दिया गया है। इस पर सिर्फ मुख्यरमंत्री की मोहर लगनी बाकी है। 10वीं की परीक्षाएं 30 अप्रैल और 12वीं की परीक्षाएं एक मई से शुरू होनी थी। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक होती जा रही है। ऐसे में परीक्षाएं करना संभव नहीं है। इन परीक्षाओं की नई तारीखों का ऐलान बाद में किया जाएगा। बता दें कि मध्य प्रदेश बोर्ड की तरफ से 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का टाइम टेबल ऑफिशियल वेबसाइट पर पहले ही जारी किया जा चुका था।
स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि कई जिलों में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है। ऐसे हालातों में परीक्षाएं आयोजित कर बच्चों का जीवन खतरे में नहीं डाल सकते हैं। इसलिए 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं जून तक टाले जा रहे हैं। इसका प्रस्ताव भेजा गया है। इसकी अधिकृत सूचना जल्द जारी करेंगे। इसको लेकर जल्द ही आदेश जारी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 17 अप्रैल से प्रस्तावित प्रैक्टिकल की परीक्षाओं के लिए समय का बंधन समाप्त कर दिया गया है। बच्चे 2 या 3 दिन में अपनी सुविधा के अनुसार प्रैक्टिकल दे सकते हैं। इसके लिए 15 मई तक का समय दिया जा रहा है। परमार के मुताबिक ग्रामीण इलाकों में अभी भी कोरोना का असर बहुत ज्यादा नहीं है, लिहाजा ग्रामीण स्कूलों में बच्चे प्रैक्टिकल दे सकते हैं।
मंत्री ने बताया कि प्रदेश के सभी सरकारी हॉस्टल को अगले आदेश तक के लिए बंद रखने का फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि विभाग इसके आदेश भी जल्दी जारी कर देगा। इसमें केवल नवोदय स्कूल के हॉस्टल शामिल नहीं है। इनके लिए केंद्र सरकार फैसला लेगी।
——–
प्रदेश के प्रमुख माता मंदिरों में नवरात्र में श्रद्धालु दर्शन-पूजन नहीं कर सकेंगे। कोरोना संक्रमण की वजह से अधिकांश मंदिरों में पहले से ही भीड़ पर प्रतिबंध लगा हुआ है। 13 अप्रैल से चैत्र नवरात्र शुरू हो जाएंगे। इसी दिन हिंदू नववर्ष का नया संवत्सर भी शुरू हो जाएगा। नवरात्र होने से पूरे हफ्ते देवी पूजा और व्रत-उपवास रहेंगे। श्रद्धालुओं को यह सब घर पर ही करना होगा। प्रदेश के प्रमुख माता मंदिरों में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है।
दतिया स्थित सिद्धपीठ पीताम्बरा मंदिर पर अनुष्ठान की तैयारियां पूरी हो चुकी है। इस बार चैत्र नवरात्र में शतचंडी अनुष्ठान और विशेष अनुष्ठान होगा। इन अनुष्ठान में 11-11 पंडित भाग ले सकेंगे। इन पंडितों के अतिरिक्त मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित है। ट्रस्ट के प्रबंधक महेश दुबे का कहना है कि लॉकडाउन के कारण एक बार फिर से नवरात्र में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित किया गया है। यह निर्णय प्रबंधन कमेटी द्वारा लिया गया है। नौ दिन तक लगातार दोनों अनुष्ठान मंदिर में किए जाएंगे। नियमित साधकों को मंदिर में प्रवेश रोका गया है।
मां बीजासन देवीधाम सलकनपुर मंदिर के पट नौ दिन 13 से 21 अप्रैल तक बंद रहेंगे। मां बीजासन देवी की पूजा अर्चना, आरती, श्रंगार आदि मंदिर के पुजारियों दघ्वारा पूर्ववत किए जाएंगे। मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं से निवेदन किया है कि मंदिर बंद होने से इस अवधि में आम दर्शनार्थियों के लिए दर्शन लाभ संभव नहीं हो पाएंगे।
सतना जिले का प्रसिद्ध मैहर शारदा मंदिर लगातार दूसरे साल कोरोना के कारण बंद रहने वाला है। कलेक्टर अजय कटेसरिया ने प्रदेश सरकार के निर्देश पर चैत्र माह के मैहर नवरात्र मेले पर प्रतिबंध लगा दिया है। मंदिर का संचालन मैहर शारदा प्रबंध समिति करती थी। विंध्य क्षेत्र के साथ महाकौशल, यूपी, बिहार और झारखंड के भारी संख्या में भक्त आते थे। 9 दिन के अंदर करीब दो करोड़ भक्त मेले में शामिल होते थे। वहीं 1 करोड़ प्रदेश सरकार को इस मंदिर से राजस्व मिलता था। बता दें कि यह मंदिर 52 शक्ति पीठों में एक शारदा शक्ति पीठ है।
देवास में माता टेकरी पर श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। यहां मां चामुंडा देवी और मां तुलजा भवानी मंदिर है। चैत्र नवरात्र में देवास के साथ ही इंदौर, उज्जैन और देशभर के श्रद्धालु दर्शनार्थ पहुंचते हैं। इस बार दर्शन पर प्रतिबंध रहेगा। श्रद्धालुओं को रोकने के लिए बैरिकेडस लगा दिए गए है। कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने बताया कि लॉकडाउन का पालन करते हुए मंदिर में नित्य पूजा-अर्चना होगी।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में सोमवार 12 अप्रैल 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 13 अप्रैल 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते ही हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———