पैसे और खाने का लालच देकर गरीब बच्चियों को . . .

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

मेरठ (साई)। यूपी के मेरठ शहर में बच्चियों के साथ यौन शोषण के मामले में अरेस्‍ट रिटायर बीमा अधिकारी विमल चंद की करतूतें धीरे-धीरे सामने आने लगी हैं।

जांच में पता चला है कि वह गरीब घरों की लड़कियों को घरेलू सहायक के रूप में घर में नौकरी पर रखता था और बाद उनको पैसे, खाने और अच्‍छे कपड़े का लालच देकर उनके साथ यौन शोषण करता था। उसने घर में 13 सीसीटीवी लगाए थे ताकि घर के हर कोने पर नजर रखी जा सके। वह इन लड़कियों को विडियो वायरल करने की धमकी भी देता था।

मेरठ के एसएसपी नितिन तिवारी ने कहा, ‘वह घरेलू नौकर के रूप में इन लड़कियों को नौकरी देता था। बाद में वह उन्‍हें खाना, कपड़े और पैसे देता था।पुलिस ने बताया कि ये ज्‍यादातर लड़कियां गरीब घरों से होती थीं और उसके झांसे में फंस जाती थीं। मेरठ के जागृति विहार में स्थित इस घर को पहले लोग इसलिए जानते थे कि यहां पर गरीब बच्‍चों का मुफ्त इलाज किया जाता है।

मोबाइल और लैपटॉप में दिखाता था पॉर्न विडियो

बताया जा रहा है कि गरीब लड़कियों को लाने में विमल चंद की नौकरानी उसकी मदद करती थी। इन बच्चियों को लाए जाने के बाद विमल चंद उन्‍हें मोबाइल और लैपटॉप में पॉर्न विडियो दिखाता था। इसके बाद वह उनके साथ दुष्कर्म करता था। जब बच्चियां इसका विरोध करतीं तो उन्‍हें पैसे या विडियो सार्वजनिक करने की धमकी देकर उनका मुंह बंद करा देता था। पुलिस कुछ बच्चियों के मेडिकल कराए हैं और उनके साथ दुष्‍कर्म की पुष्टि हुई है।

विमल चंद जिस डेयरी से सामान खरीदता था, उसके मालिक सोमा पाल कहते हैं, ‘कुछ साल पहले पत्‍नी की मौत के बाद वह स्‍थानीय मंदिर में जाने लगा और गरीब बच्चियों को खाना खिलाना शुरू कर दिया। वह उन्‍हें कपड़े और पैसे भी देता था। मुफ्त में सामान और पैसे पाकर ये बच्‍चे उसके घर के सामने लाइन लगाकर खड़े होने लगे। विमल चंद उन्‍हें पैसे और कपड़े देने लगा।

इस घटना के सामने आने के बाद स्‍थानीय लोग सदमे हैं और उनका विश्‍वास उठ गया है। एक स्‍थानीय नागरिक ने कहा, ‘ज्‍यादातर लोग यह समझ नहीं पा रहे हैं कि इस तरह की खौफनाक चीजें हमारे आसपास चल रही हैं। इसका हमें पता भी नहीं है। हम समझते थे कि ये लड़कियां मेड हैं, लेकिन पता नहीं था कि इस तरह की चीजें घर में चल रही हैं।

विमल चंद इतना चालाक था कि उसने अपने घर के अंदर और बाहर 13 सीसीटीवी कैमरे लगवाए थे। इसमें बेडरूम, लिविंग रूम और यहां तक बाथरूम में भी सीसीटीवी लगे थे। सीसीटीवी लगाने वाली एक कंपनी के मालिक कहते हैं, ‘बेडरूम समेत पूरे घर में कोई अगर 13 सीसीटीवी कैमरा लगवाता है तो यह सामान्‍य बात नहीं है। यह अक्‍सर घर के अंदर रह रहे लोगों पर नजर रखने के लिए किया जाता है।

बता दें कि मूलरूप से उन्नाव का रहने वाला आरोपी विमल चंद करील 2016 में हापुड़ से सहायक प्रशासनिक अधिकारी के पद से रिटायर हुआ था। वह मेडिकल थाने के जागृति विहार में रहता है। उसकी पत्नी भी अधिकारी की पोस्ट से रिटायर्ड हुई थीं लेकिन उसी साल उनकी मौत हो गई थी। विमल की बेटी की शादी हो चुकी है और वह विदेश में रहती है। पुलिस की अभी तक की जांच से पता चला है कि तीन बच्चियां और तीन युवतियां दुष्कर्म का शिकार बन चुकी थीं। पुलिस का मानना है कि यह संख्या ज्यादा भी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *