काँग्रेस नेता ने किया कलेक्टर के विरूद्ध अभद्र भाषा का उपयोग!

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में सोमवार 26 जुलाई का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन.
——–
आचार्य विद्यासागर महाराज का चार्तुमास संस्कारधानी जबलपुर में आरंभ हो गया है। वे मानव जाति के कल्याण के लिए लगातार ही संदेश देते आए हैं। आचार्यश्री ने कहा कि सबके अंदर ऊर्जा भरी हुई है, लेकिन हम उसका उपयोग करना नहीं चाहते या हमें इसका बोध नहीं है। मोक्ष मार्ग के लिए कुछ विशेष करने की आवश्यकता नहीं है। ये चिंतन की आवश्यकता है कि हमने क्या किसी को कष्ट पहुंचाया या किसी को कष्ट दिया है, जिसकी कोई आवश्यकता नहीं थी। दूसरों को न सही, लेकिन अपने मन को आप स्वयं कष्ट देते हो, स्वयं कष्ट सहते हो। लोग पूजा करते हुए अर्घ्य चढ़ाते समय दूसरों से भी हाथ लगवा लेते हैं। इसी तरह मात्र हाथ लगवा लेने से भगवान के दर्शन और पुण्य प्राप्त हो जाए तो हर कोई मोक्ष मार्गी हो जाएगा।
आचार्य विद्यासागर महाराज ने कहा कि सांसारिक प्राणी अपने सिर पर हजारों तरह के कर्म-कर्ज लेकर रखे है। देखो, मेरे ऊपर कोई कर्ज नहीं है बस आपको मेरी तरह अपने सिर पर कोई कर्ज नहीं रखना है, यही मुक्ति का मार्ग है। हम आपकी तरफ से भी प्रभु से प्रार्थना करते हैं कि सभी जीव कर्ज मुक्त हो जाएं। जीवन का शासन और अनुशासन वही है जो आपको कर्जे से मुक्त कर देता है। जिसका भी सुख किसी अन्य पर आधारित है उसको कभी सुख मिल ही नहीं सकता। सुख स्वयं अपने कर्मों से मिलता है। आपको प्रगति तभी मिल सकती है जब हम अनुशासन में रहें। आज हम अनुशासन को भूले हुए हैं। इसीलिए आज हमारी दशा खराब हो रही है।
——–
प्रदेश के सिंगरौली में काँग्रेस की रैली का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में पूर्व मंत्री और काँग्रेस के वरिष्ठ नेता वंशमणि वर्मा सिंगरौली के कलेक्टर के लिए असंसदीय भाषा का उपयोग करते सुनाई पड़ रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की युवा मोर्चा ने इसके विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करने की मांग की है।
सिंगरौली में काँग्रेस पार्टी की ओर से महंगाई को लेकर हल्ला बोल रैली निकाली गई थी। रैली समाप्त होने के दौरान ज्ञापन देते समय सिंगरौली जिले में काँग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री वंशमणि वर्मा ने अपर कलेक्टर के सामने कलेक्टर राजीव रंजन मीणा के लिए अभद्र भाषा का उपयोग किया। काँग्रेस नेता के गुस्से का कारण यह था कि कलेक्टर ज्ञापन लेने स्वयं नहीं आए थे।
काँग्रेस नेता ने कलेक्टर को एक नंबर का निकम्मा, चोर, मूर्ख, इसे कुछ ज्ञान नहीं है, सहित बहुत कुछ कह डाला। इस दौरान काँग्रेस के कई पदाधिकारी उपस्थित थे। इतना ही नहीं, इस दौरान काँग्रेस के कई पदाधिकारी सहित अपर कलेक्टर और पूरा प्रशासनिक अमला भी उपस्थित था।
——–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या में काफी कमी आई है। प्रदेश में आज कोरोना के मात्र 12 पॉजिटिव प्रकरण आये हैं और 13 मरीज स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश की कोरोना पॉजिटिविटी दर 0.01 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के प्रकरण कम अवश्य हुए हैं, लेकिन अभी भी कोरोना संक्रमण के प्रति सजग और सतर्क रहने की आवश्यकता है। जरा सी लापरवाही कोरोना को पुनः निमंत्रण देने के समान है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिये सभी प्रयास कर रही है। प्रदेश में तेजी से स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के साथ चिकित्सकीय अधोसंरचनाओं का निर्माण किया जा रहा है। विशेष रूप से अस्पतालों में आई.सी.यू. बेड्स की संख्या बढ़ाने के साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिये ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किये जा रहे हैं। सरकार का प्रयास यह है कि कोरोना की दूसरी लहर के समय जो कमियाँ रह गई थीं, उन्हें प्राथमिकता के साथ दूर करते हुए ठोस व्यवस्थाएं की जा रही हैं।
——–
प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री के निज सहायक के नाम से प्रदेश के महाविद्यालय के प्राध्यापक और प्राचार्य को स्थानांतरण कराने के लिए फोन किए जा रहे थे। फोन करने वाले उनको अविलंब खाते में रुपये जमा कराने का कह रहे थे। कहा जाता था कि यदि स्थानांतरण कराना चाहते हो तो तुरंत वाट्सएप पर जानकारी भेज दें। इसकी जानकारी जब मंत्री के निज सहायक को लगी तो उन्होंने साइबर क्राइम में शिकायत की। साइबर सेल पुलिस ने इस मामले में जांच के बाद दो लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। इन शातिर जालसाजों के झांसे में आकर दो प्राचार्यों ने 40-40 हजार रुपये जमा करवा दिए थे।
