सच को स्वीकार नहीं कर पा रही भाजपा : राजिक

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिला काँग्रेस प्रवक्ता राजिक अकील ने जारी विज्ञप्ति में बताया है कि झूठ और केवल झूठ पर राजनीति करने वाली भाजपा सच को स्वीकार नहीं कर पा रही है। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने 04 माह के अल्प समय में जिस तरह अपने दिये गये वचनों को पूरा किया है, उससे पूरी भारतीय जनता पार्टी सदमें मे है, लोगों से झूठ बोलकर दुष्प्रचार करने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि सिवनी जिले में 47 हजार किसानों का कर्जा माफ हुआ है, भावांतर की राशि किसानों के खाते में डाली जा रही है, गेहूँ का भुगतान किसानों को मिलना आरंभ हो गया है, सामाजिक न्याय पेंशन दोगुनी कर दी गयी है, बिजली के बिल हाफ कर दिये गये हैं।

राजिक अकील ने कहा कि संबल योजना के अंतर्गत सिवनी नगर पालिका अंतर्गत 44 हितग्राहियों की अंतिम संस्कार एवं बीमें की राशि लगभग 88 लाख रूपय कमल नाथ सरकार ने सिवनी नगर पालिका के खाते में 18 फरवरी 2019 को जमा कर दिये हैं, किन्तु भाजपा शासित नगर पालिका हितग्राहियों के खाते में राशि नहीं डाली जा रही है, कन्या विवाह योजना में सिवनी जिले में 2660 कन्याओं के विवाह संपन्न हुए, उन्हें भी 51 हजार रूपये की राशि दी जायेगी।

उन्होंने कहा कि भीमगढ़ जलावर्धन योजना, इस योजना के लिये तत्कालीन केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री कमल नाथ ने 48 करोड़ की राशि स्वीकृत की थी, योजना का कार्य 05 वर्षों से मंद गति से चल रहा था। कमल नाथ के मुख्यमंत्री एवं सुखदेव पांसे के लोक स्वाथ्य मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री बनने के बाद 04 माह के अंदर नवीन जलावर्धन योजना के कार्य में तेजी आयी है जिससे पानी की सप्लाई अनेक वार्डों में होने लगी है, काँग्रेस पार्टी ने जो कहा वह किया है।

राजिक अकील ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग यह बतायंे कि 15 वर्षों के शासन काल में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिवनी के लिये अनेकांे लोक लुभावन घोषणाएं कीं किन्तु वे आज तक घोषणाएं ही हैं, अमली जामा नहीं पहन सकी हैं।

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा जो भी घोषणाएं की गयी, एक योजना का भी जमीन स्तर पर अमल नही किया गया। पाँच साल सिर्फ बातों एवं वायदों में ही निकाल दिये, आज प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ द्वारा किसानों, मजदूरों और गरीबांे के लिये यदि वे सही में काम कर रहे हैं, तो इस सच्चाई को भारतीय जनता पार्टी के लोगों को स्वीकार करना चाहिये।

उन्होंने कहा कि काँग्रेस पार्टी द्वारा गरीब परिवारों के लिये न्यूनतम गारंटी योजना प्रति माह 06 हजार रूपये देने की बात कही जा रही है तो उद्योग पतियों एवं पूंजीपतियों को मदद करने वाली भारतीय जनता पार्टी द्वारा गरीबों की इस योजना का मजाक उड़ाया जा रहा है कि इस योजना के लिये पैसा कहाँ से आयेगा।

उन्होंने कहा कि उस समय देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से क्यांे सवाल नहीं किया गया कि उद्योग पतियों के साढ़े तीन लाख करोड़ रूपय माफ करने के लिये, विदेश यात्रा करने के लिये, विज्ञापनों में खर्च करने के लिये रूपया कहाँ से आयेगा! जिस तरह नोट बंदी और जीएसटी से देश के लोगों को परेशान किया गया है, संपन्न हो रहे इस चुनाव में देश की जनता भारतीय जनता पार्टी को बाहर का रास्ता दिखायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *