डीआरएम की निरीक्षण रिपोर्ट रेल भवन पहुंचते ही हो जाएगा मेमू ट्रेन का नंबर अलाट

रेल्वे बोर्ड बहुत ही जल्द दे देगा बालाघाट एवं मण्डला संसदीय क्षेत्र के लिए एक एक मेमू की स्वीकृति
(सुमित माहेश्वरी)
नई दिल्ली (साई)। मण्डला एवं बालाघाट संसदीय क्षेत्र में एक एक मेमू सवारी रेलगाड़ी की स्वीकृति एक पखवाड़े से कम समय में मिल सकती है। ये रेलगाड़ी जबलपुर से घंसौर, नैनपुर होकर मण्डला एवं दूसरी रेलगाड़ी नैनपुर से बालाघाट, कटंगी होकर तिरोड़ी जाएगी।
उक्ताशय की बात रेलवे बोर्ड के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताई। सूत्रों ने बताया कि कोरोना कॉल के चलते भी जिन क्षेत्रों के संसद सदस्यों के द्वारा अपने अपने संसदीय क्षेत्र में रेल सुविधाओं के विस्तार केे लिए संजीदगी के साथ प्रयास किए हैं उन क्षेत्रों में रेल सुविधाएं और रेलगाड़ियां चलाई गई हैं। सूत्रों का कहना था कि मण्डला और बालाघाट के सांसद अगर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष को क्षेत्र में रेलगाड़ियों और यात्री सुविधाओं को बढ़ाने की दिशा में पहल करते तो ये रेलगाड़ियां लगभग दो माह पूर्व ही अस्तित्व में आ चुकी होतीं।
सूत्रों ने आगे बताया कि ॉल इंडिया ओबीसी रेल्वे फेडरेशन के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रशांत सूर्यवंशी के द्वारा रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष से चर्चा कर बालाघाट एवं मण्डला संसदीय क्षेत्र में कम से कम एक एक मेमू देने की बात रखी थी। प्रशांत सूर्यवंशी मूलतः सिवनी के निवासी हैं, इसलिए वे माटी का कर्ज उतारना चाह रहे होंगे, वस्तुतः यह काम जनादेश प्राप्त सांसदों को करना चाहिए था।
सूत्रों ने बताया कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर के अपर मंडल रेल प्रबंधक ए.के. सूर्यवंशी को रेलवे बोर्ड के द्वारा निर्देशित किया गया है कि वे तिरोड़ी से बालाघाट होकर नैनपुर एवं नैनपुर से मण्डला फोर्ट के बीच के रेलखण्ड का निरीक्षण कर विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण सहित तिरोड़ी एवं मण्डला फोर्ट के रेलवे स्टेशन्स का निरीक्षण कर अपना प्रतिवेदन जोनल प्रबंधक बिलासपुर के माध्यम से रेलवे बोर्ड को भेजें।
इसी आधार पर 08 सितंबर को अपर मंडल रेल प्रबंधक ए.के. सूर्यवंशी के द्वारा सुबह 07 बजे नागपुर के इतवारी रेल्वे स्टेशन से विशेष रेलगाड़ी के द्वारा रवाना होकरा 09ः30 बजे तिरोड़ी पहुंचेंगे। तिरोड़ी में रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के उपरांत 11 बजे तिरोड़ी से बालाघाट होकर 02 बजे नैनपुर एवं तीन बजे नैनपुर से मण्डला फोर्ट के लिए रवाना होकर पौने चार बजे नैनपुर पहुंचेंगे। इसके बाद पांच बजे वे मण्डला फोर्ट से रवाना होने के बाद रात 10 बजे इतवारी रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे।
इधर, रेलवे बोर्ड के मेंबर आपरेशन और बिजनिस डेव्हलपमेंट संजय कुमार मोहन्ती के करीबी सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिा को बताया कि अपर मण्डल रेल प्रबंधक की रिपोर्ट को मण्डल रेल प्रबंधक नागपुर के माध्यम से जोनल कार्यालय बिलासपुर भेजा जाएगा, जहां से यह रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को भेजी जाएगी। रेलवे बोर्ड के द्वारा इसका परीक्षण करने के बाद दोनों मेमू रेलगाड़ियों जिनमें से एक जबलपुर से घंसौर, नैनपुर होकर मण्डला एवं दूसरी मण्डला फोर्ट से नैनपुर, बालाघाट, कटंगी होकर तिरोड़ी तक आना जाना करेगी के नंबर जारी कर दिए जाएंगे।

. . . तो सिवनी से भी चलती मेमू!

सूत्रों ने बताया कि बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में अगर क्षेत्रीय सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन के द्वारा रेलवे के निर्माण प्रभाग के अधिकारियों और ठेकेदार को समय सीमा में काम कराने के लिए लगातार ही बाध्य किया जाता तो एक मेमू रेलगाड़ी सिवनी से भोमा, पलारी, कान्हीवाड़ा, केवलारी, नैनपुर, घंसौर होकर जबलपुर भी चल सकती थी।