राजनीति में आये बदलाव को समझे बिना काँग्रेस का मजबूत होना असंभव! : असलम शेर खान

नमस्कार, ये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया है। अब आप साई न्यूज की समाचार श्रंखला में सुनिये मंगलवार 31 अगस्त का प्रादेशिक ऑडियो बुलेटिन.
——–
मध्य प्रदेश में बिजली संकट से लोगों की परेशानी बढ़ती जा रही है। गाँवों में तो आलम यह है कि 15-16 घंटे तक सप्लाई ठप्प रहती है। रबी का सीजन आने से पहले बिजली की भीषण कटौती से किसानों में भी बेचैनी है। सीजन के दौरान अक्टूबर में राज्य में 16-17 हजार मेगावाट बिजली की आवश्यकता पड़ती है, लेकिन जो हालात दिख रहे हैं, उससे नहीं लगता है कि इतनी जल्दी व्यवस्था ठीक हो पाएगी। दूसरी तरफ इसको लेकर विपक्ष खास तौर पर काँग्रेस शिवराज सरकार पर जबर्दस्त हमला करने के मूड में है।
हालांकि गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र कह रहे हैं कि संकट थोड़े दिनों का है और इसे 4-5 दिन में दुरुस्त कर दिया जाएगा, लेकिन काँग्रेस पार्टी इस पर चुप बैठने की बजाए बड़े आंदोलन की तैयारी में जुट गई है। इससे पहले टीकमगढ़ से सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी विधायक राकेश गिरी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर सरकार की परेशानी और बढ़ा दी है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि प्रत्येक दिन 12 से 15 घंटे बिजली बंद होने के कारण किसान परेशान हैं। किसान फसल की सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं।
——–
जबलपुर के हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक को देशी-विदेशी हथियारों के साथ गिरफ्तार करने के बाद पुलिस उसके अपराध की कुंडली खंगाल रही है। बाहुबल के बल पर जुटाई गई बेशुमार संपत्ति का भी पता लगाया जा रहा है। सोमवार को एसआईटी की अलग-अलग टीमों ने कई स्थानों पर छापेमारी की। सूत्रों के अनुसार आरोपी के घर की फिर से तलाशी लेने के साथ ही एसआईटी की टीम सिवनी और नरिसंहपुर में भी रज्जाक के करीबियों की जानकारी जुटा रही है। रज्जाक को रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की भी तैयारी है। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय में पेश करने के दौरान बवाल कराने वाले रज्जाक के बेटे सरताज और उसके गुर्गों को पकड़ने के लिए भी शिकंजा कस दिया है। एसआईटी की एक टीम ने सोमवार को रज्जाक के नया मोहल्ला में रिपटा स्थित उसके घर में दबिश दी। रज्जाक के करीबियों से पूछताछ की गई। पुलिस रज्जाक, सरताज और उसके गुर्गों के मददगारों का भी पता लगा रही है।
——–
ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि वर्तमान में प्रदेश में बिजली की मांग की तुलना में पर्याप्त विद्युत उत्पादन है। प्रदेश में कहीं पर भी विद्युत उपलब्धता की कमी के कारण विद्युत कटौती नहीं हो रही है।
प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि विगत दिनों 27 अगस्त की शाम से लगभग तीन दिन विद्युत की मांग में अप्रत्याशित वृद्धि और कम उत्पादन की स्थिति निर्मित हुई थी। अतः अघोषित विद्युत कटौती, अंतिम विकल्प के रूप में करने की बाध्यता हुई। विद्युत उत्पादन में कमी की स्थिति देशव्यापी कोयला संकट और कम वर्षा के कारण बनी है। वहीं दूसरी ओर अल्प वर्षा के कारण कृषि के क्षेत्र में विद्युत मांग में अप्रत्याशित वृद्धि हुई।
उल्लेखनीय है कि सामान्यतः मानसून के दौरान सिंचाई के लिए बिजली की सीमित आवश्यकता ही होती है। अतः इन माहों में विद्युत इकाईयां वार्षिक रखरखाव के लिए बंद की जाती हैं। वर्तमान में प्रदेश में विभिन्न उत्पादन केंद्रों की 2227 मेगावाट क्षमता की विभिन्न इकाईयां वार्षिक रखरखाव के लिए बंद हैं। इनमें से लगभग 1000 मेगावाट क्षमता 05 सितंबर तक उपलब्ध हो जायेगी। इससे स्थिति पर पूर्ण रूप से नियंत्रण हो जायेगा।
——–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज के साथ बनने वाले सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के संबंध में आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। मेडिकल कॉलेज से संबंधित आवश्यक अधोसंरचनात्मक कार्य पूर्ण किए जाएंगे।
इस संबंध में आज चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग के नेत्तृत्व में मुख्यमंत्री से मिले प्रतिनिधि-मण्डल ने उन्हें जानकारी दी कि वर्तमान में मेडिकल कॉलेज में शिक्षण कार्य तो हो रहा है, किंतु कॉलेज का अपना हॉस्पिटल न होने के कारण प्रयोगात्मक कक्षाएं जिला चिकित्सालय में लग रही हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस विसंगति को दूर किया जाएगा।
