संस्कृत को बढ़ावा देने की अनूठी पहल . . .

लुंगी में विकेटकीपर, धोती में बल्लेबाज, संस्कृत में हो रही कमेंट्री
(नंद किशोर)
भोपाल (साई)। महर्षि महेश योगी की जयंती पर प्रदेश की राजनैतिक राजधानी भोपाल में वैदिक पंडितों के लिए क्रिकेट स्पर्धा का आयोजन किया जाता है। इस स्पर्धा में पंडित पारंपरिक ड्रेस में होते हैं। धोती और कुर्ता में पंडित मैदान में चौका और छक्का लगाते नजर आए।
पारंपरिक धोती कुर्ता पहने दोनों बल्लेबाज तेजी से रन भागने की कोशिश में और नेपथ्य में धाराप्रवाह संस्कृत में कामेंट्री का आनंद अपने आप में अनूठा ही माना जाएगा। कुछ इसी तरह का नजारा भोपाल में वैदिक पंडितों के लिए होने वाले क्रिकेट स्पर्धा में देखने को मिला। महर्षि महेश योगी की जयंती पर यहां अंकुर ग्राउंड पर वैदिक पंडितों के लिए अनूठे क्रिकेट स्पर्धा का आयोजन किया गया है।
संस्कृति बचाओ मंच के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने बताया कि इस स्पर्धा में वे खिलाड़ी भाग लेंगे जो वेदों के अनुसार अनुष्ठान कराते हैं। उन्होंने बताया कि यह स्पर्धा का दूसरा साल है और सारे प्रतियोगी वैदिक पंडित हैं जो पारंपरिक धोती कुर्ता पहनते हैं। वे एक दूसरे से संस्कृत में बात करते हैं और मैच की कमेंट्री भी संस्कृत में होती है। उन्होंने कहा कि चार दिवसीय टूर्नामेंट के आयोजन का उद्देश्य संस्कृत भाषा को बढावा देना और वैदिक परिवार में खेल भावना बढाना है। विजेता टीमों को नकद पुरस्कार के साथ खिलाड़ियों को वैदिक पुस्तकें और सौ साल का पंचांग दिया जाएगा।
गौरतलब है कि भोपाल में हर वैदिक क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जाता है। इसे लोग लुंगी और धोती क्रिकेट भी कहते हैं। खिलाड़ियों का ड्रेस ऐसा ही होता है। खिलाड़ी लुंगी और धोती पहनकर ही मैदान में खेलते हैं। इस बार कोविड की संभावित तीसरी लहर के चलते संभवतः मैदान में दर्शकों की भीड़ उतनी ज्यादा नहीं है।