रज्जाक के करीबी होने का दावा करने वालों की बढ़ सकती है परेशानियां!

पुलिस मुख्यालय स्तर पर सिवनी, नरसिंहपुर एवं कटनी जिलों में टटोले जा रहे हैं रज्जाक के कनेक्शन
(नंद किशोर)
भोपाल (साई)। जबलपुर के शातिर अपराधी रज्जाक पहलवान के करीबियों पर जल्द ही पुलिस का शिकंजा कस सकता है। पुलिस मुख्यालय स्तर पर रज्जाक के अवैध कारोबार के धंधे सिवनी सहित नरसिंहपुर और कटनी जिलों में भी फैले होने की आशंकाएं जताई जा रही हैं, इसलिए पुलिस के द्वारा गुप्त रूप से सिवनी, नरसिंहपुर, कटनी आदि जिलों के रज्जाक के करीबियों की जन्म कुण्डली तैयार करना आरंभ कर दिया गया है।
उक्ताशय की बात पुलिस मुख्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेेंसी ऑफ इंडिया को बताते हुए कहा कि अधिकारियों को इस बात पर भी शक है कि रज्जाक और उसके बेटे राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल पाए जा सकते हैं। अब रज्जाक एवं उसके बेटे के मोबाईल के काल डिटेल रिकार्डस (सीडीआर) भी खंगाले जा रहे हैं।
पुलिस सूत्रों ने आगे बताया कि रज्जाक के घर एवं उसके करीबियों के घरों से जिस तरह हथियार और अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है उससे अनेक प्रश्न आज भी अनुत्तरित ही खड़े हैं। पुलिस ने कमरूल के निवास से जो हथियार बरामद किए थे उनका लाईसेंस कटनी से जारी किया गया था, किन्तु जबलपुर पुलिस को इस बात की भनक तक नहीं लगी कि कटनी का हथियार जबलपुर में कैसे रखा गया है।
सूत्रों ने आगे बताया कि कमरुल के पास से बरामद असलहों का उपयोग रज्जाक के पुत्र सरताज और उसके गुर्गे भी किया करते रहे। आरोपी कमरूल सरताज का आय व्यय का हिसाब भी रखता था।

इधर, कहा जा रहा है कि सिवनी में भी रज्जाक पहलवान पहलवान के रसूख को देखकर उनके करीबी होने का दावा अनेक लोग करते नजर आते थे। अब पुलिस की नजरें उन लोगों पर हैं जो अपने आप को रज्जाक पहलवान का करीबी बताते आए हैं। सिवनी में कुछ भूखण्ड में रज्जाक पहलवान की हिस्सेदारी की चर्चाएं भी चल रहीं हैं।
सूत्रों ने यह भी बताया कि रज्जाक और उसके पुत्र सरताज तथा इनकी किचिन कैबनेट के अन्य लोगों के साथ मोबाईल पर कौन कौन लगातार बात करता था, इस बारे में भी सीडीआर के जरिए जानकारी जुटाई जा रही है। इसके लिए गुप्तचर एजेंसीज भी अपने अपने स्तर पर जानकारियां जुटा रही हैं।