न्यायिक हिरासत में भेजे गये काँग्रेसी मुख्यमंत्री के पिता ने नहीं किया जमानत के लिये आवेदन!

नमस्कार, ये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया है। अब आप साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में सुनिये मंगलवार 07 सितंबर का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन.
——–
देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान मची तबाही से अब तक लोग डरे हुए हैं। केंद्र और राज्य सरकारों ने संभावित तीसरी लहर की तैयारियां भी तेज कर दी हैं। केंद्र सरकार समय-समय पर राज्यों को इसके लिए निर्देश भी जारी करती रही है। इस बीच, महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नितिन राउत ने ऐसा बयान दिया है, जिससे चिंता और बढ़ गई है। राउत ने बताया है कि नागपुर में कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत हो चुकी है। माना जा रहा है कि शीघ्र ही शहर में पाबंदियां लगाई जा सकती हैं।
नागपुर जिले के प्रभारी मंत्री नितिन राउत ने कहा, नागपुर में कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत हो चुकी है, जिसके कारण पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों में बढ़ौत्तरी हुई है। 13 पॉजिटिव पाए गए लोग ऐसे भी थे, जिसमें से 12 को वैक्सीन लग चुकी थी।
उन्होंने आगे बताया कि आज हम बहुत दिनों बाद दोगुने पॉजिटिव मामलों पर आ गए हैं। हमारे यहां तीसरी लहर का आगमन हो गया है। शीघ्र ही आपदा प्रबंधन की बैठक होगी। कुछ पाबंदियां लगाने का निर्णय हुआ है लेकिन इसके संबंध में जनता के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा करके अंतिम फैसला लेंगे।
——–
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल को पुलिस ने ब्राह्मणों पर विवादित बयान देने के मामले में सोमवार को राजधानी रायपुर से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद नंद कुमार बघेल को रायपुर के एक न्यायालय में पेश किया गया। नंद कुमार बघेल की गिरफ्तारीके कयास लगाए जा रहे थे।
रायपुर में नंद कुमार के वकील गजेंद्र सोनकर ने बताया कि उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। 21 सितंबर को फिर से न्यायालय में पेश होने के लिए कहा गया है। वकील ने बताया कि नंद लाल ने जमानत के लिए आवेदन नहीं करने के निर्देश दिए थे। लिहाजा जमानत के लिए आवेदन नहीं किया गया है।
——–
उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती का कहना है कि यदि वे 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सरकार बनाती हैं तो वे फिर न तो कोई स्मारक बनाएंगी और न ही कोई मूर्ति लगाएंगी। नेत्री ने कहा कि वे बस उत्तरप्रदेश की सूरत बदलेंगी। विदित हो कि बतौर मुख्यमंत्री अपने कार्यकाल में, मायावती ने कई पार्क, स्मारक बनवाए थे। यहां तक कि उन्होंने खुद की मूर्ति भी लगवा दी थी।
——–
लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के नेता चिराग पासवान से नई दिल्ली में काँग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के पड़ौस वाला सरकारी बंगला खाली करने के लिए कहा गया, तो वहां पर उनके दिवंगत पिता राम विलास पासवान की मूर्ति लगवा दी गई। 12, जनपथ में उन्होंने लगभग तीन दशक अपने परिवार के साथ बिताए थे।
दिवंगत पासवान की जो प्रतिमा लगाई गई है, उसमें छाती तक का हिस्सा दर्शाया गया है। मूर्ति में नीले रंग के प्रिंस सूट में भरी दाढ़ी के साथ उनके चेहरे पर मुस्कान भी दिखाई गई है। इसे 12 जनपथ में कुछ रोज पहले ही लगाया गया है, जहां अब उनके बेटे चिराग रहते हैं। रोचक बात है कि बिहार के जमुई से लोकसभा सांसद होने के नाते उन्हें सरकारी बंगला मिला है लेकिन उसके बाद भी वे वहीं रहते हैं, जहां पिता रहते थे।
——–
अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार का नेत्तृत्व मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को दिए जाने की तैयारी है। वह अब तक तालिबान की शीर्ष निर्णयकारी संस्था रहबरी शूरा के प्रमुख रहे हैं। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार तालिबान के सरगना मुल्ला हेबतुल्लाह अखुंदजादा ने हसन को यह जिम्मेदारी देने का निर्णय लिया है। इसके अलावा मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को उनके डिप्टी के तौर पर नियुक्त करने का निर्णय हुआ है। बरादर के साथ ही मुल्ला अबदस सलाम को भी हसन अखुंद के डिप्टी के तौर पर नियुक्त करने का निर्णय लिया गया है। कई सूत्रों के हवाले से द न्यूज इंटरनेशनल ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि अगले सप्ताह तक सरकार के गठन का ऐलान हो सकता है।
