डाक्टर ने किया प्रसूता को रेफर, परिजन ने भेजे अश्लील संदेश!

मरीजों के इलाज के बजाए सालों से रेफर अस्पताल का तगमा लगा है जिला चिकित्सालय पर!
(संजीव प्रताप सिंह)


सिवनी (साई)। सिवनी के जिला चिकित्सालय में विवादों का क्रम थमता नहीं दिख रहा है। जबलपुर से एक दल जिला अस्पताल की जांच के लिए आया और उसी दौरान एक हंगामेदार मामला प्रकाश में आ गया।


पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जिला चिकित्सालय में बीति रात (बुधवार और ब्रहस्पतिवार की दर्मयानी रात) एक प्रसूता को अन्य स्थान पर रेफर करने से विवाद गहरा गया। प्रसूता के परिजन के द्वारा जिस महिला चिकित्सक के द्वारा प्रसूता को रेफर किया गया था उसके मोबाईल पर अनेक बार फोन कर धमकी दी गई।


सूत्रों ने बताया कि रात तक अनेक बार महिला चिकित्सक को धमकी और धमकी भरे एसएमएस भेजे गए, पर हद तो तब हो गई जब ब्रहस्पतिवार को प्रसूता के उक्त सरफिरे परिजन के द्वारा महिला चिकित्सक के मोबाईल पर अश्लील मैसेज भेजना आरंभ कर दिया।


पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को आगे बताया कि ब्रहस्पतिवार को जिला चिकित्सालय के अनेक चिकित्सक कोतवाली पहुंचे और उन्होंने पुलिस को इस बात से आवगत कराया। इसके बाद चिकित्सकों को महिला थाने भेज दिया गया। महिला थाने में चिकित्सकों से आवेदन लिया जाकर उन्हें वापस कोतवाली भेजा गया। सूत्रों ने बताया कि चिकित्सक महिला थाने और कोतवाली के बीच फिरकी बने ही नजर आते रहे।


इस पूरे मामले में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की जिला शाखा का मौन भी चर्चाओं में बना रहा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को यह भी बताया कि सिवनी के जिला चिकित्सालय को लगभग डेढ़ दो दशकों से रेफर करने वाला अस्पताल ही कहा जाने लगा है।


सीएमएचओ कार्यालय के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को यह भी बताया कि लगातार दो तीन सालों से जिला चिकित्सालय को कायाकल्प अभियान के तहत पुरूस्कृत किया जाता रहा है किन्तु इस तरह की घटनाएं इंदिरा गांधी जिला चिकित्सालय की छवि पर बट्टा लगाने के लिए पर्याप्त मानी जा सकती हैं।