इसके साथ ही सिवनी के पहले निर्दलीय वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के विधायक दिनेश राय के द्वारा भी इस आशय की सूचना सोशल मीडिया पर सार्वजनिक की गई थी कि उनके नाम से यदि कोई काम कराने के एवज में पैसों की मांग करे तो उसकी जानकारी विधायक को दी जाए।
प्राप्त जानकारी के अनुसार विजय बुधवानी उच्च शिक्षा मंत्री के निज सहायक हैं। उन्होंने साइबर सेल में शिकायत की है कि कुछ लोग उच्च शिक्षा विभाग में स्थानांतरण कराने को लेकर प्राध्यापक व प्राचार्य को फोन कर रहे हैं। बोल रहे हैं कि उनका सूची में नाम है। यदि स्थानांतरण कराना चाहते हैं तो ऑनलाइन रुपये जमा करा दें। ऐसे लगभग दो दर्जन लेागों को फोन किए गए।
——–
सावन का आज पहला सोमवार है। शाम 04 बजे महाकाल की पहली शाही सवारी निकलना आरंभ हो गई। शिप्रा तट से सवारी हरसिद्धि मंदिर की ओर आ रही है। इसके बाद शाम यह महाकाल मंदिर की ओर रवाना हो जाएगी। शाम 07 से 09 बजे तक श्रद्धालु पुनः दर्शन कर सकेंगे।
इससे पहले मध्य प्रदेश के महाकाल और ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के अलावा मंदसौर के विश्व प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर में सुबह से ही दर्शनार्थियों की भीड़ लग गई। उज्जैन में महाकाल मंदिर के बाहर उमड़ी भक्तों की भीड़ देखकर सबके लिए प्रवेश सुबह 11 बजे तक के लिए फ्री कर दिया गया। श्रद्धालु की भीड़ बैरिकेड्स गिरा कर दर्शन के लिए मंदिर में प्रवेश कर गई। 11 बजे के बाद मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद कर दिया गया।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
इंदौर पुलिस की वेबसाइट 13 जुलाई को हैक करके देश विरोधी बातें लिखी गईं। पुलिस जांच में पता चला कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मोहम्मद बिलाल ने वेबसाइट हैक की है, लेकिन अब पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि वह बिलाल को कैसे गिरफ्तार करे। यह इकलौता मामला नहीं है। देश में ऐसे कई मामले हैं, जिसमें अपराधी या तो विदेश भाग गया और विदेश में रहकर यहाँ पर अपराध कराया। इन आरोपियों की पहचान होने के बाद उनके विरूद्ध मामले दर्ज हुए और इनाम भी घोषित हुए। फिर लुकआउट और रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी हुए, लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो सकी।
लुकआउट और रेड कॉर्नर नोटिस अब औपचारिक बनकर रह गए हैं। वर्षों बाद भी ये आरोपी गिरफ्त से दूर हैं। भारत की नेशनल इंटेलिजेंस एजेंसी (एन.आई.ए.) की सूची में तो करोड़ों के इनामी मोस्ट वांटेड हैं, जिनमें इंदौर के भी हैं।
——–
इसी वर्ष जनवरी माह में मुरैना में 26 लोगों की मृत्यु हो गई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था, मुरैना जैसी घटना अब हुई, तो जिम्मेदार का कैरियर तबाह कर दूंगा। अवैध शराब बिकी तो कलेक्टर, एस.पी. और आबकारी अधिकारी जिम्मेदार होंगे। यही नहीं, डिवीजनल कमिश्नर और आई.जी. भी जवाबदेह होंगे। माफियाओं की जड़ों में प्रहार करो।
अब मंदसौर के खकराई गाँव में 25 जुलाई को जहरीली शराब से 03 लोगों की मृत्यु हो गई। घटना के लिए मंदसौर के पिपलिया मंडी थाना प्रभारी, एस.आई. और आबकारी निरीक्षक को निलंबित किया गया। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तंज कसा है, मुरैना कांड के बाद एस.पी.-आई.जी. पर कार्रवाई नहीं हुई। मध्य प्रदेश में 15 महीने में जहरीली शराब से 51 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, शिवराज सरकार में प्रदेश के उज्जैन, मुरैना, भिंड, ग्वालियर के बाद अब मंदसौर में मृत्यु सामने आई हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, आबकारी मंत्री के क्षेत्र की यह स्थिति? पता नहीं, शिवराज सरकार में माफिया कब गढ़ेंगे, कब टगेंगे व कब लटकेंगे?
——–
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में शरद खरे से शुक्रवार सोमवार 26 जुलाई का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 27 जुलाई 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको यह ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह प्रत्येक वीडियो के अंत में हम आपको बताते ही हैं। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)