आचार्यश्री पर विशेष टिकिट जारी किया पूर्व विधायक नरेश दिवाकर ने

केंद्र सरकार के कार्यक्रमों में बालाघाट सांसद की उपेक्षा बन रही चर्चा का विषय!
(ब्यूरो कार्यालय)


सिवनी (साई)। ज्ञान-वैराग्य-आचरण की त्रिवेणी जैनाचार्य विद्यासागर महाराज ने साहित्य, धर्म, संस्कार ज्ञान व परोपकार के क्षेत्र मे अनेक उपकार किये हैं, जिसका हम कभी बदला नही चुका सकते, केवल उनके उपकारों को अमरता प्रदान करने का कार्य कर सकते हैं और स्वंय धन्यता महसूस कर सकते हैं।


उक्ताशय के विचार पूर्व विधायक एवं महाकौशल विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष नरेश दिवाकर (डीएन) ने आचार्यश्री के 50 वे आचार्य पदारोहण दिवस के अवसर पर भारतीय डाक एंव तार विभाग के द्वारा जारी किये जाने वाले ’’विशेष आवरण व माय स्टाम्प’’ के विमोचन के अवसर पर एक गरिमामय समारोह मे व्यक्त किये।


श्री दिवाकर ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि विभाग द्वारा जारी किये गये विशेष आवरण मे सिवनी के गगनचुम्वी जैन मंदिर के साथ आचार्य विद्यासागर महाराज के चित्र को स्थान दिया गया है साथ ही ’’माय स्टाम्प’’ पर सिवनी के विशाल रजत रथ को प्रकाशित किया गया है।


कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए संभागीय अधीक्षक जे.के काव़डे ने आचार्य श्री को नमन करते हुए बताया कि ऐसी विशेष हस्तियों के लिए विभाग प्रारंभ से ही ’’विशेश आवरण’’ जारी करते रहा है। आचार्य श्री पर विशेश आवरण जारी करने से समस्त विभाग गौरवान्वित है।


कार्यक्रम के प्रारंभ मे मंचस्थ अतिथियों मे नरेश दिवाकर (डीएन), जे.के काव़डे, मिलन बाझल, प्रकाश नाहटा, मुंबई के वास्तु इंजीनियर दीपक अग्रवाल, संतोष जैन, के साथ ही धरमचंद भूरा, सुदर्शन बाझल,नरेन्द्र गोयल, प्रफुल्ल जैन, संजय नायक, चन्द्र शेखर आजाद ने आचार्य श्री के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित किया साथ ही महिला मंडल द्वारा मंगलाचरण का पाठ किया गया।
इस अवसर पर समाज के द्वारा विभागीय अधिकारीयांे का सहयोग के लिए शाल-श्रीफल से सम्मान किया गया। जबकि आभार के लिए सह अधीक्षक श्री गुप्ता के द्वारा किया गया।


मंच संचालन कर रहे पारस जैन ने बताया कि आज विधिवत विमोचन के उपरांत कल छिन्दवाड़ा मे विराजमान मुनि आदित्य सागर महाराज के सानिध्य मे भी एक कार्यक्रम आयोजित होगा। इस अवसर पर अन्य अतिथियों मे प्रवीणचंद मालू, संजय मालू, पं. सतीश जैन, महेश जैन, यशोधर दिवाकर, अतुल मालू, सुनील नाहर, सुबोध बाझल, कमल बाझल, अशोक बाझल, शालू जैन, लालू जैन, नीलम बाझल, सुमन जैन, प्रीति कौशल, अंजली जैन,पारूल जैन विशेष रूप से उपस्थित थे। इसके अतिरिक्त समाज के अनेक गणमान्य जन व विभागीय अधिकारी, कर्मचारीगण उपस्थित थे।

सांसद की हुई उपेक्षा!

वहीं, इस कार्यक्रम के दौरान यह चर्चा भी जमकर चलती रही कि केंद्र सरकार के कार्यक्रमों में बालाघाट के सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन की उपेक्षा का क्या कारण है। आखिर क्या वजह है कि केंद्र सरकार के अधिकारियों कर्मचारियों के द्वारा बालाघाट संसदीय क्षेत्र में केंद्र सरकार के कार्यक्रमों में बालाघाट के सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन को आमंत्रित नहीं किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :
मायल ने की बालाघाट सांसद डॉ. बिसेन की उपेक्षा!
बालाघाट जिले के अनेक उद्घाटन के कार्ड में बालाघाट सांसद का नाम ही गायब!

देखा जाए तो केंद्र सरकार के अधीन काम करने वाले भारतीय डाक विभाग के द्वारा महाकवि जगतगुरू संतशिरोमणि दिगम्बराचार्य विद्यासागर महाराज के संस्कृति शासनाचार्य स्वर्ण जयंति महोत्सव पर विशेष आवरण एवं विरूपण मुहर अनावरण कार्यक्रम जो केंद्र सरकार के अधीन प्रधान डाकघर सिवनी में आयोजित हुआ था और इसके आयोजक अधीक्षक डाकघर, बालाघाट संभाग, बालाघाट थे, को इस कार्यक्रम में बालाघाट के चुने हुए सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन को आमंत्रित कर उनसे या तो विमोचन करवाना था या उनसे कार्यक्रम की अध्यक्षता करवाना चाहिए था, किन्तु इन दोनों ही बातों को छोड़िए उन्हें कार्यक्रम में संभवतः आमंत्रित भी नहीं किया गया, जिसकी चर्चाएं जमकर चल रही हैं।


इसके पहले मेग्नीज ओर इंडिया लिमिटेड (मायल) के द्वारा तिरोडी एवं कान्डरी के चिखला माईन्स के दूसरे वर्टीकल शाफ्ट के उद्घाटन एवं इस कार्यक्रम में तिरोड़ी माईन के प्रशासकीय भवन एवं बालाघाट माईन के जीटी अस्पताल का उद्घाटन के अवसर पर बालाघाट के सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन का नाम आमंत्रण पत्र पर प्रकाशित नहीं किया गया था, इस कार्यक्रम के चित्रों में भी बालाघाट सांसद का न तो कहीं उल्लेख दिखा और संभवतः वे कार्यक्रम में शामिल भी नहीं हुए थे!