एसडीओ ने रुकवाया गुणवत्ताहीन कार्य

 

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। घंसौर विकास खण्ड के सरोरा में बिना वायब्रेटर चल रहे नहर के वाटर पैसेज निर्माण कार्य को जल संसाधन विभाग के सहायक यंत्री ने बंद करवा दिया है।

वाटर पैसेज की पुलिया निर्माण में बगैर कांक्रीटीकरण के सीमेंट के पाईप बिछाये जाने की शिकायतंे की जा रहीं थीं, वहीं निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार कंपनी द्वारा वायब्रेटर और दूसरे उपकरण का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा था। तय मापदण्डांे के विपरीत पुलिया में चल रहे कांक्रीटीकरण का मुद्दा जमकर उठा था।

इस मामले में सिंचाई विभाग के सहायक यंत्री सुदेश उईके ने स्थल निरीक्षण कर कम गहरायी पर नहर के लिये बनाये जा रहे वाटर पैसेज को तोडकर फिर से बनाने के निर्देश दिये हैं। एसडीओ ने बताया कि हार्ड रॉक होने के कारण वाटर पैसेज की पुलिया खुदाई में दिक्कतें आ रही हैं। निर्माण एजेंसी द्वारा कांक्रीट का बेस किये बिना सीमेंट के पाईप लगा दिये गये थे जिन्हें फिर से तय मापदण्ड के मुताबिक बेस कर लगाने के निर्देश दिये गये हैं। इस मामले में संबंधित उपयंत्री राजेन्द्र पटेल को सुधार कार्य कराने के लिये कहा गया है।

गौरतलब है कि 355 हेक्टेयर जमीन को सिंचित करने सरोरा में तीन गाँव के लगभग ढाई सौ किसानों के लिये पाँच करोड़ की लागत से बाँध और नहर का निर्माण किया जा रहा है। 330 मीटर लंबी और 05 किलोमीटर लंबी नहरों का निर्माण होना है। पहले चरण में ही नहर निर्माण में गड़बड़ी सामने आने के बाद सहायक यंत्री ने ठेकेदार कंपनी को सुधार करने के सख्त निर्देश दिये हैं।