टिल्लू पंप लगाने वालों से कटिया ग्रामवासी परेशान

 

 

(आगा खान)

कान्हीवाड़ा (साई)। गर्मी के इन दिनों में जहाँ अधिकांश क्षेत्र जल संकट से जूझ रहे हैं वहीं सिवनी के कटिया ग्राम के लोग पेयजल की उपलब्धता के बावजूद, कुछ स्वार्थी लोगों की मनमर्जी के चलते कृत्रिम जलसंकट से जूझने के लिये मजबूर किये जा रहे हैं।

ग्राम पंचायत कटिया के द्वारा नल-जल योजना के माध्यम से पेयजल की आपूर्ति इस ग्राम क्षेत्र में की जाती है। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत के द्वारा जब पेयजल आपूर्ति की जाती है उस दौरान कुछ ग्रामीणों के द्वारा टिल्लू पंप लगाकर अपने – अपने घरों में पानी भरना आरंभ कर दिया जाता है।

ग्रामीणों ने बताया कि टिल्लू पंप लगाने के कारण शेष नलों में पानी आना लगभग बंद ही हो जाता है। इस संबंध में ग्राम पंचायत की ओर से पहल करते हुए पूरे ग्राम क्षेत्र में मुनादी भी करवायी जा चुकी है लेकिन समस्या का हल नहीं निकल पा रहा है। इसके साथ ही ग्रामीणों ने यह भी बताया कि स्थानीय जन प्रतिनिधि जब टिल्लू पंप लगाने वालों को, ऐसा न करने के लिये मौके पर जाकर उन्हें समझाईश देने का प्रयास करते हैं तो वे उन जन प्रतिनिधियों से ही बहस करते हुए मारपीट पर तक उतारू हो जाते हैं।

कटिया ग्राम वासियों ने बताया कि गाँव में ऐसे चंद लोग ही हैं जो टिल्लू पंप लगाकर नल-जल योजना के सुचारू रूप से काम करने को प्रभावित कर रहे हैं लेकिन उन चंद  लोगों के कारण संपूर्ण क्षेत्र ही पेयजल की समस्या से दो-चार हो रहा है। क्षेत्र के भोले-भाले ग्रामीण, टिल्लू पंप लगाने वालों से ऐसा न करने का आग्रह करने से भी कतराते दिखते हैं जिसके कारण, पेयजल व्यवस्था को प्रभावित करने वाले लोगों के हौसले बुलंदी पर दिख रहे हैं।

स्थानीय लोगों के द्वारा बनायी गयी कृत्रिम जल समस्या से जूझ रहे ग्राम पंचायत कटिया के वाशिंदों ने जिला प्रशासन से अपील की है कि उसके द्वारा इस क्षेत्र में पुलिस बल के साथ विशेष दल भेजा जाकर, टिल्लू पंप लगाने वालों की मोटरंे जप्त करवायी जायें ताकि लोगों को जल संकट से राहत मिल सके।