कलेक्टर बचा रहे मंत्री को

 

 

 

 

भाजपा का आरोप

(ब्यूरो कार्यालय)

इंदौर (साई)। भाजपा ने भारत निर्वाचन आयोग को कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी लोकेश कुमार जाटव की शिकायत की है।

इसमें आरोप लगाया है कि लोकसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के बावजूद प्रदेश की कांग्रेस सरकार के मंत्री जीतू पटवारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है, जबकि भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक दिन बाद ही नोटिस जारी कर दिया गया था। भाजपा की इस शिकायत को बेमानी साबित करते हुए कलेक्टर ने शनिवार को मंत्री पटवारी को भी नोटिस जारी कर जवाब मांग लिया।

भाजपा के नगर महामंत्री मुकेश सिंह राजावत और एडवोकेट पंकज वाधवानी ने आयोग को शिकायत की है कि मंत्री पटवारी ने कांग्रेस उम्मीदवार पंकज संघवी के पक्ष में बैठक की। इसमें मतदाताओं को 25 लाख रुपए की मदद का वादा किया गया। भाजपा नगर इकाई ने वीडियो क्लिप के साथ तीन मई को जिला निर्वाचन अधिकारी को शिकायत की थी। शिकायत के आवेदन पर कोई कार्रवाई न करते हुए उन्होंने प्रतिक्रिया दी कि वीडियो में मंत्री पटवारी मालवी में बोल रहे हैं। इसलिए समझने में दिक्कत आ रही है, इसका अनुवाद कराया जा रहा है। भाजपा की शिकायत है कि जिला निर्वाचन अधिकारी मंत्री को बचा रहे हैं। इससे आशंका है कि चुनाव निष्पक्ष रूप से नहीं हो पाएगा। कलेक्टर ने बताया कि भाजपा द्वारा की गई शिकायत के बारे में उन्हें पता नहीं है। जहां तक मंत्री पटवारी के आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत है तो उन्हें नोटिस जारी किया जा चुका है।

कहीं यह दबाव की राजनीति तो नहीं?

भाजपा और कांग्रेस के बीच का द्वंद्व दबाव की राजनीतिक के रूप में जिला प्रशासन की ओर भी मुड़ चुका है। भाजपा कार्यालय के पास वक्फ बोर्ड की जमीन पर बिना अनुमति चुनाव कार्यालय बनाने के मामले में शनिवार को जब प्रशासन की टीम वहां पहुंची तो दूसरी तरफ कलेक्टर को घेरने की रणनीति भी शुरू हो गई। केंद्रीय चुनाव आयोग को की गई शिकायत को इसी रणनीति का हिस्सा बताया जा रहा है। राजावत ने बताया कि भाजपा कार्यालय पर कार्रवाई के लिए प्रशासन की टीम तो शनिवार को दोपहर में पहुंची थी, लेकिन हम तो शनिवार सुबह ही आयोग को शिकायत कर चुके थे। उधर, कलेक्टर ने इस मामले में केवल इतना कहा कि जिला प्रशासन अपना काम निष्पक्षता से कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *