विधायक राकेश पाल ने दिलाई नैनपुर सिवनी छिंदवाड़ा रेलगाड़ी की सौगात

18 जून को पत्र लिखा, 22 जून को रेलवे बोर्ड के सदस्य व जीएम, एसईसीआर से चर्चा कर वजनदारी से रखा सिवनी जिले का पक्ष
(ब्यूरो कार्यालय)


नई दिल्ली (साई)। सिवनी शहर में भी ब्राडगेज की सीटी की आवाज जल्द ही सुनाई देने वाली है। यह संभव हुआ है सिवनी जिले के केवलारी के युवा तुर्क विधायक राकेश पाल सिंह की वजह से। उनके द्वारा 18 जून को रेल चलाने के लिए पत्र लिखा एवं उसके बाद 22 जून को उनके द्वारा रेलवे बोर्ड के सदस्य के साथ ही साथ दक्षिण, पूर्व, मध्य रेलवे के महाप्रबंधक से चर्चा कर सिवनी जिले का पक्ष वजनदारी से रखा था।
रेलवे बोर्ड के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह के द्वारा 18 जून को मण्डला जिले के नैनपुर से केवलारी, भोमा, सिवनी, चौरई होते हुए छिंदवाड़ा तक रेलगाड़ी चलाने का आग्रह किया था। उनके द्वारा इस पत्र के उपरांत 22 जून को जीएम बिलासपुर से चर्चा भी की थी।
सूत्रों ने बताया कि केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह के ईमेल से प्राप्त पत्र पर प्रस्ताव बनाकर जीएम रेलवे, बिलासपुर के द्वारा इसे रेलवे बोर्ड को भेजा गया था। इसके बाद इस प्रस्ताव को एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर टाईम टेबिल (ईडीटीटी) अर्थात समय चक्र बनाने वाले कार्यकारी निदेशक के पास भेजा गया था।
सूत्रों ने बताया कि ईडीटीटी के द्वारा प्रस्ताव पर हरी झंडी दिए जाने के बाद नैनपुर से छिंदवाड़ा के बीच दो और छिंदवाड़ा से नैनपुर के बीच दो रेलगाड़ियां चलाए जाने के आदेश रेलवे बोर्ड के उप संचालक कोचिंग राजेश कुमार के द्वारा जारी कर दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें
पटरी के दोनों ओर होंगे रेल्वे स्टेशन भवन, वर्तमान में बने भवन की गुणवत्ता पर जताई सीएओ ने नाराजगी!

ये टाईमिंग हुईं स्वीकृत

सूत्रों ने यह भी बताया कि एक रेलगाड़ी सुबह 06 बजकर 45 मिनिट पर छिंदवाड़ा से चौरई, सिवनी, केवलारी होकर 11ः15 पर नैनपुर पहुंचेगी एवं दूसरी रेलगाड़ी शाम 06 बजे छिंदवाड़ा से रवाना होकर साढ़े दस बजे नैनपुर पहुंचेगी। इसके साथ ही नैनपुर से एक रेलगाड़ी सुबह 06 बजकर 45 मिनिट पर चलकर केवलारी, सिवनी, चौरई के रास्ते अपरान्ह 11 बजकर 15 मिनिट पर छिंदवाड़ा पहुंचेगी एवं दूसरी रेलगाड़ी शाम 06 बजे नैनपुर से रवाना होकर रात साढ़े 10 बजे छिंदवाड़ा पहुंचेगी। ये रेलगाड़ियां रास्ते में पड़ने वाले सभी रेलवे स्टेशन्स पर रूकेगी।
सूत्रों ने बताया कि इसके बाद अब मिनिट टू मिनिट का टाईम टेबल ईडीटीटी कार्यालय के द्वारा जारी किया जाएगा। उसके बाद रेलगाड़ी चलाए जाने की तिथि की घोषणा की जाएगी। इस रेलगाड़ी को हरी झंडी कौन दिखाएगा यह बात अभी तय नहीं हो पाई है।

विधायक राकेश पाल को श्रेय क्योंकि . . .

नैनपुर से छिंदवाड़ा के बीच रेलगाड़ी चलने का श्रेय केवलारी के विधायक राकेश पाल सिंह को ही जाता है क्योंकि विधायक राकेश पाल सिंह के द्वारा 18 जून 2022 को लिखे पत्र में नैनपुर से केवलारी, सिवनी, चौरई के रास्ते छिंदवाड़ा के लिए रेलगाड़ी चलाए जाने की मांग की थी। उनके अलावा किसी ने भी इन दो प्वाईंट्स के बीच रेलगाड़ी चलाए जाने की मांग नहीं की थी। रेलवे बोर्ड के पत्र से स्पष्ट है कि जिन दो प्वाईंट अर्थात नैनपुर और छिंदवाड़ा के बीच रेलगाड़ी चलाए जाने की मांग राकेश पाल सिंह के द्वारा की गई थी, उन्हीं प्वाईंट्स के बीच रेलगाड़ी के परिचालन के लिए टाईमिंग रेलवे बोर्ड ने तय किया है।

नए स्टेशन की सौगात दी थी सीएओ आर.एन. सुनकर ने

यहां यह भी उल्लेखनीय होगा कि सिवनी में रेलवे स्टेशन जिस दिशा में बना है उस दिशा में आबादी नहीं होने के कारण यह अनुपयोगी ही साबित हो रहा था। रेलवे के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि एसईसीआर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आर.एन. सुनकर जब सिवनी भ्रमण पर आए तब उन्होंने इस बात को देखा और एक नया रेलवे स्टेशन मठ मंदिर की ओर बनाने के निर्देश दिए।

अब हो रही श्रेय देने की तैयारी!

सूत्रों ने यह भी बताया कि सिवनी में काम करा रहे तकनीकि विभाग के अधिकारियों के द्वारा अब सीएओ के द्वारा नए रेलवे भवन को स्वीकृति प्रदाय कर दी गई थी, और यह खबर समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा 08 जुलाई 2021 को ‘नया बनेगा रेल्वे स्टेशन का सर्वसुविधायुक्त भवन!‘ शीर्षक से खबर का प्रसारण भी किया गया था। इसके बाद नए भवन के लिए भी किसी के द्वारा पत्र लिखे जाने की बात सामने आई थी और उस पत्र के आधार पर ही अब सिवनी में काम करा रहे तकनीकि अमले के द्वारा उसका श्रेय उन्हें देने का प्रयास भी किया जा रहा है।

डीजल इंजन से चलेगी रेल, यहां होगा रेलगाड़ी व इंजन का रखरखाव!

सूत्रों ने बताया कि शुरूआती दौर में रेलगाड़ी को डीजल इंजन से चलाया जाएगा क्योंकि भोमा से सिवनी होकर कराबोह (बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले का हिस्सा) तक के हिस्से में इलेक्ट्रीफिकेशन का काम पूरा नहीं हुआ है इसलिए इसे डीजल इंजन से चलाया जाएगा और शुरूआती दौर में इसके रेक और इंजन का रखरखाव आरबीपीसी इतवारी (नागपुर) में किया जाएगा।

07 साल तक लगा रहा मेगाब्लाक

01 दिसंबर 2015 को सिवनी में रेलवे का मेगा ब्लाक लगाया गया था। यह मेगा ब्लाक 02 साल के लिए लगाया गया था, पर 12 मार्च 2022 को पूरे ट्रेक का जब सीआरएस पूरा हुआ तब इसे हटा दिया गया था।