दिग्विजय सिंह के भाषण के दौरान बिजली गुल

 

 

 

 

मंच से फोन लगाकर अधिकारी से कहा- मैं पब्लिक का आदमी हूं, बदनाम कर रहे हो

(बयूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। दिग्विजय की चुनावी सभा में उनके भाषण के दौरान ही बिजली गुल हो गई। इस पर गुस्साए दिग्विजय ने मंच से बिजली विभाग के अधिकारी को फोन लगाकर कहा, चौहान साहब नमस्कार। अब आपका फोन हमारे माइक पर है।

उन्‍होंने कहा कि जहां भी मैं जा रहा हूं वहां बिजली कट हो रही है। क्या यह शिड्यूल कट है क्या? अधिकारी बोला, मैं पता लगाता हूं सर इंवेस्टिगेशन भी करूंगा। दिग्विजय बोले, इंवेस्टिगेशन तो ठीक है, लेकिन आपके नीचे के अधिकारी जो गड़बड़ कर रहे हैं उन पर क्या नियंत्रण कर रहे हैं आप? नहीं सर कट नहीं है। यहां आपके एई साहब भी परेशान हो रहे हैं आप कह रहे हैं कट नहीं है। कैसे बंद हुई मुझे यह बताइए। इतने में बिजली आ जाती है। हमने आपको फोन लगाया तो लाइट आ गई? किसानों को हर वक्त क्या ईई साब को फोन करना पड़ेगा क्या? मैं पब्लिक का आदमी हूं, आप लोग क्यों बदनामी कर रहे हैं? मैं शिकायत कर रहा हूं आपकी बाकि आप जाने आपका काम जाने।

दरअसल, सोमवार को दिग्विजय सिंह की सभा के दौरान हुजूर विधानसभा के गांव दीपड़ी स्थित तीरथ यूनिवर्सिटी में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। तब अचानक बिजली गुल हो गई। ग्रामीणों ने भी बिजली अधिकारियों की शिकायत और मनमानी बताना शुरू कर दिया। तब दिग्विजय सिंह ने कहा कि अब सभा नहीं बल्कि इसी मामले पर आप सभी के सामने बात होगी। बातचीत के दौरान करीब 1 मिनट के अंदर ही बिजली सप्लाई शुरू हो गई।

मैं एक-एक देख लूंगा

इस वाक्या के बाद दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह सब भाजपा की ही चाल है। भाजपा ने आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को नियुक्त किया है। पहले बिजली काटते है फिर एसएमएस करते हैं कांग्रेस आई और बिजली गई। मैं एक-एक को देख लूंगा।