जबलपुर के सांसद राकेश सिंह ने ली मण्डला व बालाघाट संसदीय क्षेत्र की सुध!

मण्डला एवं बालाघाट संसदीय क्षेत्र से होकर गुजरने वाली रेलगाड़ियों को आरंभ कराने रेलमंत्री से की गुजारिश
(ब्यूरो कार्यालय)
जबलपुर (साई)। मण्डला के सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते एवं बालाघाट के सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन के प्रयासों के उपरांत अब जबलपुर के सांसद राकेश सिंह भी मण्डला और बालाघाट संसदीय क्षेत्र में रेलगाड़ियों के परिचालन को यथावत किए जाने को लेकर संजीदा दिख रहे हैं।
कोविड के चलते जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज पर बंद हो चुकी ट्रेनों को जल्द शुरू किया जाएगा। उक्ताशय का दावा रेल मंत्री अश्विन वैष्णव से मिलकर सांसद राकेश सिंह ने किया है। सांसद राकेश सिंह ने जबलपुर सहित ब्राडगेज रूट के यात्रियों की परेशानी रेल मंत्री से साझा की। इस दौरान सांसद की रेलमंत्री से जबलपुर से चांदाफोर्ट के बीच संचालित एक्सप्रेस और जबलपुर से नैनपुर के बीच संचालित पैसेंजर ट्रेनों को चालू करने पर चर्चा हुई।
जबलपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत दक्षिण पूर्व मध्य रेल मंडल और पश्चिम मध्य रेल मंडल के तहत ट्रेनों के संचालन, यात्री सुविधाओं और जबलपुर में बन रहे फ्लाई ओवर निर्माण में रेल प्रशासन के सहयोग के लिए 09 अक्टूबर को लोकसभा मुख्य सचेतक सांसद राकेश सिंह ने रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव से दिल्ली में मुलाकात कर यहां की समस्याओं की ओर मांग पत्र देकर ध्यान आकृष्ट कराया।
जबलपुर के सांसद राकेश सिंह के मुताबिक रेल मंत्री ने जबलपुर गोंदिया ब्रॉडगेज रूट पर जबलपुर से चांदाफोर्ट एक्सप्रेस और जबलपुर से नैनपुर पैसेंजर ट्रेन का संचालन जल्द प्रारंभ करने पर सहमति दी है। उन्होंने कहा कि बहुत संभव है कि इस रूट पर भी मेमू का संचालन शुरू किया जाए।
सांसद राकेश सिंह ने रेल मंत्री वैष्णव को बताया कि जबलपुर-गोंदिया ब्राडगेज परियोजना जबलपुर सहित पूरे महाकौशल क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित परियोजना थी। नागपुर मंडल (दक्षिण पूर्व मध्य रेल-बिलासपुर) के अधीनस्थ उनके संसदीय क्षेत्रान्तर्गत सगड़ा (गढ़ा), ग्वारीघाट, जमतरा, चारघाट, बरगी, सुकरी और कालादेही रेलवे स्टेशन हैं।
इस रूट पर बड़ी संख्या में स्थानीय और लंबी दूरी के यात्री मिलते हैं। साथ ही इस रूट पर बालाघाट और नागपुर के यात्री भी बड़ी संख्या में सफर करते हैं। रेल मंत्रालय द्वारा जबलपुर से बालाघाट नए रूट पर एक नियमित ट्रेन चलाने की स्वीकृति प्रदान की गई, जिसे जबलपुर- चांदाफोर्ट तक चलाया जाना था, पर कोविड की दूसरी लहर के चलते इस ट्रेन का संचालन प्रारंभ नहीं हो पाया। अब इस ट्रेन को शुरू करने की मांग सांसद ने रेलमंत्री से की। बताया कि इससे स्थानीय लोगों को नागपुर के लिये सीधी ट्रेन सेवा मिल जाएगी।