नवजोत सिंह सिद्धू से मिलने पहुँचे पंजाब काँग्रेस के 77 में से 62 विधायक!

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में बुधवार 21 जुलाई का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन.
——–
मंगलवार को राज्यसभा में जब सरकार से पूछा गया कि ऑक्सीजन की कमी के चलते देश में कितने लोगों की मृत्यु हुई, तो सरकार की ओर से जवाब आया कि एक भी नहीं। सवाल पूछा था काँग्रेस सांसद के.सी. वेणुगोपाल ने। उन्होंने पूछा था कि क्या यह सच है कि कोविड की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सिजन की भारी कमी होने के कारण बड़ी संख्या में मरीजों की मृत्यु हुई?
इस पर सरकार की ओर से स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉक्टर भारती प्रवीण पवार ने लिखित जवाब में कहा- स्वास्थ्य राज्यों का विषय है और उनकी ओर से कोविड से हुई मृत्यु की सूचना दी जाती है लेकिन इसमें भी ऑक्सिजन की कमी से किसी मृत्यु की सूचना नहीं है।
सरकार के इस बयान पर बखेड़ा खड़ा हो गया है। विपक्ष के हमलों के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो 18 मई 2021 का है, जब नितिन गडकरी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। वर्तमान स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी कार्यक्रम में उपस्थित थे। वीडियो में नितिन गडकरी साफ कहते दिखायी दे रहे हैं कि ऑक्सीजन की कमी के कारण लोगों की मृत्यु हुई।
——–
कोविड महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से कोई मृत्यु नहीं होने संबंधी बयान को लेकर केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए काँग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को आरोप लगाया कि ये मृत्यु इसलिए हुईं क्योंकि महामारी वाले वर्ष में सरकार ने ऑक्सीजन निर्यात बढ़ा दिया और ऑक्सीजन का परिवहन करने वाले टैंकरों की व्यवस्था नहीं की।
केंद्र सरकार ने मंगलवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया था कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मृत्यु की सूचना नहीं मिली है।
केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए काँग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा, कि अधिकार सम्पन्न समूह और संसदीय समिति की सलाह को नजरअंदाज किया गया ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की कोई व्यवस्था नहीं की गयी।
——–
नागर विमानन मंत्रालय ने विमानन क्षेत्र की चुनौतियों पर विचार-विमर्श करने और उन्हें सुलझाने के लिए तीन सलाहकार समूहों का गठन किया है। इन समूहों में विमानन कंपनियां, हवाईअड्डा संचालक, मालवाहक विमान, ग्राउंड हैंडलिंग कंपनियां, उड़ान का प्रशिक्षण देने वाले संगठन (एफ.टी.ओ.) और रखरखाव एवं मरम्मत करने वाली कंपनियां (एम.आर.ओ.) शामिल हैं। कोरोना वायरस महामारी की अप्रैल और मई में आई दूसरी लहर के कारण भारत और उसका विमानन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ था।
——–
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और काँग्रेस के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है। नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को ही काँग्रेस के 62 विधायकों के साथ अमृतसर के स्वर्ण मंदिर के दर्शन किए। बताया गया है कि यह उनका अमरिंदर के विरूद्ध शक्ति प्रदर्शन था। बताया गया है कि नवजोत सिंह सिद्धू इसके बाद दुर्गियाना मंदिर और राम तीरथ स्थल भी पहुंचे।
नवजोत सिंह सिद्धू ने पद सम्हालने से पहले काँग्रेस के सभी 77 विधायकों को स्वर्ण मंदिर बुलाया था। बताया गया है कि इनमें से 62 विधायक उनसे मिलने पहुंचे। जिन बड़े नेताओं ने स्वर्ण मंदिर में नवजोत सिंह सिद्धू के साथ मत्था टेका, उनमें राजा वारिंग, राजकुमार वेरका, इंदरबीर बोलारिया, परगट सिंह, सुखजिंदर रंधावा और हरमिंदर जस्सी सहित कई नेता शामिल रहे।
——–
काँग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के 2024 के लोकसभा चुनाव तक अपने पद पर बने रहने की उम्मीद है और यह उम्मीद भी जताई जा रही है कि पार्टी के युवा चेहरों को प्रमुख पदों पर नियुक्त किया जा सकता है। सूत्रों ने बताया है कि राहुल गांधी के काँग्रेस अध्यक्ष के रूप में नियुक्त होने की संभावना नहीं है, लेकिन शीर्ष स्तर के निर्णयों में उनका हस्तक्षेप जारी रहेगा।
2024 के आम चुनावों को ध्यान में रखते हुए, देश की सबसे पुरानी पार्टी, एक बड़े फेरबदल की योजना बना रही है। जिसमें युवा काँग्रेस नेताओं और गांधी परिवार के वफादारों को पार्टी संगठन के अंदर महत्वपूर्ण भूमिका मिलेगी। सूत्रों ने यह भी कहा कि पार्टी से चार कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति की उम्मीद है जो महत्वपूर्ण निर्णय लेने में सोनिया गांधी और राहुल गांधी की सहायता करेंगे। काँग्रेस में कार्यकारी अध्यक्ष पद के लिए गुलाम नबी आजाद, सचिन पायलट, कुमारी शैलजा, मुकुल वासनिक और रमेश चेन्नीथला सबसे आगे चल रहे हैं।
