हाल ही में सुधरे प्राईवेट वार्ड की होगी मरम्मत!

 

 

कलेक्टर ने दिये निर्देश

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। प्रियदर्शनी जिला अस्पताल में मरम्मत का काम रूकने का नाम नहीं ले रहा है। अभी हाल ही में सुधरवाये गये प्राईवेट वार्ड्स की मरम्मत कराये जाने के निर्देश जिला कलेक्टर के द्वारा दिये गये हैं।

अस्पताल के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जिला अस्पताल के प्राईवेट वार्ड्स का नवीनीकरण हाल ही में कराया गया था। इसके चलते प्राईवेट वार्ड्स का इस्तेमाल लगभग छः माह तक के लिये बंद कर दिया गया था।

सूत्रों का कहना है कि अस्पताल में कब क्या कराया गया था इस बात की जानकारी अगर जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह के द्वारा पहले ले ली जाती तो उनके द्वारा अस्पताल के प्राईवेट वार्ड की मरम्मत के आदेश देने के पहले जिन अफसरान के द्वारा इसकी मरम्मत पहले करवायी गयी थी, उनसे वसूली की कार्यवाही की जाती।

सूत्रों ने बताया कि जिस तरह तत्कालीन जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड को उस समय के अस्पताल के प्रभारियों के द्वारा गुमराह किया जाकर अस्पताल में लाखों रूपयों की लागत से सीसीटीवी कैमरे लगवाये जाने की सहमति प्राप्त की गयी थी और बाद में जिला कलेक्टर को पता चला था कि अस्पताल में उनके आदेश दिये जाने के लगभग छः माह पूर्व ही सीसीटीवी कैमरे लगवाये गये थे, तो उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ था। तत्कालीन जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड के द्वारा समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से इस बात को साझा भी किया गया था।

सूत्रों का कहना है कि जिला कलेक्टर को चाहिये कि उनके द्वारा सबसे पहले जिला अस्पताल के किस – किस वार्ड में कब – कब और क्या – क्या सुधार कार्य हुए एवं इनमें कितनी राशि खर्च की गयी, इस बात की जानकारी ली जाना चाहिये। सूत्रों की मानें तो इसके लिये सबसे बेहतर तरीका यही होगा कि जिला कलेक्टर के द्वारा किसी उप जिलाधिकारी को अस्पताल का प्रभारी और नियंत्रण कर्त्ता अधिकारी नियुक्त कर दिया जाये, इससे रोज – रोज अस्पताल जाकर उनकी व्यस्त दिनचर्या में से जो समय जाया हो रहा है वह बचेगा और पखवाड़े में एक बार वे अस्पताल का निरीक्षण कर, अद्यतन स्थिति की जानकारी भी ले पायेंगे।