प्रतिनिधि-मण्डल ने बताया कि छिंदवाड़ा में मेडिकल कॉलेज खोलने की मंजूरी और कॉलेज के निर्माण के बाद वर्ष 2019 से शिक्षण कार्य आरंभ हो चुका है, किंतु कॉलेज का अपना हॉस्पिटल न होने के कारण शिक्षण कार्य में बाधा आ रही है।
——–
काँग्रेस में नियमित राष्ट्रीय अध्यक्ष होना ही चाहिए, ऐसे काम नहीं चलेगा। मैंने 2019 में राहुल गांधी को पत्र लिखा था कि मुझे अध्यक्ष बना दें लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। यह बात काँग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री असलम शेर खान ने कही।
असलम शेर खान ने कहा कि काँग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्णकालिक होना आवश्यक है। काँग्रेस का एक ग्रुप जी-23 भी यही चाहता हैं कि भले ही राहुल गांधी अध्यक्ष बन जाएं लेकिन चुनाव की एक प्रक्रिया होना चाहिए। दिल्ली में काँग्रेस समझ ही नहीं रही।
विश्व की राजनीति पर पूछे गए सवाल के जवाब में असलम शेर खान ने कहा कि कोविडकाल में पूरे विश्व में बदलाव आया है। विश्व की राजनीति भी बदली है। अमेरिका ने अपनी सेनाएं अफगानिस्तान से वापस बुला लीं और वहां तालिबान का कब्जा हो गया। भारत की राजनीति में काँग्रेस तभी मजबूत हो सकती है जब वे इस बदलाव को समझें कि अब सातों दिन 24 घंटे काम करने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष और नेता चाहिए। दिल्ली की राजनीति से ही तीसरा विकल्प लोगों को मिल गया है। काँग्र्रेस को सबक लेना चाहिए।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
सीधी में तेज आंधी के साथ देवरी बांध से पानी आसामान की ओर उड़ने लगा। इसे देखकर लोग हैरान रह गए। वहीं, इस दौरान वहां उपस्थित लोगों ने वीडियो बनाया है। इस दुर्लभ नजारे को लोगों ने कैमरे में कैद किया है। जन्माष्टमी के दिन सीधी जिले के लोग इस अद्भुत नजारे को देखकर अभिभूत हैं। अब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।
दरअसल, यह वीडियो सीधी जिले के वनांचल कुसमी के दूरस्थ भुईमाड़ का है। सोमवार को जन्माष्टमी के दिन शाम लगभग 04 से साढ़े 04 बजे के बीच तेज आंधी सी आई। इसी दरमियान भुईमाड़ के पास स्थित देवरी बांध (तालाब) से पानी ऊपर आसमान की ओर जाने लगा, लगभग 10 से 15 मिनिट तक प्रकृति का यह अदभुत दुर्लभ नजारा चलता रहा। इसके बाद पानी वापस आकर फिर से बांध में ही गिरा है।
ये नजारा देखने के बाद वहां उपस्थित प्रत्यक्षदर्शियों में भय का माहौल कायम हो गया था। साथ ही अनोखे दृश्य को देखने के बाद उत्साहित भी नजर आ रहे थे। यह वीडियो पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है। यह पल ऐसा था, जिसे देखकर लग रहा था कि कोई मोटर से पानी आसमान की ओर उछाल रहा हो। भोपाल के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक शैलेंद्र नायक ने कहा कि अमेरिका में इस तरह की घटना को टॉरनेडो कहते हैं।
——–
झाबुआ जिला जेल के जेलर के बंगले में कैदियों के द्वारा बर्तन धोने और छाछ बनाने का वीडियो सामने आया है। यह कैदी बिना किसी गार्ड या सुरक्षा के घर में काम कर रहे हैं। एक बर्तन धो रहा है और दूसरा छाछ बना रहा है। एक कैदी बंगले से बाहर निकलते भी दिख रहा है।
इस मामले में जेलर (डिप्टी सुपरिटेंडेंट) राजेश विश्वकर्मा का कहना है, ये मेरे विरूद्ध साजिश है। तीन दिन से अवकाश पर हूं। परिवार के नहीं रहते वीडियो बनाया गया। इसमें जेल के लोग मिले हुए हैं। आपको याद होगा पिछले वर्ष राजेश विश्वकर्मा को उत्कृष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पदक दिया जा चुका है।
वीडियो कितने दिन पुराना है, इसकी तस्दीक नहीं हो सकी है, लेकिन इतना साफ है कि जो लोग बंगले पर काम करते दिख रहे हैं, वो जिला जेल के कैदी ही हैं। जेल प्रशासन की लापरवाही इतनी है कि कैदियों को इस क्षेत्र में जाने दिया जाता है, जहां कोई सुरक्षा गार्ड नहीं रहता। स्टाफ जेल भवन के गेट तक तैनात होता है। इसके बाद आवासीय परिसर है। इसमें आने के लिए एक गेट है, जो खुला रहता है। इस गेट के समीप ही उप जेल अधीक्षक का बंगला है। यहीं पर आने के लिए जेल का गेट खोला जाता है, कैदी बाहर आते हैं, बंगले में जाकर काम करते हैं और काम के बाद फिर लौटकर जेल में चले जाते हैं।
——–
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में शरद खरे से मंगलवार 31 अगस्त का प्रादेशिक ऑडियो बुलेटिन। बुधवार 01 सितंबर को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, जय हिन्द।
(साई फीचर्स)