दधिचि राष्ट्र सेवक भाजयुमो प्रदेशाध्यक्ष वैभव पंवार

(हेमेन्द्र क्षीरसागर)

सादगी, सरलता, राजनीतिक पृष्ठभूमि और आंकाओं के बिना हर मुकाम मुकम्मल करना आसान नहीं होता, लेकिन अपने जुनून के पक्के एक फक्कड़ जमीनी कार्यकर्ता ने अपनी अकाट्य कर्तव्यप्रणता और भाजपा की पंचनिष्ठा से ओतप्रोत होकर मध्यप्रदेश भाजयुमो प्रदेशाध्यक्ष के दायित्व से देश में सूबे का गौरव बढ़ाया। ऐसे अटल मार्गी मूलतः सिवनी जिले के छोटे से कस्बे बरघाट के ग्राम मेहरा पिपरिया में 23 अगस्त 1988 को जन्मे वैभव पंवार बीते दो बरसों से भाजपा के वैभव की जिम्मेदारी निभा रहे है। विद्यार्थी काल से ही शैक्षणिक, सामाजिक, राजनीतिक और ढगते निरंकुश तंत्र खिलाफ गतिविधियों में बढ़ चढ़कर योगदान देने वाले युवा तुर्क वैभव पंवार मध्यप्रदेश में राष्ट्रवाद और सामाजिक सरोकार की अलख जगाने में मुस्तैदी से लगे हुए हैं।

अभिभूत, पूत के पांव पालने में ही दिख जाते हैं यही कहावत सार्थक रूप से चरितार्थ हो गई। जब सम्यक भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष का कुशल दायित्व निभाते हुए श्री पंवार ने 2005 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्य के तौर पर अपनी जनसेवा का शंखनाद किया। सिवनी जिले की खुशनुमा वादी के ग्रामीण अंचल में पले, बढ़े और पढ़ें गांव गलियों से वाकिफ वैभव पंवार ने क्रम में बीई इलेक्टॉनिक एण्ड कम्यूनिकेशन तथा शहरी ग्रामीण प्रबंधन व मानव संसाधन से एमबीए की शैक्षणिक योग्यता अर्जित की। इन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के 2007-08 में भोपाल महानगर तकनीकी छात्र प्रमुख, 2009-10 और 2010-11 में भोपाल महानगर मंत्री, 2011-12 में भोपाल विभाग संयोजक के दायित्व की निरंतर लंबे अंतराल तक निष्ठापूर्वक जिम्मेदारी संभाली। बाद 2012 में भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य तथा 2013-14 में प्रदेश सह-संयोजक, सोशल मीडिया सेल में सारगर्भित भागीदारी निभाई। अवधि में वैभव पंवार ने कई बड़े आंदोलनों और विभिन्न कार्यक्रमो में बेजोड़ नेतृत्व का परचम लहराया। इनकी इसी कार्यक्षेमता और अटूट संगठन दक्षता के दृष्टिगत भारतीय जनता पार्टी शीर्ष नेतृत्व ने इन्हें भारतीय जनता युवा मोर्चा का प्रदेशाध्यक्ष का महत्ती उत्तरदायित्व मिला। सरोकार, ऐसे महनी साधारण परिवेश से आने वाले स्वंय सेवक को इतनी बड़ी जवाबदारी देने से निसंदेह दल के अनेकानेक कार्यकर्ताओं में यह संदेश जाएगा कि आज हम जो जन सेवा के मार्ग में आगे बढ़ रहे हैं, उसका परिणाम अवश्य सुखदायी होता है जो वैभव पंवार की जिम्मेवारी से परिलक्षित होता हैं।

स्तुत्य, मुंह में शक्कर, पैर में चक्कर और सीने में आग लिए बाल्यकाल से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से राष्ट्रवाद व सामाजिक समरसता का भाव लिए चरैवेति, चरैवेति मूलमंत्र के प्रतिपालक वैभव पंवार को भारतीय जनता पार्टी जैसे विश्व के सबसे बड़े राष्ट्रवादी राजनैतिक संगठन के महत्त्वपूर्ण अंग भारतीय जनता युवा मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष के दायित्व का सौंपना प्रदेश के युवाओं के लिए गौरवशाली पल है। जब युवाओं के बीच का ही एक उर्जावान स्वंय सेवक संगठन और समाज के लिए समर्पण पूर्ण कार्य करते हुए अपने संघर्षों के बल पर इतने महत्वपूर्ण दायित्व को प्राप्त करता है तो कार्यकर्ताओं मे उत्साह आनंद का संचार होना स्वाभाविक है। हो भी क्यों ना अपने जीवन का क्षण-क्षण और कण-कण समर्पित करने वाले दधिचि राष्ट्र सेवक बिरले होते हैं, उनमें से एक हैं युवाजन के पथ-प्रदर्शक वैभव पंवार।

मंत्रमुग्ध, उनके साये में अनेकों तरूणों ने मां भारती के सच्चे उपासक बनकर राष्ट्र सेवा, मानव कल्याण और राजनीति का ककहरा पढ़ा। आज निष्टावान सेवक की तरह अपना उत्तरदायित्व निभाने वाले वैभव पवार ने अपने परिश्रम, संघर्ष, समर्पण और पूर्ण कार्यशैली के चलते भाजयुमो के प्रदेशाध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण दायित्व के तौर पर तरूणों को नवराह दिखाई, उनका सम्मान सारे देश में बढाया है। जिसके लिए वे अक्षरशः प्रशंसा के पात्र हैं। निसंदेह उनकी इस कार्यकुशलता से प्रदेश के युवाओं को एक नई दिशा और एक नई उर्जा मिली है। उनके जन्मदिन पर बधाई देना भी स्वाभिमान की बात है।
(साई फीचर्स)