मुल्ला हसन फिलहाल तालिबान की शीर्ष निर्णयकारी संस्था रहबरी शूरा के मुखिया हैं। अखबार के अनुसार मुल्ला हसन कंधार के रहने वाले हैं, जहां से तालिबान का जन्म हुआ था। वे तालिबान के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं। वह 20 वर्ष तक रहबरी शूरा के हेड रहे हैं और उन्हें हेबतुल्लाह अखुंदजादा का करीबी माना जाता रहा है।
——–
कोरोना वायरस से जंग में देश ने एक बड़ा लक्ष्य हासिल कर लिया है। अब तक देश भर में 70 करोड़ से ज्यादा टीके लग चुके हैं। यही नहीं 60 करोड़ से आंकड़ा 70 करोड़ तक पहुंचने में महज 13 दिनों का ही वक्त लगा है। कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत इस वर्ष जनवरी में हुई थी और तब से अब तक इसकी गति में लगातार बढ़ौत्तरी हो रही है। पहले 10 करोड़ टीके लगने में जहां 85 दिनों का वक्त लगा था। वहीं यह आंकड़ा 10 से 20 तक पहुंचने में 45 दिन ही लगे थे। उसके बाद से लगातार कोरोना वैक्सीनेशन की गति में बढ़ौत्तरी देखने को मिल रही है। 20 से 30 करोड़ डोज 29 दिनों में और फिर अगले 34 दिनों में यह आंकड़ा 40 करोड़ तक पहुंच गया था।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
झारखंड विधानसभा में नमाज अदा करने के लिए अलग कमरे पर सियासत मंगलवार को भी जारी है। सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने भजन-कीर्तन किया था तो मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ किया। इस दौरान सभी ने गले में जय श्रीराम का पट्टा भी बांधा। भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने कहा, विधानसभा को संकट से मुक्ति दिलाने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं। पार्टी के चीफ ह्विप विरंची नारायण ने कहा, ये लोकतंत्र का मंदिर है। हम भी चाहते हैं कि यहां हनुमान चालीसा का पाठ न हो, लेकिन जब स्पीकर सरकार के इशारे पर यहां नमाज अदा करवा सकते हैं तो हमें भी यहां हनुमान चालीसा का पाठ करना होगा।
इस मसले पर स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने कहा, विपक्ष को हनुमान जी सद्बुद्धि, बल और विद्या भी दें। भाजपा विधायक बता दें कि हनुमान चालीसा का पाठ कब और किस रूप में किया जाता है। 02 सितंबर को विधानसभा अध्यक्ष के आदेश पर विधानसभा में नमाज के लिए कमरा नंबर टीडब्ल्यू – 348 एलॉट किया गया है। इसके बाद से ही भारतीय जनता पार्टी के विधायक पूजा के लिए भी अलग कमरे की मांग कर रहे हैं।
——–
बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को लखनऊ में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के अभियान की शुरूआत कर दी। मायावती ने स्पष्ट कर दिया कि चुनावी अभियान के केंद्र में ब्राह्मण ही होंगे। उन्होंने मंच से त्रिशूल लहराकर कहा कि प्रत्येक विधानसभा में पार्टी 1000 ब्राह्मण कार्यकर्ता बनाएगी। ब्राह्मण और सभी वर्गों के लोग 2007 की तरह पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएंगे।
मायावती ने कहा- यदि अगले चुनाव में बीएसपी की जीत होती है तो इस बार फोकस प्रदेश की नई तस्वीर बनाने पर रहेगा, मूर्तियां और संग्रहालय बनाने पर नहीं। मायावती ने भारतीय जनता पार्टी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा- ये लोग एक भाभी जी को लेकर घूम रहे हैं, जो भारतीय जनता पार्टी के लिए माहौल बना रहीं हैं। भारतीय जनता पार्टी चाहे जितनी भाभियों को लेकर घूम ले, लेकिन उनकी सरकार नहीं बनने वाली। हमने दलित आदिवासी समाज के संतों और गुरुओं को सम्मान दिया। दूसरे वर्गों के लोग चाहते हैं कि उनके संतों और गुरुओं को सम्मान दिया जाए तो उन्हें भी दिया जाएगा।
——–
उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस ने कार का चालान हेलमेट न लगाने पर कर दिया। कार मालिक पर एक हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इस चालान के विरोध में कार सवार अब हेलमेट पहनकर अपनी कार चला रहा है। इसका वीडियो खूब वायरल हो रहा है। फिलहाल, पुलिस मामले से पल्ला झाड़ते हुए नजर आ रही है।
दरअसल, नौबस्ता थाना क्षेत्र के बाबानगर इलाके में रहने वाले विशाल मिश्र ने बताया कि उनके पास मारुति सुजुकी कंपनी की स्विफ्ट कार है, जिसका नंबर यूपी 78 जी एन 8020 है, 31 अगस्त को वे आवश्यक काम से कार द्वारा शहर गए थे, वापस घर आने पर मोबाइल पर आए मैसेज के माध्यम से ऑनलाइन चालान होने के बारे में जानकारी मिली।
———
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में शरद खरे से मंगलवार 07 सितंबर का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन। बुधवार 08 सितंबर को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, जय हिन्द।
(साई फीचर्स)