——–
पश्चिम बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता हासिल करने वालीं ममता बनर्जी अब मिशन 2024 में जुट गईं हैं। आने वाले लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को चुनौती देने का ऐलान करते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ने बुधवार को कहा कि जब तक मोदी सरकार को सत्ता से नहीं हटा दिया जाता, प्रत्येक राज्य में खेला होगा। बंगाल में खेला होबे का नारा देकर बड़ी जीत हासिल करने के बाद उन्होंने 16 अगस्त को खेला दिवस मनाने का निर्णय लिया है। इस अवसर पर गरीब बच्चों को फुटबॉल बांटने की भी घोषणा की है।
ममता बनर्जी ने कहा, आज हमारी आजादी खतरे में हैं। भारतीय जनता पार्टी ने हमारी स्वतंत्रता को खतरे में डाल दिया है। वे (मोदी सरकार) अपने मंत्रियों पर ही विश्वास नहीं करते हैं और एजेंसियों का दुरुपयोग कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि उनके फोन की भी टैपिंग की जा रही है और इसलिए वे किसी से बात नहीं कर पातीं हैं।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
पंजाब काँग्रेस के नये चीफ बने नवजोत सिंह सिद्धू ने कमान सम्हालते ही अपना सियासी दमखम दिखाना आरंभ कर दिया है। पंजाब प्रदेश काँग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति के दो दिन बाद ही नवजोत सिंह सिद्धू के घर पार्टी विधायकों का जमावड़ा दिखा। नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को अमृतसर में अपने आवास पर लगभग 62 पार्टी विधायकों के साथ नाश्ते पर बैठक की।
नवजोत सिंह सिद्धू के कार्यालय ने दावा किया कि सुबह के नाश्ते पर बैठक के लिए नवजोत सिंह सिद्धू के घर काँग्रेस के 62 विधायक शामिल हुए।
——–
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने संशोधित नागरिकता कानून को लेकर देश के मुसलमानों को भरोसा देते हुए कहा है कि उन्हें इससे कोई नुकसान नहीं होगा। आर.एस.एस. प्रमुख ने यह भी कहा है कि अल्पसंख्यकों को लेकर विभाजन के समय जो वादा किया गया था, भारत उसका पालन कर रहा है, लेकिन पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया।
गुवाहाटी में एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा, सी.ए.ए. किसी भारत के नागरिक के विरुद्ध बनाया हुआ कानून नहीं है। भारत के नागरिक मुसलमान को सी.ए.ए. से कुछ नुकसान नहीं पहुंचेगा। विभाजन के बाद एक आश्वासन दिया गया कि हम अपने देश के अल्पसंख्यकों की चिंता करेंगे। हम आजतक उसका पालन कर रहे हैं। पाकिस्तान ने नहीं किया।
मोहन भागवत ने कहा, हमें धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद या लोकतंत्र दुनिया से सीखने की आवश्यकता नहीं है। यह हमारी परंपरा और खून में रहा है। हमारे देश ने इसे लागू किया और जीवित रखा।
——–
केंद्र सरकार की तरफ से संसद में यह दावा किया गया कि कोरोना की दूसरी वेव में देश के अंदर ऑक्सीजन की कमी से कोई मृत्यु दर्ज नहीं की गई। इसके बाद अब एक-एक कर कई राज्य केंद्र सरकार के सुर में सुर मिलाते दिख रहे हैं। तमिलनाडु ने जहाँ मंगलवार को ही यह ऐलान कर दिया था कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की किल्लत से कोई जान नहीं गई तो वहीं अब मध्य प्रदेश और बिहार ने भी यही दावा किया है कि ऑक्सीजन की कमी ने उनके राज्यों में किसी की जान नहीं ली।
तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव जे. राधाकृष्ण ने कहा, राज्य में कोई मृत्यु ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है। सरकारी और निज़ि अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन आपूर्ति रखी गयी। ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए एक अलग से टीम है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम. सुब्रमणियम ने भी यही दावा किया और कहा कि उन्हें केंद्र से पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिली थी और इसलिए राज्य में ऑक्सीजन को लेकर कोई बड़ा फर्क नहीं पड़ा।
——–
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में शरद खरे से बुधवार 21 जुलाई का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन। बृहस्पतिवार 22 जुलाई को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह प्रत्येक वीडियो के अंत में हम आपको बताते ही हैं। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)