भाजपा के संकल्प पत्र पर काँग्रेस ने लगाये सवालिया निशान

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। भाजपा के संकल्प पत्र पर काँग्रेस के द्वारा सवालिया निशान लगाये गये हैं। काँग्रेस प्रवक्ता राजिक अकील द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार बालाघाट संसदीय क्षेत्र के लिये भाजपा का संकल्प पत्र एक ही कक्षा में कई बार फेल हुआ विद्यार्थी वही विषय फिर से पढ़ रहा है की तरह ही प्रतीत हो रहा है।

विज्ञप्ति के अनुसार ऐसा प्रतीत हो रहा है कि भाजपा के संकल्प पत्र में सिवनी के लिये जो बाते कही गयी हैं, वह बातंे लगभग 20 वर्षों से भारतीय जनता पार्टी दोहरा रही है। रामटेक गोटेगाँव बड़ी रेल लाईन, कटंगी से सिवनी ब्रॉडगेज़ का सर्वे, छिन्दवाड़ा नैनपुर ब्रॉडगेज़, जिला चिकित्सालय में ट्रामा केयर यूनिट, सिवनी में मेडिकल कॉलेज़ का कार्य, सिवनी में नवोदय ओर सेन्ट्रल स्कूल, पासपोर्ट कार्यालय, रेडियो स्टेशन आदि विषय इसके पहले भी भाजपा के संकल्प पत्र में रहे हैं।

विज्ञप्ति के अनुसार भाजपा के संकल्प पत्र में जिले के बेरोजगारों के लिये, शिक्षा के लिये, दलित आदिवासी, पिछड़ा वर्ग के लिये कोई जगह नहीं है। इन 20 सालों से सिवनी में भारतीय जनता पार्टी के सांसद, 15 वर्षों से प्रदेश में भाजपा की सरकार, केन्द्र में 10 वर्ष से भाजपा की सरकार रही। यह कार्य संकल्प पत्र में जो बार – बार दोहराते हैं ऐसा कोई कारण नहीं था कि अब तक ये योजना पूरी न हो सके।

राजिक अकील ने आगे कहा कि कमी थी यहाँ से चुने हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधियों की कि यहाँ से चुनाव जीतने के बाद लोकसभा, विधान सभा में पूरी दमदारी के साथ यहाँ के विकास कार्यों की बात वह रख पाते, योजनाओं के लिये राशि स्वीकृत करा पाते। यह सब कार्य वर्षों पहले सिवनी में हो जाने थे किन्तु आज तक यह काम सिर्फ भाजपा के संकल्प पत्र में ही दिखायी देते हैं, जमीनी स्तर पर दिखायी नहीं देता।

विज्ञप्ति के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी लंबे समय से इस क्षेत्र के विधायक रहे हैं त्रिविभागीय मंत्री रहे हैं प्रदेश में सरकार रहते हुए कद्धावर नेता रहे हैं। यही कारण रहा है कि चुनाव हारने के बाद भी दोबारा केवलारी विधान सभा का प्रत्याशी बनाया, केवलारी की जनता ने इन्हंे 02 बार इस लिये नकारा कि इन्होंने प्रमुख पदों में रहते हुए, सिवनी के लिये कोई विकास कार्य नहीं किया, कोई बड़ी योजना लाने का प्रयास नहीं किया।

राजिक अकील ने आगे कहा कि यदि ऐसे निष्क्रिय व्यक्ति को सिवनी के मतदाता फिर से चुनते हैं तो आने वाले पाँच वर्षों में भी सिवनी की स्थिती जस की तस रहेगी और भाजपा का यही संकल्प पत्र आने वाले पाँच साल बाद के चुनाव में भी दिखायी देगा। यदि सिवनी के रूके हुए काम तेजी से पूर्ण कराने हैं, नयी योजनाओं की सौगात सिवनी को दिलानी है सिवनी की जनता को इस बार बदलाव लाना ही पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री कमल नाथ हैं। यदि काँग्रेस प्रत्याशी मधु भगत को विजयी बनाते हैं तो निश्चित रूप से आने वाले पाँच वर्षों में सिवनी में जो विकास का परिवर्तन दिखायी देगा वह परिवर्तन पिछले 20 वर्षों से अवरूद्ध विकास के अंधकार को भुला देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *