इधर, बोध सिंह, उधर फग्गन सिंह लगे हैं नई रेलगाड़ी चलाने की जुगत में!

बोध सिंह ने की रेलवे बोर्ड से चर्चा, तिरोडी बालाघाट नैनपुर रेल के मार्ग हुए प्रशस्त, जबलपुर नैनपुर, मण्डला रेलगाड़ी आरंभ होगी जल्द, सुबह छूटेगी मण्डला से शाम को होगी जबलपुर से वापस
(सुमित माहेश्वरी)

नई दिल्ली (साई)। मण्डला संसदीय क्षेत्र को रेलवे बोर्ड जल्द ही सौगात देने वाला है। जबलपुर से घंसौर नैनुपर के रास्ते मण्डला के रेलखण्ड में जल्द ही मेमू/डेमू रेलगाड़ी चलाई जा सकती है। इसी तरह बालाघाट संसदीय क्षेत्र के पूर्व सांसद बोध सिंह भगत के द्वारा रेल्वे बोर्ड से तिरोड़ी, बालाघाट, नैनपुर रेलगाड़ी चलाए जाने की बात किए जाने से इस बात की आस बढ़ गई है कि बालाघाट संसदीय क्षेत्र में भी एक मेमू/डेमू रेलगाड़ी चल सकती है।

सुबह छूटेगी मण्डला से, शाम को वापस होगी जबलपुर से

रेलवे बोर्ड के भरोसेमंद सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि साऊथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे के डीआरएम नागपुर के द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के अनुसार मण्डला एक आदिवासी बाहुल्य इलाका है और मण्डला से अधिकांश लोग संस्कारधानी जबलपुर जाकर ईलाज करवाते हैं, किसान खाद बीज आदि के लिए जबलपुर आना जाना करते हैं इसलिए इसी आधार पर इसका शेड्यूल बनाकर भेजा गया है।
सूत्रों ने आगे बताया कि अभी यह तय नहीं हो पाया है कि मण्डला संसदीय क्षेत्र में मण्डला से जबलपुर के बीच डेमू रेल चलेगी या मेमू! वैसे डीआरएम नागपुर के द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के हिसाब से जो भी रेलगाड़ी चलेगी वह सुबह मण्डला से जबलपुर के लिए रवाना होगी। यही रेलगाड़ी शाम को पांच बजे के लगभग जबलपुर से वापस मण्डला के लिए प्रस्थान करेगी।

तिरोड़ी, कटंगी, बालाघाट नैनपुर पर कुहासा!

सूत्रों ने आगे कहा कि दूसरी ओर बालाघाट संसदीय क्षेत्र के तिरोड़ी, कटंगी, बालाघाट से होकर नैनपुर तक प्रस्तावित डेमू या मेमू रेलगाड़ी कब तक चल पाएगी, क्योंकि इस रेलगाड़ी में किसी महाबली के द्वारा अडंगे लगाए जाने की बातें भी प्रकाश में आती दिख रही हैं।

पूर्व सांसद भगत ने की चर्चा

रेलवे बोर्ड के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि रेलवे बोर्ड के आपरेशनल मेंबर संजय कुमार मोहंती से चर्चा कर कहा गया कि वे बालाघाट संसदीय क्षेत्र के पूर्व लोकसभा सदस्य रह चुके हैं और अगर जनता ने उन्हें चुनकर लोकसभा में भेजा था तो यह उनका दायित्व है कि वे आज संसद सदस्य न रहते हुए भी जनता के हित के लिए प्रयास जरूर करें। इसलिए उन्होंने तिरोड़ी से कटंगी, बालाघाट होकर नैनपुर तक के हिस्से में डेमू या मेमू रेलगाड़ी चलाए जाने की वकालत की।


अगर भगत हुए सक्रिय तो बदलेंगे समीकरण!

सूत्रों ने कहा कि पूर्व सांसद बोध सिंह भगत के द्वारा जिस वजनदारी के साथ बालाघाट क्षेत्र की बात को रेलवे बोर्ड के समक्ष रखा गया है। पूर्व सांसद बोध सिंह भगत की बात को अगर रेलवे बोर्ड मानता है और एक पखवाड़े के अंदर तिरोड़ी, कटंगी, बालाघाट होकर नैनपुर के लिए डेमू या मेमू रेलगाड़ी आरंभ होती है तो बालाघाट में समीकरण बदल भी सकते हैं, क्योंकि पूर्व मंत्री और विधायक गौरी शंकर बिसेन एवं पूर्व सांसद बोध सिंह भगत के बीच वर्चस्व की जंग शायद ही किसी से छिपी रही हो। अगर बोध सिंह भगत बतौर पूर्व सांसद सक्रिय होकर बालाघाट संसदीय क्षेत्र के लिए सौगातें लेकर आते हैं तो उन्हें एक बार फिर ताकतवर होने से शायद ही रोका जा सके।

कोविड का रोढा आ रहा आड़े!

रेलवे बोर्ड के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को यह भी बताया कि कोरोना कोविड 19 की स्थिति को देखते हुए ही रेलगाड़ियों का संचालन आरंभ किया जा रहा है। सूत्रों की मानें तो 23 जिलों में 10 फीसदी मरीज मिलने की स्थिति को देखते हुए रेलवे बोर्ड भी वेट एण्ड वॉच की स्थिति में आ गया है। अब रेलगाड़ी के परिचालन हेतु जिला स्तरीय क्राईसिस मेनेजमेंट कमेटी की सिफारिश भी मायने रखेगी।

मेमू और डेमू का अंतर

मेमू का मतलब मेन लाइन इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट होता है। यह ट्रेन विद्युतीकृत ट्रैक पर ही चलती है और बिजली से संचालित होने वाला इंजन इसमें लगाया जाता है। डेमू ट्रेन का मतलब होता है डीजल मल्टीपल यूनिट। यह ट्रेन डीजल इंजन से चलती है। इसके अलावा मेमू में फुट रेस्ट नहीं होता है और यह सिर्फ उन्हीं रेलवे स्टेशनों पर रुकती है जहां प्लेटफार्म होता है, जबकि डेमू ट्रेन में फुट रेस्ट होता है।

रेलवे बोर्ड मेंबर संजय मोहंती से तिरोड़ी, कटंगी, बालाघाट, नैनपुर रेल चलाने की बात हुई है। उन्होंने आश्वासन दिया है कि एक पखवाड़े के अंदर ही नई रेलगाड़ी चालू कर दी जाएगी। बालाघाट संसदीय क्षेत्र की जनता ने मुझे पांच साल अवसर दिया था, इस लिहाज से हमारी प्राथमिकता है कि बालाघाट संसदीय क्षेत्र के जनता को रेल सुविधाओं से संपन्न बनाने में प्रयास करूं।

बोध सिंह भगत,
पूर्व सांसद, बालाघाट.

रेलवे के अधिकारियों से चर्चा की है। इस माह के अंत या अगले माह में जबलपुर, नैनपुर मण्डला एवं नैनपुर, बालाघाट, कटंगी, तिरोड़ी के लिए रेलगाड़ी आरंभ होने की उम्मीद है।

फग्गन सिंह कुलस्ते,
मण्डला सांसद एवं केंद्रीय मंत्री.