विवादित ढांचे के बयान पर प्रज्ञा के जवाब से चुनाव आयोग संतुष्ट नहीं, FIR दर्ज

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। विवादित बयान पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें आचार संहिता के उल्लंघन का नोटिस देकर जवाब मांगा था।

प्रज्ञा ने सोमवार को अपना जवाब पेश किया। जवाब से असंतुष्ट कलेक्टर ने साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। बोलीं, मेरा बयान अंतरआत्मा की आवाज है। साध्वी प्रज्ञा ने अपने जवाब में निर्वाचन आयोग की मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति (एमसीएमसी) के संज्ञान लेने के अधिकार पर ही सवाल खड़े कर दिए है।

प्रज्ञा ने अपने जवाब में कहा है कि जब मैंने नामांकन दाखिल ही नहीं किया तो मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति मेरे बयानांे के संबंध में संज्ञान लेने के लिए अधिकृत नहीं है।

मैंने जो भी कहा, वह मेरी अंतरआत्मा की आवाज को व्यक्त करता है। इसलिए यह नोटिस इसी स्तर पर समाप्त किया जाए। इस जवाब से असंतुष्ट जिला निर्वाचन अधिकारी ने टीटी नगर थाने में आचार संहिता का उल्लंघन करने पर प्रज्ञा पर एफआईआर दर्ज करा दी है।

केंद्रीय चुनाव आयोग करेगा फैसला

साध्वी प्रज्ञा के इस बयान पर क्या कार्रवाई करना है, इसका फैसला केंद्रीय चुनाव आयोग करेगा। भोपाल कलेक्टर डॉ. सुदाम खाडे के मुताबिक जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा की गई कार्रवाई की रिपोर्ट भारत निर्वाचन आयोग को भेज दी गई है। अब आगे की कार्रवाई भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर की जाएगी।

वहीं शहीद हेमंत करकरे पर साध्वी के बयान की पूरी रिपोर्ट भी जिला निर्वाचन कार्यालय ने मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को भेज दी है। गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा भारती ने एक इंटरव्यू में कहा था कि अयोध्या के विवादित ढांचे को मैंने तोड़ा था और इसका मुझे भयंकर गर्व है, मैंने देश का कलंक मिटाया है।

एफआईआर दर्ज होने पर साध्वी प्रज्ञा भारती ने कहा कि यह सब चलता रहा है। हमारी लीगल टीम इस कानूनी प्रक्रिया पर नजर रखे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *